AtalHind
टॉप न्यूज़मध्य प्रदेश

लड़कियों की तरह मेकअप करना 10वीं के छात्र के लिए मौत का सबब बना

किसी ने Barbie Girl कहा तो किसी ने Gay…

 

लड़कियों की तरह मेकअप करना 10वीं के छात्र के लिए मौत का सबब बना

10th Class Student Commits Suicide: उज्जैन पब्लिक स्कूल में पढ़ने वाले एक दसवीं के छात्र के आत्महत्या की खबर ने सभी को चौंका दिया, जिसकी पीछे की वजह बना सोशल मीडिया, जो यूजर्स उसको मेकअप के लिए ट्रोल किया करते थे।

10th Class Student Commits Suicide: उज्जैन – आज के समय में कोई भी शख्स सोशल मीडिया से अछूता नहीं है। सोशल मीडिया जितनी तेजी से मनोरंजन का साधन बनता जा रहा है उतनी ही तेजी से लोगों के लिए मानसिक और शारीरिक तौर से घातक भी होता जा रहा है। सोशल मीडिया पर कई प्लेटफॉर्म ऐसे हैं जहां लोग अपना हुनर दिखाते हैं और लोगों से वाहवाही बटोरते हैं, लेकिन उन्हीं लोगों में से कुछ ऐसे भी होते हैं जो उनके हुनर का मजाक उड़ाते हैं और उनको इस हद तक मजबूर कर देते हैं वो गलत कदम उठाते हैं, बिना अपने माता-पिता की परवाह किए।

उन चंद लोगों के ट्रोलेंस के आगे वो उन लोगों को भूल जाते हैं जिन्होंने उन्हे बचपन से पाल पोस कर बड़ा किया। ऐसी ही एक घटना मध्य प्रदेश के उज्जैन के नागझिरी थाना क्षेत्र से आई, जहां एक उज्जैन पब्लिक स्कूल में पढ़ने वाले एक दसवीं के छात्र ने ट्रोल्स से परेशान आकर आत्महत्या कर ली। जानकारी के मुताबिक, आत्महत्या करने वाले छात्र का नाम प्रियांशु है, जो 16 साल का था।

पुलिस की जांच में सामने आई वजह
प्रियांशु के आत्महत्या की खबर पुलिस को दी गई, जिसके बाद जांच शुरू हुई और उसमें सामने आया कि 10वीं के इस छात्र की कला ही उसके लिए जान की दुश्मन बन गई। पुलिस ने जांच के बाद बताया कि प्रियांशु इंस्टाग्राम पर रील्स बनाया करता था। उसके काफी बड़ी संख्या में फॉलोअर भी थे, लेकिन पिछले कुछ समय से यूजर्स उसको इस वजह से ट्रोल कर रहे थे क्योंकि वो लड़की की तरह मेकअप किया करता था और लड़की बनकर रील्स बनाया करता था। यूजर्स ने उसकी वीडियो पर भद्दे कमेंट्स करने शुरू कर दिए थे। कोई उसको Barbie Girl तो कोई Gay तक कहने लगा था।

प्रियांशु ने क्यों की आत्महत्या?
16 साल का प्रियांशु अपने माता-पिता के साथ देवास रोड स्थित डिवाइन सिटी में रहा करता था। उसको लड़कियों की तरह मेकअप करने का शौक था और वो मेकअप के साथ-साथ सोशल मीडिया पर रील्स शेयर किया करता था। जहां कुछ लोग उसकी इस कला का सम्मान करते थे और उसकी खूब तारीफ किया करते थे, तो कुछ यूजर्स उसको जमकर ट्रोल भी किया करते थे। ट्रोल्स प्रियांशु पर इस कदर हावी हो गए कि उसने उनसे बचने के लिए आत्महत्या का सहारा लेना ही ठीक समझा। प्रियांशु के पिता राजेंद्र यादव ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि बेटे ने बुधवार की शाम फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

Advertisement

Related posts

हरियाणा में ‘गोरख धंधा’ शब्द के प्रयोग पर प्रतिबंध,मुख्यमंत्री ने दिया आदेश

admin

लोकसभा चुनाव में जीत की हैट्रिक के लिए अयोध्या और हिन्दुत्व फिर से बीजेपी के एजेंडे में

editor

DAP के लिए अपराधियों की तरह हुई किसानों की वैरिफिकेशन

admin

Leave a Comment

URL