Atal hind
टॉप न्यूज़ राजनीति सोनीपत हरियाणा

म्हारी भाजपा की खीर भी चाख के देख ल्यो बरोदा आलयो

म्हारी भाजपा की खीर भी चाख के देख ल्यो बरोदा आलयो

भाजपा को मौका दे,यहां की तस्वीर बदल देंगे- दलाल*

*किसानों की वास्तविक हितैषी भाजपा सरकार*

*विधेयक कृषि में सरकार का क्रांतिकारी कदम*

गोहाना(अटल हिन्द संवाददाता )

प्रदेश के कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के मंत्री जयप्रकाश दलाल ने कहा कि पूर्व की सरकारों ने किसानों की आंखों में केवल धूल झोंकने का काम किया है और किसानों को बरगलाकर उनके वोट हासिल किए हैं,जबकि किसानों की वास्तविक हितैषी भाजपा सरकार है। प्रदेश सरकार बरोदा में जहां आइएमटी (इंडस्ट्रियल माडल टाउनशिप) स्थापित करेगी, वहीं हैफेड की राइस मिल स्थापित करने का निर्णय लिया गया है।

इन दोनों प्रोजेक्ट के लिए सरकार ने सैद्धांतिक मंजूरी प्रदान कर दी है। वहीं,जनता कॉलेज को अपग्रेड कर विश्वविद्यालय बनाया जाएगा। दलाल ने कहा कि केंद्र और राज्य में इस समय बीजेपी की ईमानदार सरकार है। यदि बरोदा हल्के की जनता अपनी सूझबूझ से बीजेपी के उम्मीदवार को यहां मौका देती है तो निश्चित रूप से इस क्षेत्र के पिछड़ेपन का धब्बा हमेशा-हमेशा के लिए मिट जाएगा। जयप्रकाश दलाल ने कहा कि लोकतंत्र में असली मालिक जनता होती है।

जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों को जनकल्याण में जुटे रहना चाहिए। भाजपा सरकार जनहित को ही प्राथमिकता देती आई है। उन्होंने कहा कि बरोदा उपचुनाव में हल्के के लोगों को सोच समझ कर अपने मत का प्रयोग करना होगा। बरोदा की जनता को विपक्षी पार्टियों के जुमलों में फंसने से बचना होगा। दलाल ने बरोदा के लोगों से अपील की कि एक बार भाजपा को मौका देकर देखें, यहां की तस्वीर बदल दी जाएगी। दलाल ने यह बात गांव बरोदा,बनवासा व धनाना में ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कही। मंच पर सोनीपत से सांसद रमेश कौशिक,राई से विधायक व जिलाध्यक्ष मोहन लाल कौशिक,शमशेर खरकड़ा, ओम प्रकाश शर्मा व रणधीर लाठवाल मौजूद रहे।

दलाल ने कहा कि तीनों अध्यादेश लागू होने पर प्रदेश का किसान और अधिक खुशहाल व उन्नत होगा। किसान अपनी मर्जी से अपनी फसल बेच सकेगा। किसान पर किसी प्रकार की कोई पाबंदी नहीं होगी, लेकिन विपक्ष किसानों को बहकाने का काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश व केंद्र की भाजपा सरकार समय-समय पर किसानों के हित की नीतियां व योजनाएं लागू कर रहीं हैं, यह सब विपक्ष को रास नहीं आ रहा है।

उन्होंने कहा है कि अध्यादेशों में किसानों को अपनी फसल बिक्री के लिए छूट दी गई है और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) कम नहीं होगा। उन्होंने कहा कि अनुबंध खेती में ई- रजिस्ट्री में सारा लेखा-जोखा होगा। अनुबंध करने वाला व्यवसायी अपनी शर्तों से भाग नहीं सकेगा। कोई भी व्यवसायी अनुबंध खेती की आड़ में किसानों की जमीन नहीं ले सकेगा। कोई भी व्यवसायी एक बार अधिक धन देकर उसके चुकाने की एवज में किसानों से बंधुआ खेती भी नहीं करा सकेगा।

इतना ही नहीं कोई व्यवसायी खेत में यदि ट्यूबवेल व पोली हाउस जैसा ढांचा खड़ा कराता है और यदि वह अनुबंध के बाद निश्चित समय के भीतर उसे नहीं हटाता है, तो किसान उसका मालिक बन जाएगा। मंत्री ने कहा कि इसके अलावा किसानों को नवीनतम खेती की जानकारी मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि नए विधेयक कृषि क्षेत्र में केंद्र सरकार का क्रांतिकारी कदम है।

देश के किसान के लिए उत्पाद बेचने को अन्य विकल्पों का प्रावधान किया है,जो वास्तव में किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करने का काम करेगा। देश का किसान सब देख रहा है और यह भलीभांति समझता है कि कौन किसान हितैषी है और कौन नहीं। आज किसान हितैषी होने का स्वांग रचने वाली कांग्रेस ने हमेशा बिचौलियों का साथ दिया और यह बिचौलियों की ही पार्टी बन कर रह गई। पूंजीपति किसान का शोषण करता था, इन विधेयकों से किसानों को उस शोषण से मुक्ति मिलेगी। विधेयक लागू होने के बाद किसान की किस्मत बदलने वाली है।

 

 

*म्हारी खीर भी चाख के देख ल्यो बरोदा आलयो*
बनवासा में लोगों को संबोधित करते हुए कृषि मंत्री जेपी दलाल ने मजाकिया अंदाज में लोगों से कहा कि थमनै आज तक एक बार भी भाजपा आल्या की खीर नहीं खाई है, थम एक बारी म्हारी खीर खा कै तो देखो जै ना पसंद आवे तो 4 साल पाच्छै फैंक दियो।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

24 गांवों को भी शीघ्र मिलेगी  24 घंटे बिजली ,268 गांवों में पहले ही जारी है सुविधा -कैथल डीसी

admin

जो किसान का नही वो किसी काम का नही – सुरजेवाला

admin

सरपँच ने खुद के घर बेटी पैदा होने पर जताई खुशी ताकि ग्रामीण लें सके प्रेरणा

admin

Leave a Comment

URL