विधायक मनोहर लाल खटटर Karnal को संभालने में विफल  लॉकडाउन में स्कूल में पढ़ाए जा रहे थे बच्चे जिला प्रशासन ने छापेमारी कर किया सील

विधायक मनोहर लाल खटटर करनाल को संभालने में विफल  लॉकडाउन में स्कूल में पढ़ाए जा रहे थे बच्चे जिला प्रशासन ने छापेमारी कर किया सील,मुख्याधापिका को किया गिरफ्तार

 

Legislator Manohar Lal Khatter failed to handle Karnal, children were being taught in school in lockdown.

 

करनाल(अटल हिन्द ब्यूरो ) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपने ही शहर करनाल जहाँ से वो विधायक है को लॉकडाउन  में सभांलने में पूरी तरह विफल रहे जिसका जीता जागता प्रमाण बुधवार को देखने मिला जब  कोरोना वायरस की वजह से देशभर में लॉकडाउन के चलते स्कूल,कॉलेज और यूनिवर्सिटी बंद है।

haryana  सरकार ने सभी महकमों,बोर्ड,निगमों,उपक्रमों से सरप्लस फंड को वापस मांगा

 

वहीं  करनाल के सुभाष गेट पर स्थित एसबी मिशन स्कूल में बच्चों को पढ़ाया जा रहा था। शिक्षा विभाग,जिला प्रशासन और पुलिस टीम ने जब छापेमारी की तो स्कूल में 11 बच्चे और स्टाफ मौजूद था। पुलिस ने अब स्कूल को सील कर दिया है।स्कूल की मुख्य अध्यापिका को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि पुलिस विभाग को एफआईआर दर्ज करने के लिए कहा है।

 

 

टीम ने जब छापेमारी की तो स्कूल में 11 बच्चे मौजूद थे, इसके साथ-साथ स्टाफ भी था। इसके बाद पुलिस ने स्कूल को सील कर दिया है। जिला शिक्षा अधिकारी रविंद्र चौधरी ने बताया कि कोविड-19 के मद्देनजर प्रदेश सरकार द्वारा सभी शिक्षण संस्थानों को आगामी आदेशों तक बंद किया हुआ है,लेकिन उन्हें सूचना मिली थी कि करनाल का एसबी मिशन स्कूल चल रहा है।

लॉकडाउन हटा तो भी नही खुलेंगे haryana में स्कूल-कॉलेज ?

 

DC निशांत कुमार यादव के आदेश पर ड्यूटी मजिस्ट्रेट एटीपी अजमेर सिंह, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी रोहताश वर्मा, एसएचओ हरजिन्द्र सिंह की टीम बनाकर छापेमारी की गई।

 

छापे के दौरान पाया गया कि स्कूल खुला हुआ था और इसमें 11 बच्चे पढ़ाई कर रहे थे तथा स्कूल का स्टाफ भी मौके पर मौजूद था। उन्होंने बताया कि स्कूल ने विभागीय नियमों की अवहेलना की है, जिसके तहत स्कूल को सील कर दिया गया है।

 

 

पुलिस विभाग को एफआईआर दर्ज करने के लिए कहा गया है। उन्होंने बताया कि जिले में कोई भी शिक्षण संस्थान नहीं खुलेगा। उन्होंने आमजन से भी अपील की कि अगर किसी भी व्यक्ति को किसी भी शिक्षण संस्थान के खुले होने की सूचना मिलती है तो उसकी तुरंत सूचना जिला प्रशासन को दें ताकि संबंधित संस्थान पर कड़ी कार्रवाई हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *