Atal hind
Uncategorized

मंत्री बनवारी लाल के राजनैतिक करियर की उल्टी गिनती  शुरू  ,आरएसएस व भाजपा वर्करों ने निकाला विरोध जुलूस 

मंत्री बनवारी को विधानसभा चुनाव हराने की लिखी जाने लगी पटकथा बावल में पुराने आरएसएस व भाजपा वर्करों ने निकाला विरोध जुलूस
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रोहतक रैली के बाद बढ़ा विरोध 
धनेश विद्यार्थी, रेवाड़ी। 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार के जनस्वास्थ्य मंत्री और बावल से भाजपा विधायक डा. बनवारी लाल के राजनैतिक करियर की उल्टी गिनती अब शुरू हो गई है। हरियाणा विधानसभा के अगले आम चुनाव के लिए अधिसूचना 27 सितंबर को जारी होने जा रही है और ऐसेपहले ही बावल में दो बार मंत्री का भाजपा वर्करों की ओर से विरोध जताने से साफ है कि मंत्री बनवारी लाल के लिए इस बार विधानसभा पहुंचने की राह आसान नहीं। आरोप तो यहां तक हैं कि मंत्री के पीएम धर्मवीर यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रोहतक रैली वाले दिन गढ़ी बोलनी मंडल की बसोंको रोहतक रैली में नहीं पहुंचने दिया। गंगायचा टोल प्लाजा पर कुछ बसों केशीशे पर लगेभाजपा के कमल निशान वाले पोस्टर फाड़ दिए। इसकी शिकायत जिलाध्यक्ष योगेंद्र पालीवाल, जिला महामंत्री प्रीतम चैहान के संज्ञान में लाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री मनोहर लाल, प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला, भाजपा के सह राज्य प्रभारी अनिल जैन तक को भेजी गई मगर परिणाम ढाक के तीन पात वाला रहा।
उधर सोमवार और बुधवार को कस्बा बावल में भाजपा के पक्ष में जबकि मंत्री बनवारी लाल के विरोध में भाजपा वर्करों ने विरोध जुलूस निकालकर अपनी मंशा साफ कर दी कि अब बनवारी लाल की खैर नही। उधर मंत्री बनवारी लाल मासूम बच्चे की तरह कह रहे हैं कि उनको इस बारे में कुछ नहीं पता। अहीरवाल की राजनीति के जानकारों का मानना है कि मंत्री बनवारी जानबूझकर खुद को समझदार और जनता को मूर्ख समझने की बड़ी सियासी भूल कर रहे हैं। सरेबाजार उनके खिलाफ बावल शहर में विरोध प्रदर्शन होता है मगर मंत्री महोदय को इसकी खबर तक नहीं, ऐसा कैसे हो सकता है। उधर इस मामले में सबसे पहले अपनी आवाज मुखर करने वाले पुराने भाजपाई सुन्दर लाल बिठवाना का कहना है कि रोहतक रैली में बस लेजाने के मामले में सबसे पहले उनके समर्थकोंके साथ मंत्री बनवारी के पीए नेकहासुनी की। बसोंपर लगे पोस्टर फाड़ दिए। इस मामले में पार्टीसे एफआईआर दर्ज कराने की गुजारिश भी की गई थी मगर परिणाम शून्य रहा। उनका कहना है कि उनकी ओर से भाजपा हाईकमान से मंत्री बनवारी के खिलाफ सिर उठाकर विधानसभा चुनाव के लिए टिकट मांगने की वजह से प्रधानमंत्री की रोहतक रैली में जाते वक्त भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ बदसलूकी की गई। ऐसे में मंत्री बनवारी नेभाजपा वर्करों का विश्वास और विधानसभा जाने के लिए भाजपा टिकट पर अपना हक खो दिया है।


उधर इस मामले पर बावल क्षेत्र से विस टिकट की एक अन्य दावेदार भाजपा नेता कुमारी गीता का कहना है कि मंत्री बनवारी के मन में घमंड आ गया है और वे भाजपा वर्करों की अनदेखी कर रहे हैं। पहले वे भी ऐसा नहीं मानती थी मगर अब दो बार भाजपा वर्करों की ओर से विरोध प्रदर्शन करने के साथ यह बात सच साबित हुई है। भाजपा हाईकमान किसेबावल विस क्षेत्र से अपनी टिकट देता है, यह तो आने वाला वक्त बताएगा मगर मंत्री बनवारी का विरोध क्या गुल खिलाएगा, यह विधानसभा चुनाव के परिणाम पर जरूर प्रभाव डालेगा।
उधर इस मामले पर भाजपा की जिला इकाई में मीडिया प्रभारी सूबेसिंह यादव, सुशीला चैहान, सिंहराम महलावत आदि के अनुसार मंत्री बनवारी लाल पुराने भाजपा और आरएसएस वर्करों की अनदेखी कर रहे हैं। भाजपा के खोल मंडल, गढ़ी बोलनी मंडल और बावल मंडल के पदाधिकारियों ने अब मंत्री के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अब देखना यह है कि भाजपा से बैर नहीं और बनवारी तेरी खैर नहींके बैनरोंका आगामी विधानसभा चुनाव में क्या असर नजर आता है।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Leave a Comment

URL