Atal hind
Uncategorized

रादौर-एक वर्ष बाद भी नहीं सुलझी सोनू यादव मामले की गुत्थी,पुलिस मामले को उलझा रही है

रादौर-एक वर्ष बाद भी नहीं सुलझी सोनू यादव मामले की गुत्थी
परिजनो का आरोप-सोनू को हत्या के इरादे से घायल कर सडक़ पर फेंका गया था जिस कारण उसकी मौत हुई, पुलिस मामले को उलझा रही है
अधिकारी बोले-जांच जारी है, जांच में जो सामने आएंगा उसी अनुसार कार्रवाई की जाएंगी
रादौर, 19 दिसंबर (रविन्द्र सैनी): करीब एक वर्ष पहले सडक़ पर घायल अवस्था में मिले दीपक कालोनी रादौर निवासी सोनू यादव की ईलाज के दौरान हुई मौत के मामले की गुत्थी को पुलिस अभी तक सुलझा नहीं पाई है। जिस कारण सोनू यादव के परिजनो रोष देखा जा रहा है। हालांकि मामले को लेकर गुरूवार को सोनू यादव के परिजनो को डीएसपी रादौर कुशलपाल राणा ने बुलाया था लेकिन परिजन पुलिस द्वारा दिएं जा रहे तथ्यो से संतुष्ट नहीं हुएं और मामले में आगामी जांच करवाने की मांग की। सोनू यादव के परिजनो का कहना है कि पुलिस मामले को उलझा रही है जबकि यह साफ है कि सोनू की हत्या की गई है। जिसको लेकर वह सोनू की पत्नी व कुछ अन्य पर शक भी जाहिर कर चुके है। लेकिन पुलिस के हाथ करीब एक वर्ष बाद भी खाली है। ऐसे में अब उनकी मांग है कि यह मामला पुलिस से लेकर सीबीआई या क्राईम ब्रांच को सौंपा जाएं।
मृतक सोनू यादव के पिता राजकुमार व मां विद्या देवी ने बताया कि गत 27 जनवरी की रात्रि को उनके बेटा सोनू यादव एस.के मार्ग पर घायल अवस्था में मिला था। जिसके बाद जब उन्हें सूचना मिली तो वह मौके पर पहुंचे और अपने बेटे को अस्पताल ले गएं। लेकिन हालत गंभीर होने के कारण उसे चंडीगढ़ रैफर किया गया था लेकिन हालत गंभीर होने के कारण उसकी मौत हो गई थी। सोनू की मौत के बाद उन्होनें पुलिस को बताया था कि उनके बेटे के साथ कोई दुर्घटना नहीं घटी है बल्कि उसकी हत्या की गई है। जिसमें उन्हें सोनू की पत्नी व कुछ अन्य लोगो पर शक है। अगर पुलिस उचित ढंग से पूछताछ करे तो मामला सुलझ सकता है। लेकिन करीब एक वर्ष का समय बीत जाने के बाद भी आज तक उनके मामले का खुलासा नहीं हो पाया है। जबकि उन्हें पूरा यकीन है कि उनके बेटे की हत्या की गई है क्योंकि हत्या से कुछ दिन पहले से ही सोनू उनकी हत्या करवाने की बाते उनके साथ करता था। जिनका वह नाम लेता था वह इस बारे पुलिस को बता चुके है। लेकिन पुलिस मामले को सुलझाने की बजाएं उलझाने में लगी हुई है। मामला सीआईए तक भी पहुंच चुका है लेकिन जांच के नाम पर केवल खानापूर्ति हो रही है। इसी कारण उन्हें न्याय नहीं मिल पा रहा है। अब उनका पुलिस की जांच से भी पूरी तरह से मन उठ चुका है। इसलिएं अब प्रशासन को इस मामले की जांच पुलिस से न करवाकर क्राईम बं्राच या फिर सीबीआई से करवानी चाहिएं। तभी इस मामले का खुलासा हो सकेगा।
बॉक्स
उक्त मामले में अभी जांच जारी है। मामला अभी सीआईए के पास विचाराधीन है। जांच को लेकर ही आज सोनू यादव के परिजनो को बुलाया गया था। लेकिन वह इसमें अभी और जांच करवाना चाहते है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगें उसी अनुसार आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएंगी।
कुशलपाल राणा, डीएसपी रादौर

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Leave a Comment

URL