AtalHind
राष्ट्रीय

लड़की प्राइवेट पार्ट में घुसेड़ी बोतल,महिला दोस्त सहित सभी आरोपी गिरफ्तार


लड़की प्राइवेट पार्ट में घुसेड़ी बोतल,महिला दोस्त सहित सभी आरोपी गिरफ्तार
लड़की प्राइवेट पार्ट में घुसेड़ी बोतल,महिला दोस्त सहित सभी आरोपी गिरफ्तारबेंगलुरु(एजेंसी )बेंगलुरु में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कुछ लोग एक 22 वर्षीय युवती से हैवानियत करते दिख रहे हैं. युवती को प्रताड़ित करने के बाद कथित तौर पर उसका गैंगरेप किया गया. आरोपियों ने पीड़िता के प्राइवेट पार्ट में बोतल डाल दी. घटना से लोग काफी आक्रोशित हैं. पुलिस (Bengaluru Police) ने इस मामले में 6 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें दो महिला हैं. पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है.
लड़की प्राइवेट पार्ट में घुसेड़ी बोतल,महिला दोस्त सहित सभी आरोपी गिरफ्तार

मिली जानकारी के अनुसार, घटना करीब 6 दिन पहले की है. बेंगलुरु पुलिस ने एक बयान जारी करते हुए बताया कि वीडियो क्लिप और आरोपियों से पूछताछ के दौरान पाए गए तथ्यों के आधार पर उनके खिलाफ रेप, मारपीट व अन्य संबधित धाराओं में केस दर्ज किया गया है.

पुलिस ने बताया कि अब तक मिली जानकारी के मुताबिक, माना जा रहा है कि वे सभी एक समूह के हैं और वे बांग्लादेश के नागरिक हैं. पीड़िता भी बांग्लादेशी बताई जा रही है. पीड़िता गरीब परिवार से है और आर्थिक तंगी के चलते वह मानव तस्करी कर बांग्लादेश से यहां लाई गई.

Advertisement

बेंगलुरु पुलिस ने बताया कि फिलहाल पीड़िता दूसरे राज्य में है और पुलिस की एक टीम उसे लाने के लिए गई है. युवती के आने पर मजिस्ट्रेट के समक्ष उसके बयान दर्ज किए जाएंगे.
लड़की प्राइवेट पार्ट में घुसेड़ी बोतल,महिला दोस्त सहित सभी आरोपी गिरफ्तार

महिला का गैंगरेप कर बनाया था वीडियो, रफीदुल समेत 4 बांग्लादेशी गिरफ्तार: प्राइवेट पार्ट में घुसा दी थी शराब की बोतलसोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें कुछ लोग एक महिला को प्रताड़ित करते हुए उसका गैंगरेप करते दिख रहे थे। कहा जा रहा था कि पीड़िता नॉर्थ-ईस्ट की है, लेकिन बेंगलुरु पुलिस ने बताया है कि वो बांग्लादेशी है। उसकी ट्रैफिकिंग (मानव तस्करी) कर के उसे भारत लाया गया था। पुलिस ने इस मामले में 6 आरोपितों को चिह्नित कर के उनमें से 4 को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है।लड़की प्राइवेट पार्ट में घुसेड़ी बोतल,महिला दोस्त सहित सभी आरोपी गिरफ्तारपुलिस पीड़िता को भी खोजने में लगी हुई है, ताकि वो भी जाँच प्रक्रिया का हिस्सा बन सके और अपना बयान दर्ज करा सके। बेंगलुरु सिटी के पुलिस कमिश्नर कमल कांत ने बताया कि शुरुआती जाँच के बाद बलात्कार और प्रताड़ना का मामला दर्ज कर लिया गया है। पीड़िता को खोजने के लिए पुलिस की एक अलग टीम बनाई गई है। अब तक मिली सूचनाओं के अनुसार, सभी आरोपित बांग्लादेशी माने जा रहे हैं और पुलिस ने आशंका जताई है कि ये किसी गैंग का हिस्सा हैं।

पीड़िता की वित्तीय समस्याओं के कारण उसे प्रताड़ित किया गया और और क्रूरता से उसका यौन शोषण किया गया। बेंगलुरु पुलिस ने आश्वासन दिया है कि पूरी तत्परता से वरिष्ठ अधिकारियों की निगरानी में जाँच आगे बढ़ाई जा रही है। राममूर्ति पुलिस थाने में इस मामले की FIR दर्ज की गई है। शुक्रवार (मई 28, 2021) को आरोपितों को अदालत में पेश किया जाएगा। पुलिस ने बताया कि 6 आरोपितों में 2 महिलाएँ हैं।

Advertisement

लड़की प्राइवेट पार्ट में घुसेड़ी बोतल,महिला दोस्त सहित सभी आरोपी गिरफ्तार

बेंगलुरु सिटी पुलिस ने जारी किया बयानये घटना बेंगलुरु के ही एक NRI कॉलोनी में हुई है। आरोपितों में से एक रफीदुल इस्लाम TikTok पर भी सक्रिय है और वहाँ उसके अच्छे-खासे फॉलोवर्स हैं। ये घटना लगभग एक सप्ताह पूर्व की है। सभी आरोपित वेश्यावृत्ति के धंधे में लिप्त थे। पीड़िता को इस तरह से प्रताड़ित किए जाने के पीछे व्यक्तिगत दुश्मनी को भी कारण बताया जा रहा है। आरोपितों से पूछताछ के बाद मानव तस्करी के एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश हो सकता है।बता दें कि वायरल वीडियो में इस वीडियो में आरोपितों को अपनी करतूतों को वीडियो कॉल पर अन्य परिचितों को दिखाते हुए भी देखा जा सकता था। वीडियो रिकॉर्ड करते समय आरोपितों ने पीड़िता के प्राइवेट पार्ट में एक शराब की बोतल भी घुसा दी थी। वीडियो में पीड़िता चिल्लाती है, “कृपया मेरे साथ ऐसा मत करो, वीडियो रिकॉर्ड मत करो।” इसके बाद आरोपितों में से एक ने पीड़िता के मुँह मर कपड़ा ठूँस कर इसे बंद कर दिया। असम पुलिस पाँचों आरोपितों की तस्वीरें जारी की थी।

Share this story

Advertisement
Advertisement

Related posts

निशाने पर थे कई भारतीय पत्रकार ,फॉरेंसिक टेस्ट में हुई पेगासस द्वारा जासूसी की पुष्टि

admin

किसान आंदोलन की खबर चलाने पर यूट्यूब चैनल बंद करने को लेकर भारत सरकार के इलैक्ट्रोनिक और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय व गूगल को नोटिस*: सुप्रीम कोर्ट ऐडवोकेट प्रदीप रापड़िया ने भेजा नोटिस!

atalhind

भारत की राज्यसभा में बैठते है  अपराधी ,31 प्रतिशत सांसदों के ख़िलाफ़ दर्ज हैं आपराधिक मामले: रिपोर्ट

atalhind

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL