Atal hind
Uncategorized

रोडवेज कर्मचारियों ने किलोमीटर स्कीम रद्द कर दोषी अधिकारियों के खिलाफ विजिलेंस जांच की मांग

रोडवेज कर्मचारियों ने किलोमीटर स्कीम रद्द कर दोषी अधिकारियों के खिलाफ विजिलेंस जांच की मांग
सरकार से 26 को विधानसभा सत्र में रोडवेज में नई गाडियों के प्रबंधन सहित अन्य मांगों को लागू करने की अपील

रोहतक। रोडवेज कर्मचारी यूनियन ने किलोमीटर स्कीम रद्द कर दोषी अधिकारियों के खिलाफ विजिलेंस से जांच कराने की मांग की। साथ ही सरकार से 26 नवंबर को विधानसभा सत्र मे रोडवेज बेडे में नई बसे शामिल करने की भी मांग की।
रोडवेज कर्मचारी यूनियन हरियाणा संबंधित हरियाणा कर्मचारी महासंघ की प्रदेश स्तरीय बैठक यूनियन मुख्यालय में प्रदेश अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह धनखड़ की अध्यक्षता में हुई। बैठक में यूनियन के लगभग 250 प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। सर्वप्रथम लोकसभा व राज्यसभा के पूर्व सांसद तथा एटक के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव कामरेड गुरूदासदास गुप्ता को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी।
इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह धनखड़ ने राज्य सरकार से जनता की बढ़ती आबादी के मध्यनजर रोडवेज बेडे में सरकारी बसों की संख्या बढ़ाने की मांग की ताकि जनता को सुरक्षात्मक दृष्टि से बढिय़ा सेवा मिल सके। साथ ही हजारो बेरोजगारों को स्थाई रोजगार भी उपलब्ध हो सके। उन्होंने किलोमीटर स्कीम को रद्द करने की मांग करते हुए दोषि अधिकारियों के खिलाफ विजिलेंस से जांच करवाने की भी मांग की।
उन्होंने कहा किरोडवेज विभाग में पुलिस विभाग की भांति आवासीय कालोनी बनाने, कर्मशाला स्टाफ की पक्की करने करने, 1992 से 2002 के चालक व परिचालको को नियुक्ति तिथि से पक्का करने, परिचालक का पे ग्रेड बढाने, चालको को डीटीसी व हिमाचल की तर्ज पर पदोन्नति देने, गुरूग्राम डिपो में बसों की संख्या बढ़ाने, विभागीय नियम बनाने, राज्य में चल रहे अवैध वाहनो पर रोक लगाने, जोखिम भता देने, एक माह के वेतन के बराबर बोनस की नीति को लागू करने, न्यायालय से निर्दोष होने पर विभाग से भी दोषमुक्त करने, लम्बी दूरी की बसो को सुरक्षा प्रदान करने की मांग की।
इस अवसर पर वरिष्ठ उपाध्यक्ष ओमप्रकाश ग्रेवाल, चेयरमैन सुरेन्द्र मलिक, कोषाध्यक्ष मंजीत पहल, पहल सिंह तंवर, महावीर सिंह, मनोज कुण्डु, दीपक बल्हारा, फुलकुमार कम्बोज, उधम यादव, जोगेन्द्र बल्हारा व मनीष पोलंगी ने अपने विचार रखे।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Leave a Comment

URL