Atal hind
राष्ट्रीय

मिनी बैंक कुराड पैक्स खाद घोटाले में विक्रेता पर डाली 11 लाख 12 हजार रुपए की रिकवरी

मिनी बैंक कुराड पैक्स खाद घोटाले में विक्रेता पर डाली 11 लाख 12 हजार रुपए की रिकवरी
विक्रेता ने जीएम पर उच्च अधिकारियों को बचाने व तीन अधिकारियों से सांठगांठ करने के आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री को भेजी शिकायत
सहायक रजिस्ट्रार द्वारा जांच के बाद 26 अगस्त को एसडीएम 4 अधिकारियों व कर्मचारियों को दिया गया था दोषी करार
कलायत (अटल हिन्द/तरसेम सिंह )

मिनी बैंक कुराड पैक्स में किसानों के साथ हुए लाखों रुपए के खाद घोटाले में जीएम कैथल सहकारी बैंक द्वारा पूरी रिकवरी निलंबित विक्रेता वीरेंद्र कुमार से वसूलने के आदेश दिए गए हैं  बैंक घोटाले की पूरी रिकवरी डाले जाने से नाराज विक्रेता वीरेंद्र कुमार ने जीएम सहकारी बैंक पर उच्च अधिकारियों को बचाने व पक्षपात करने का आरोप लगाते हुए  सीएम विंडो पर प्रदेश मुख्यमंत्री को  लिखित शिकायत प्रेषित की है  विक्रेता वीरेंद्र कुमार ने  शिकायत में बताया की करीब 3 माह पूर्व किसानों के साथ लाखों रुपए के बैंक घोटाले का मामला उजागर होने के बाद तत्कालीन एसडीएम विवेक चौधरी द्वारा पूरे मामले की जांच के निर्देश दिए गए थे 25 अगस्त को सहायक रजिस्ट्रार जितेंद्र कौशिक द्वारा एसडीएम को भेजे गए पत्र क्रमांक 3114 में जांच टीम द्वारा की गई जांच रिपोर्ट में कुराड पैक्स के तत्कालीन4अधिकारी व कर्मचारियों  को दोषी बनाया गया था जिसमें दो प्रबंधक लिपिक व विक्रेता घोटाले में संलिप्तता दर्शाई गई थी  पत्र में चारों के खिलाफ टैक्स सर्विस रूल 2014 में संशोधन 2017 अनुसार मामला दर्ज कर 11 लाख 12 हजार रुपए चारों से रिकवरी के भी आदेश दिए गए थे। लेकिन जीएम सहकारिता बैंक कैथल व द्वारा पक्षपात करते हुए तीनों अधिकारियों से मिलीभगत कर पूरी की पूरी रिकवरी  विक्रेता वीरेंद्र कुमार पर दर्शाई गई है उन्होंने रिकवरी पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब जांच में चारों अधिकारी कर्मचारी दोषी ठहराए गए थे तो रिकवरी उनके अकेले पर क्यों डाली गई है उन्होंने प्रदेश मुख्यमंत्री से उक्त मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है।

गठित कमेटी की जांच में चारों को दिया गया था दोषी करार
किसानों द्वारा खाद घोटाले की शिकायत किए जाने के के बाद एसडीएम विवेक चौधरी के निर्देश पर सहायक रजिस्ट्रार सहकारी समिति कैथल द्वारा जांच टीम बनाई गई थी जिसमें संजीव कुमार निरीक्षक सहकारी समिति, दिनेश कुमार उप निरीक्षक सहकारी समिति कलायत, प्रेम कुमार उप निरीक्षक सहकारी समिति कैथल, वह सुभाष चंद्र शाखा प्रबंधक को ऑपरेटिव बैंक कलायत को जांच का जिम्मा सौंपा गया था जांच टीम द्वारा दी कुरान प्राइमरी एग्रीकल्चर कोऑपरेटिव सोसाइटी के दो कर्मचारी विक्रेता, कैशियर व दी कैथल सहकारी बैंक लिमिटेड के  पैक्स प्रबंधक व शाखा प्रबंधक  को दोषी ठहराया गया था जिसकी रिपोर्ट सहायक रजिस्ट्रार जितेंद्र कौशिक द्वारा 26अगस्त को एसडीम कलायत को प्रेषित की गई थी
जांच अभी जारी, विक्रेता पर दर्शाई गई है रिकवरी
जीएम रणवीर बेनीवाल ने विक्रेता वीरेंद्र कुमार के सभी आरोपों को निराधार बताते हुए बताया कि खाद घोटाले में 56 किसानों द्वारा एस डी एम कलायत को शिकायत दी गई थी एसडीएम कलायत  द्वारा सहायक रजिस्ट्रार को जांच टीम गठित कर जांच करने के निर्देश दिए गए थे जांच टीम द्वारा विक्रेता वीरेंद्र कुमार को को गबन का दोषी ठहराया गया था जबकि अन्य तीन अधिकारियों द्वारा लापरवाही बरती गई थी इसलिए रिकवरी वीरेंद्र कुमार विक्रेता से दर्शाई गई है अभी जांच जारी है एसडीएम साहब को पूरी रिपोर्ट भेज दी गई है उनको ही फैसला लेना है कि  रिकवरी किस-किस से कि जाएगी ।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

faridabad-पत्रकार राजेश नागर के भतीजे का अचानक निधन

उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने संभाला पदभार सीएम को लड्डू खिलाकर करवाया मुंह मीठा

अर्णव के दो आगे अर्णव, अर्णव के पीछे दो अर्णव,बोलो कितने अर्णव

admin

Leave a Comment

URL