Atal hind
टॉप न्यूज़ पंजाब राजनीति राष्ट्रीय

सरकार बनी तो काले कानून कचरे में फेंक देंगे अरबपतियों की नजर किसानों की जमीन और फसल पर-राहुल गाँधी 

सरकार बनी तो काले कानून कचरे में फेंक देंगे अरबपतियों की नजर किसानों की जमीन और फसल पर-राहुल गाँधी
मोगा(अटल हिन्द ब्यूरो )
केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों के साथ धोखा करार दिया है। कहा कि इन कानूनों की मदद से 23 अरबपतियों की नजर किसानों की जमीन और फसल पर है। राहुल गांधी ने कहा कि वर्तमान सिस्टम में कुछ खामियां हैं। इन्हें बदलने की आवश्यकता है, लेकिन इसे नष्ट करने की जरूरत नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसे नष्ट करना चाहते हैं। इससे पूर्व,नए कृषि कानूनों खिलाफ कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ट्रैक्टर मार्च के लिए चॉपर से मोगा पहुंचे।
रैली स्थल पर पंजाब के कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत पहले से मौजूद थे। खास बात यह है कि राहुल के मंच पर नवजोत सिंह सिद्धू भी मौजूद रहे। इसके अलावा मंच पर कैप्टन अमरिंदर सिंह, प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़, वित्त मंत्री मनप्रीत बादल, हरियाणा के राज्यसभा सदस्य दीपेंदर हुड्डा भी मौजूद रहे। राहुल गांधी ने कहा कि अंग्रेजों ने हिंदुस्तान के किसानों को खत्म कर देश को गुलाम बनाया।
यही हाल केंद्र सरकार का है। मैं ये नहीं कर रहा हूं कि इस सिस्टम में कमी नहीं है। जरूर सिस्टम में कमी है। सिस्टम को बदलने की जरूरत है। मगर सिस्टम को नष्ट करने की जरूरत नहीं है। अगर आप ने सिस्टम को नष्ट कर दिया तो किसान की रक्षा के लिए कुछ नहीं बचेगा। किसान मारा जाएगा। मैं और कांग्रेस पार्टी किसान आंदोलन के साथ खड़ी है। जिस दिन हमारी सरकार आएगी उस दिन हम इन काले कानून को रद्द कर फेंक देंगे। पंजाब-हरियाणा और पूरे हिंदुस्तान का किसान पीछे नहीं हटेगा

 

सरकार किसानों को खत्म करना चाहती: गांधी
राहुल गांधी ने अपने भाषण में कहा कि पुराने जमाने में कठपुतली होती थी। जिन्हें पीछे से धागे के सहारे से चलाया जाता था। यह सरकार भी कुछ लोग चला रहे हैं। पंजाब-हरियाणा के किसानों ने हिंदुस्तान को खाद्य सुरक्षा दी। केंद्र सरकार ने एमएसपी,फसल खरीद और मंडी का ढांचा बनाया था। मोदी सरकार इन्हें खत्म करना चाहती है। लक्ष्य इनका फसल खरीद और एमएसपी को खत्म करने का है।
इनको पता है कि जैसे ही एमएसपी और फसल खरीद खत्म होगी,वैसे ही पंजाब-हरियाणा के किसान खत्म हो जाएंगे। लेकिन कांग्रेस पार्टी ये करने नहीं देगी। अपने संबोधन में पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि कृषि कानून किसानों पर मार है। केंद्र सरकार के इन कानूनों से किसान बुरी तरह प्रभावित होगा। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राहुल से कहा कि वह पूरे देश के किसानों को केंद्र के इस काले कानून के खिलाफ एकजुट करें।
पूरा पंजाब उनके साथ है। रैली को संबोधित करते हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि किसान देश की रीढ़ हैं। किसानों के खिलाफ कोई भी कदम कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस पर भी निशाना साधा। सिद्धू ने कहा कि जब हिमाचल की सरकार सेब पर एमएसपी दे सकती है, तो पंजाब सरकार अपनी एमएसपी क्यों नहीं दे सकती है।
सिद्धू ने कहा कि पंजाब दाल और तिलहन को इंपोर्ट करता है। किसान उसे क्यों नहीं उपजा सकता। मंच से सिद्धू ने सबसे पहले राहुल, फिर जाखड़ और हरीश रावत के बाद कैप्टन का नाम लिया। सिद्धू ने इस बात पर जोर दिया कि हमे स्वाबलंबी बनना पड़ेगा। सिद्दू जब बोल रहे थे तो कांग्रेस थोड़ी असहज हो गई। जिस पर हरीश रावत अपनी सीट से उठ चुके थे। बाद में सिद्धू ने अपना भाषण खत्म किया, तब रावत अपनी सीट पर बैठे।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

हरियाणा कांग्रेस में खींचतान शुरू, हुड्डा की अगुवाई वाली शैडो कैबिनेट से दूर ही रहेंगी किरण चौधरी

Sarvekash Aggarwal

हरियाणा में राशन वितरण में गड़बड़ी बायोमेट्रिक सिस्टम हटा तो कैसे बढ़ गए लाभार्थी

Sarvekash Aggarwal

कैथल के आर्य डायनोसिटक सेंटर पर छापा , भ्रूण लिंग जांच का पर्दाफाश

admin

Leave a Comment

URL