Atal hind
हिमाचल प्रदेश

वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर को सौंपे लाखों के चेक

manali (दिलाराम भारद्वाज ब्यूरो )      कोरोना महामारी के संकट से निपटने तथा जरुरतमंद लोगों की त्वरित मदद के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार लगातार सराहनीय कार्य कर रही है। इसके लिए राष्ट्रीय स्तर पर पीएम केयर्स फंड और राज्य स्तर पर एचपी एसडीएमए कोविड-19 एसडीआर फंड बनाया गया है। इन दोनों राहत कोषों में मनाली विधानसभा क्षेत्र के लोग और कई संस्थाओं लगातार आर्थिक योगदान दे रहे हैं। बीते दिन भी कई लोगों एवं संस्थाओं ने मनाली में वन, परिवहन, युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर को लाखों रुपये के चेक सौंपे।
  देवता पाशाकोट बैंची के कारदार लुदर चंद ने 4100 रुपये, देवता हुरंग नारायण (दराल) के कारदार बेली राम ने दस हजार रुपये, देवता जगथम पनगां के कारदार रमन कुमार ने 11 हजार, देवी देवता कारदार संघ खण्ड कटराईं के कारदार युवराज ने 15 हजार, देवता श्री नारायण मंदिर कमेटी गांव लिगन के कारदार युवराज ने 11 हजार, देवी ज्वालामुखी फोजल के कारदार प्रीतम महंत ने 5100, देवता वीरनाथ धारा के कारदार तीर्थ राम ने दो हजार, अग्नि पाताल स्वयं सहायता समूह लिगन ने 3650, देवता दचानी के कारदार वीर सिंह ने पांच हजार, माता नरसिंघी के कारदार ने 10,100, वार्ड नं. 4 बाशिंग से 51 हजार और फोरलेन संघर्ष समिति की ओर से ब्रजेश महंत ने 31 हजार रुपये का चेक एचपी एसडीएमए कोविड-19 एसडीआर फंड के लिए वन मंत्री को भेंट किया।
जगती महिला संघ नग्गर ब्लाॅक ने 51 हजार रुपये, सेथन गांव कमेटी ने 21 हजार रुपये तथा लामो महिला मंडल सेथन प्रीणी ने ग्यारह हजार रुपये की राशि एचपी एसडीएमए कोविड-19 एसडीआर फंड में दी। वन मंत्री के पैतृक गांव कन्याल के निवासियों ने भी इस फंड में 31,500 रुपये का अंशदान दिया है। सभी दानी लोगों का आभार व्यक्त करते हुए गोविंद सिंह ने कहा कि आम लोगों के उत्साह और उदार अंशदान से सरकार कोरोना की चुनौतियों से निपटने में जल्द कामयाब होगी।
वन मंत्री ने दिलाई कोरोना से रोकथाम की शपथ
वन, परिवहन, युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने अपने पैतृक गांव कन्याल में कोरोना से रोकथाम की शपथ दिलाई। उन्होंने लोगों को कोरोना संकट के दौरान आपस में उचित दूरी बनाए रखने, मास्क-सेनिटाइजर का प्रयोग करने, अरोग्यसेतु एप इंस्टाॅल करने, सरकार तथा प्रशासन के निर्देशों का पालन करने की शपथ दिलाई।
dilarambhardwaj

Related posts

सावित्री मिश्रा झारसुगुड़ा,ओडिशा से लिखती है ‘मां की ममता , एक रचना

Dilaram Bhardwaj

साहित्यकार दिलाराम भारद्वाज ‘ दिल , की कलम से एक रचना

Dilaram Bhardwaj

अनीता निधि लिखती है एक कविता झारखंड से

Dilaram Bhardwaj

Leave a Comment