लॉकडाउन के कारण गरीब व मजदूर वर्ग के लोगों के सामने रोटी का भी संकट खड़ा हो गया : अशोक ङ्क्षसगला

बाबैन, 3 अप्रैल (सुरेश अरोड़ा) : कोरोना वायरस से पैदा हुए संकट के समय में बाबैन व आसपास के गांवों में जरुरतमंद परिवारों को कच्चा राशन देने व पिपली-कुरुक्षेत्र में प्रतिदिन 800-900 लोगों को भोजन उपलब्ध करवा कर सहयोग फाउंडेशन एक रचनात्कम कार्य कर रही है। सहयोग फाउंडेशन के प्रधान अशोक ङ्क्षसघल, अखिल भारतीय राजीव गांधी बिग्रेड़ के जिलाध्यक्ष साहिल ङ्क्षसगला, गौरव बंसल, मिथुन समाना, सौरव सिरसमा, मनीष अरोड़ा, ङ्क्षरकू शर्मा, मंदीप गिल, गुलशन शर्मा, गुरुमख ङ्क्षसह, सुरेंद्र ङ्क्षसह, गौरव कुंडू, ओनी धीमान की टीम बाबैन व आसपास के गांवों में जाकर जरुरतमंद मजदूरों व गरीब परिवारों को कच्चा राशन वितरित कर रहे है। टीम के सदस्य पिपली व कुरुक्षेत्र में प्रतिदिन 800-900 लोगों को भोजन उपलब्ध करवा कर प्रशासन का भरपूर सहयोग कर रहे है। सहयोग फाउंडेशन के प्रधान अशोक ङ्क्षसगला ने कहा कि कोरोना वायरस की आपदा के कारण देश में लागू किए गए लॉकडाउन के कारण गरीब व मजदूर वर्ग के लोगों के सामने रोटी का भी संकट खड़ा हो गया है। उन्होंने कहा कि संकट की इस घड़ी में सहयोग फाउंडेशन सदस्यों ने जरुरतमंद परिवारों को भोजन उपलब्ध करवाने का फैसला किया ताकि बाबैन, पिपली व कुरुक्षेत्र में किसी को भी भूखे पेट न सोना पड़े। उन्होंने कहा कि सहयोग फाउंडेशन के आह्वान पर लोगा खुले दिल से जरुरतमंद व्यक्ति की मदद में आगे आए जिनके सहयोग से लोगों को खाना उपलब्ध करवाया जा रहा है।
इस अवसर पर अखिल भारतीय राजीव गांधी बिग्रेड़ के जिलाध्यक्ष साहिल ङ्क्षसगला ने कहा कि सहयोग फाउंडेशन के सदस्य लोगों को न केवल भोजन उपलब्ध करवा रहे है बल्कि उन्हें सोशल डिस्टेंङ्क्षसग, मास्क व सैनिटाईजर के उपयोग के महत्व के बारे में भी जानकारी दे रहे है। उन्होंने लोगों को आह्वान किया कि वे जरुरतमंद व्यक्ति की सेवा के लिए आगे आए ताकि कोई भी अपने आप को असहाय महसूस न करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *