लो और सुनो इस कथित स्वामी ने क्या कहा  पीरियड में महिला खाना बनाएगी तो अगला जन्म कुत्ते की योनि में होगा- स्वामी कृष्णस्वरूप

लो और सुनो इस कथित स्वामी ने क्या कहा

पीरियड में महिला खाना बनाएगी तो अगला जन्म कुत्ते की योनि में होगा- स्वामी कृष्णस्वरूप

नई दिल्ली(एजेंसी )महिलाओं में चलने वाले पीरियड को लेकर लोगों के मुंह से भिन्न-भिन्न प्रकार की बातें सुनने में आती हैं|महिलाओं के पीरियड से रिलेटेड लोग अनेक प्रकार की अवधारणाएं पाले बैठे हैं|वहीँ, इस बीच गुजरात के स्वामीनारायण भुज मंदिर के स्वामी कृष्णस्वरूप दासजी ने महिलाओं के पीरियड को लेकर अपने प्रवचन में कुछ बाते कहीं हैं|स्वामी कृष्णस्वरूप दासजी कहते हैं कि, अगर पीरियड के दौरान महिलाएं खाना बनाएंगी तो निश्चित तौर से उनका अगला जन्म कुत्ते के रूप में होगा|कृष्णस्वरूप कहते हैं- ये बात सुनकर आपको जैसा भी लगे, लेकिन शास्त्रों में ये नियम बनाए गए हैं|आपको लगेगा कि मैं बहुत कठोर हूं, औरतें ये सुनकर रो सकती हैं कि वे कुत्तों में बदल जाएंगी|लेकिन यह सत्य है कि आपको ऐसा बनना पड़ेगा|आगे कृष्णस्वरूप यह भी कहते हैं- ‘मैं नहीं जानता कि मुझे आपको यह सब बताना चाहिए या नहीं…10 सालों में ये पहली बार है जब मैं ये सलाह दे रहा हूं|संतों ने हमारे धर्म की गुप्त बातों के बारे में चर्चा नहीं करने की सलाह दी है लेकिन अगर मैं नहीं कहूंगा तो आप कभी नहीं समझेंगे|ये आपके हित में और उद्धार के लिए है|

पुरुषों को लेकर कृष्णस्वरूप ने कही ये बात……

बतादें कि, स्वामीनारायण भुज मंदिर का यूट्यूब पर अपना पेज है, जहां पर स्वामी कृष्णस्वरूप दासजी के कई वीडियो अपलोड किए गए हैं|ऐसे ही एक वीडियो में कृष्णस्वरूप कहते हैं कि यदि पुरुष पीरियड से गुजर रहीं महिलाओं के हाथ का बना खाना खाते हैं वे अगले जन्म में बैल बन जाते हैं|पुरुषों को शादी करने से पहले, खाना बनाना सीख लेना चाहिए ताकि आपकी पत्नी जब इस अवस्था से गुजरे तो आप स्वयं के हाथ से खाना बनाकर खा सकें|

इधर ध्यान दें……..

अभी हाल ही में इसी मंदिर के अनुयायी की ओर से चलाए जा रहे स्कूल के हॉस्टल में पिछले दिनों लड़कियों के अंडरवियर उतारे जाने का मामला सामने आया था|पीरियड की जांच के लिए लड़कियों को कपड़े और अंडरवियर उतारने को मजबूर किया गया था|करीब 68 लड़कियों के पीरियड जांच की गई थी|लड़कियों को जांच के लिए बाथरूम में ले जाया गया था|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *