Atal hind
हरियाणा

मस्ताना राइस मिल (Kaithal)में लेबर ठेकेदार और चौकीदारों के बीच हुआ झगड़ा

मस्ताना राइस मिल में लेबर ठेकेदार और चौकीदारों के बीच हुआ झगड़ा

झगड़े के चलते गेहूं उतरवाने में हुई देरी के कारण सड़कों पर लगा काफी लंबा जाम

 

Fight between labor contractor and Chowkidar in Mastana Rice Mill

Due to the quarrel, there was a long jam on the roads due to the delay in getting the wheat off.

कैथल, 08 मई (कृष्ण प्रजापति): गेहूं उठान को लेकर जहां चौकीदारों को काफी दिक्कतें आ रही हैं तो वहीं ट्रक ड्राइवरों को भी समस्या कम नहीं है। आज मस्ताना राइस मिल में काम कर रहे कर्मचारियों के बीच गेहूं उतरवाने को लेकर झगड़ा हुआ जिसमें चौकीदार कर्मचारी शिवकुमार के साथ मारपीट करने और उसे जान से मारने की धमकी देने के आरोप ठेकेदार लेबर ठेकेदार रमेश पर कई चौकीदारों ने लगाए गए हैं।

 

 

 

जानकारी के मुताबिक सुबह करीब 9 बजे फूड सप्लाई विभाग की तरफ से मस्ताना राइस मील में गेहूं उतरवाने का कार्य चल रहा था कि अचानक कर्मचारियों में किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई और आरोप है कि कर्मचारी चौकीदार शिवकुमार को परखी से रमेश कुमार नामक ठेकेदार ने वार किया जिस पर मामला इतना बढ़ गया कि दोनों पक्षों के लोग लड़कर डीएफएससी ऑफिस पहुंच गए।

 

 

गेहूं न उतरने के कारण कैथल-ढांड रोड़ पर दोनो तरफ ट्रकों की कई कई किलोमीटर तक लंबी लंबी लाइनें लग गई। उधर ट्रक ड्राइवरों ने कहा कि अंदर की लड़ाई में नुकसान ट्रक ड्राइवरों का हो रहा है। वे पिछले 3 दिन से सड़कों पर खड़े हैं, ना तो रोटी-पानी का कोई इंतजाम है और ना ही गेहूं उतरवाने को लेकर किसी भी प्रकार की व्यवस्था है। ड्राइवरों ने बताया कि सड़क पर वाहनों की लंबी लंबी लाइन लगी हुई है और सरकार-प्रशासन का कोई भी अधिकारी या कर्मचारी आकर भी नहीं देख रहा।

 

 

 

उन्होंने कहा कि गेहूं उठान को लेकर न तो सरकार गंभीर है और ना प्रशासन गंभीर है। वहीं लेबर ठेकेदारों पर आरोप लगाते हुए कर्मचारी चौकीदारों ने बताया कि कैथल जिले में चौकीदारों का शोषण किया जा रहा है, उनको दबाने का प्रयास किया जा रहा है, बार बार चोटिल किया गया। चौकीदारों ने बताया कि जहां बारिश के कारण गेहूं में मॉस्चराइजर बढ़ रहा है, जिस ट्रक में या कट्टे में मोस्चर अधिक मिलता है उसको वापस भेजा जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि लेबर ठेकेदार ड्राइवरों से मिलीभगत करके और रिश्वत लेकर माल उतरवाने में जल्दबाजी करते हैं। चौकीदारों ने आरोप लगाते हुए कहा कि उनका शोषण अधिकारियों की मिलीभगत से हो रहा है।

 

 

ड्राइवरों के आरोप हैं कि चौकीदारों व लेबर वालो की लड़ाई में ड्राइवर पिस रहे हैं। ड्राइवरों का कहना है कि आजकल 1 दिन में दो चार गाड़ी की गेहूं खरीदी जा रही है, डेढ़ सौ से 200 गाड़ी सड़कों पर खड़ी रहती हैं। उन्होंने कहा कि अंदर हुए झगड़े के कारण ट्रक चालक परेशान हैं। उधर राइस मील में जेआर फूड के संचालक कृष्ण तायल ने कहा कि हमारा कोई झगड़ा नहीं है, जो भी झगड़ा हुआ है वह लेबर ठेकेदार और चौकीदारों के बीच हुआ है। उधर इस बारे में फूड एवं सप्लाई विभाग के अधिकारियों से बार-बार संपर्क किया गया लेकिन किसी भी अधिकारी से संपर्क नहीं हो पाया।

Related posts

मजदूरी करने को हुई मजबूर !देश को गोल्ड मेडल जीताने वाली

admin

गगन बंसल बने उद्योग व्यापार मंडल हरियाणा के कैथल युवा जिला अध्यक्ष

admin

कोण कहता है हरियाणा में घोटाले नहीं होते -ये पढ़िए -विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने खुद पकड़े 

admin

Leave a Comment