Atal hind
Uncategorized

लॉकडाउन से मजदूरी करके रोटी-रोजी चलाने वाले मजदूर परिवारों पर भारी मार पड़ी है : राजेंद्र ङ्क्षसह

बाबैन, 3 अप्रैल (सुरेश अरोड़ा) : पटाकमाजरा के प्राथमिक पाठशाला के मुख्यशिक्षक राजेंद्र ङ्क्षसह प्रतापगढ पर समाजसेवा का जनुन इस कदर सवार हो गया है कि वे कोरोना वायरस के चलते अपनी जेब से अब तक हजारों लोगों को भोजन, राशन, मास्क व सैनिटराईजर उपलब्ध करवा चुके है। राजेंद्र ङ्क्षसह अपने घर में हलवाई बिठाकर रैडक़्रास सोसायटी कुरुक्षेत्र द्वारा बताए गए जरुरतमंद लोगों को रात का भोजन भी उपलब्ध करवा रहे है। वे   दिन के समय अकेले ही अपनी कार से जरुरतमंद लोगों को कच्चा राशन भी वितरित कर रहे है। राजेंद्र ङ्क्षसह लॉकडाउन के समय चोंको पर तैनात पुलिस कर्मचारियों को भी चाय, सैनिटाईजर व मास्क उपलब्ध करवा रहे है। राजेंन्द्र ङ्क्षसह ने आज बाबैन व गुहण में बागडिय़ों की गाडिय़ों पर जाकर उनको, आटा, चावल, घी, आलू व अन्य खाद्य सामान वितरित किया। इस अवसर पर पत्रकारों से बातचीत में राजेंद्र ङ्क्षसह प्रतापगढ़ ने कहा कि कोरोना वायरस की आपदा के कारण हुए लॉकडाउन से मजदूरी करके रोटी-रोजी चलाने वाले मजदूर परिवारों पर भारी मार पड़ी है। उन्होंने कहा कि इस आपदा के कारण उनके दिल में ऐसा ख्याल आया कि क्यों न मुसिबत के समय में जरुरतमंद व्यक्तियों की किसी न किसी रुप में मदद की जाए। उन्होंने कहा कि अपने दिल के अंदर से उठी प्रेरणा के कारण ही वे अब तक हजारों लोगों भोजन, कच्चा राशन, सैनिटाईजर व मास्क उपलब्ध करवा चुके है ताकि कोई भी इस बुरे वक्त में किसी भी कारण से परेशान न हो। उन्होंने लोगों से भी आह्वान किया कि वे राष्ट्रीय आपदा के समय में जरुरतमंद व्यक्ति की सेवा के लिए आगे आए ताकि ऐसे समय में कोई भी व्यक्ति अपने आप को असहाय महसूस न करे।

Leave a Comment