Atal hind
टॉप न्यूज़ भिवानी हरियाणा

राज्य सूचना आयोग ने आरटीआई की सूचना पर कुंडली जमाने वाले शिक्षा अधिकारियों पर ठोका 25-25 हजार रुपये का जुर्माना

राज्य सूचना आयोग ने आरटीआई की सूचना पर कुंडली जमाने वाले शिक्षा अधिकारियों पर ठोका 25-25 हजार रुपये का जुर्माना

 

State Information Commission slaps fine of Rs 25 thousand on education officials who make horoscope on RTI notice

BHIWANI NEWS(ATAL HIND), 06 अप्रैल। हरियाणा राज्य सूचना आयोग ने आरटीआई की सूचना पर कुंडली जमाने वाले शिक्षा अधिकारियों पर 25-25 हजार रुपये (कुल 50 हजार) का जुर्माना ठोका है। जुर्माना राशि सभी शिक्षा अधिकारियों के वेतन से काटे जाने और 25 अप्रैल तक सूचना उपलब्ध कराए जाने के भी आदेश दिए हैं। स्वास्थ्य शिक्षा सहयोग संगठन के प्रदेश अध्यक्ष बृजपाल सिंह परमार ने हरियाणा स्कूली शिक्षा निदेशालय से 22 अक्तूबर 2019 को भिवानी के 32 निजी स्कूलों में निर्धारित पाठ्यक्रम से बाहर प्राइवेट प्रकाशकों की पुस्तकें लगाए जाने के मामले में की गई कार्रवाई की आरटीआई से जानकारी मांगी थी। इस मामले में जिला शिक्षा अधिकारी भिवानी ने निजी स्कूलों के निरीक्षण में निर्धारित पाठ्यक्रम से बाहर की पुस्तकें लगाने व निर्धारित वजन से अधिक बस्ते का बोझ में दोषी पाया था, जिसकी रिपोर्ट भी निदेशालय भेजी गई थी। मगर इसके बावजूद इन स्कूलों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।इसी संबंध में बृजपाल सिंह परमार ने सेकेंडरी शिक्षा निदेशालय से आरटीआई में सूचना मांगी थी। मगर निर्धारित अवधि में कोई जवाब नहीं मिला। मामले की प्रथम अपील भी की, बाद में मामला 22 फरवरी 2020 को राज्य सूचना आयोग के समक्ष पहुंचा। राज्य सूचना आयोग ने दो से तीन बार इस संबंध में संबंधित अधिकारियों को नोटिस दिया, मगर कोई जवाब नहीं मिला। इसी मामले में सूचना नहीं देने पर राज्य सूचना आयोग ने सेकेंडरी शिक्षा निदेशालय में डिप्टी डायरेक्टर इंद्रा बैनीवाल, सुपरीडेंट सुखदेव व सहायक सत्यनारायण पर 25 हजार रुपये का जुर्माना ठोका है।इसी बृजपाल सिंह परमार के भिवानी के एक निजी स्कूल में बच्चों की सुरक्षा के मामले को लेकर मांगी गई आरटीआई का जवाब नहीं देने पर भी उपरोक्त सभी पर 25 हजार रुपये जुर्माना ठोका है। सूचना आयोग ने आरटीआई कार्यकर्ता को 25 अप्रैल तक सूचना उपलब्ध करा आयोग को अवगत कराने के भी आदेश दिए हैं।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

सूर्यग्रहण पर भारी रहा कोरोना वायरस, न विज्ञान शालाओं में दर्शक आए और न पवित्र नदियों पर श्रद्धालु।

Sarvekash Aggarwal

भाजपाइयों को गांवों में घुसने मत दे : गुरनाम चढूनी

admin

वरिष्ठ कवि व पत्रकार दिलाराम भारद्वाज ‘दिल’ लिखते है एक रचना हिमाचल प्रदेश से

Dilaram Bhardwaj

Leave a Comment

URL