Atal hind
दिल्ली राष्ट्रीय व्यापार

सडक़ों से नहीं हटेंगी 15 साल पुरानी कारें, नई कार खरीदने पर मिलेगी बड़ी छूट

सडक़ों से नहीं हटेंगी 15 साल पुरानी कारें, नई कार खरीदने पर मिलेगी बड़ी छूट

New Delhi(atal hind)

यदि आपके पास 15 साल पुरानी गाड़ी है तो अब आपको घबराने की जरूरत नहीं है और ना ही आपकी गाडी को कंडम माना जाएगा। सरकार ने 15 साल पुराने वाहनों को हटाने का प्रावधान खत्म कर दिया है। पंरतु ऐसी गाडिय़ों को चलाने के लिए हर साल आपको अपनी गाड़ी का फिटनेस सार्टिफिकेट लेना जरूरी होगा। यदि आपने ऐसा नहीं किया तो फिर आपकी गाड़ी को कंडम मान लिया जाएगा। इसके साथ साथ पुराने वाहनों की खरीद करने व उसका रजिटे्रशन करवाने की फीस अब तीन गुणा अधिक कर दी गई है। लेकिन इसके साथ ही एक बड़ी खुशखबरी यह भी है कि पुरानी कार बेचने और नई कार खरीदने के लिए सरकार की ओर से आपको एक तोहफा दिया जाएगा। इस तोहफे के तौर पर पुरानी कार बेचकर नई कार खरीदने वालों का रजिस्टे्रशन मुफ्त में किया जाएगा। बता दें कि नई कार का रजिस्टे्रशन करवाने की एवज में हजारों रुपए की फीस चुकानी पड़ती है।
सरकार के नए नियम-

पुरानी कार बेचने के बाद अब मिलेगा प्रमाणपत्र

इस प्रमाणपत्र को दिखाने पर नई कार खरीदने वालों को रजिस्टे्रशन मुफ्त होगा

इससे करीब 2.80 करोड़ वाहन स्क्रैपेज पॉलिसी के दायरे में आ जाएंगे
इस नीति से बड़ी संख्या में पैदा होंगे रोजगार के अवसर

ऑटोमोबाईल सैक्टर पुरानी कारों के सस्ते में स्टील, एल्मुनियम, प्लास्टिक जैसे

नई कार खरीदने पर मिलेगी इतनी छूट-

बता दें कि केंद्रीय राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह ने हाल ही में यह जानकारी सांझा की है कि वाहन स्क्रेपिंग योजना के अंतर्गत कैबिनेट में यह प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है। इस पॉलिसी के लागू होने से सुस्त और घाटे का सामना कर रही देश की अर्थव्यस्था को ना केवल नई गति मिलेगी, बल्कि देश के ऑटो उद्योग को बड़ा लाभ होगा। देश में नए वाहन खरीदने वालों की संख्या में तेजी आएगी। इस नीति के तहत नई कार खरीदने वालों को 30 प्रतिशत तक का डिस्काऊंट उपलब्ध करवाया जाएगा तथा पुराने की जगह नए वाहन सडक़ों पर आने के बाद प्रदूषण में करीब 20 से 25 प्रतिशत तक की कमी भी होगी।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

ऐसा ही चलता रहेगा तो जल्द ही भारत (india)में संक्रमण का आंकड़ा भयावह स्थिति पैदा कर देगा ?

Sarvekash Aggarwal

भारत विकास परिषद शाखा टीक ने गांव में चलाया जागरूकता

करनाल में है बासमती चावल का कारोबार(Ramdev International),411 करोड़ का चूना लगाकर फरार हुए

Sarvekash Aggarwal

Leave a Comment

URL