Atal hind
Uncategorized

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, BJP भी कर सकती है बाहर….. गोडसे पर बयान के बाद बीजेपी अब कड़ा एक्शन की तैयारी में

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, BJP भी कर सकती है बाहर….. गोडसे पर बयान के बाद बीजेपी अब कड़ा एक्शन की तैयारी में
नयी दिल्ली 28 नवंबर 2019। नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताना बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को महंगा पड़ गया. संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने साध्वी प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की संसदीय समिति से निकाल दिया है. इसके साथ ही सत्र के दौरान होने वाले बीजेपी संसदीय दल की बैठकों में भी साध्वी प्रज्ञा को नहीं आने का फरमान सुनाया गया है.सूत्रों के हवाले से खबर हैं कि साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ पार्टी की अनुशासन समिति बड़ी कार्यवाही करेगी. उन्हें पार्टी से निष्कासित भी किया जा सकता है. बीजेपी के कार्यवाहक अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि संसद में कल का उनका बयान निंदनीय है. बीजेपी कभी भी इस तरह के बयान या विचारधारा का समर्थन नहीं करती है.
बता दें कि बुधवार को लोकसभा सदन में द्रमुक सदस्य ए राजा ने चर्चा में भाग लेते हुए नकारात्मक मानसिकता को लेकर गोडसे का उदाहरण दिया, जिस पर प्रज्ञा अपने स्थान पर खड़ी हो गईं और कहा कि ‘देशभक्तों का उदाहरण मत दीजिए’. इससे पहले भी प्रज्ञा सिंह नाथुराम गोडसे को देशभक्त बता चुकी हैं, जिसे लेकर काफी विवाद खड़ा हो गया था.हालांकि, लोकसभा की कार्यवाही से प्रज्ञा के इस बयान को हटा दिया गया.

सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बयान पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और बीजेपी पर निशाना साधा. राहुल ने कहा कि मैं उस महिला के बारे में नहीं बोलना चाहता. यह आरएसएस और बीजेपी की आत्मा में है. वह कहीं ना कहीं से निकलेगा. वह गांधी जी की कितनी भी पूजा करें. उनकी आत्मा (आरएसएस) की है. मैं अपना समय खराब नहीं करना चाहता. उनके उपर एक्शन लें.
बता दें कि प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने बीते बुधवार को लोकसभा में एसपीजी संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का हवाला ‘देशभक्त’ के तौर पर दिया. नाथुराम गोडसे को देशभक्त बताने के बाद से राजनैतिक दुनिया के साथ-साथ सोशल मीडिया पर बवाल मचा हुआ है.भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि संसद में कल का उनका(प्रज्ञा सिंह ठाकुर) बयान निंदनीय है. भाजपा कभी भी इस तरह के बयान या विचारधारा का समर्थन नहीं करती. प्रज्ञा सिंह ठाकुर को रक्षा मामलों की संसदीय कमिटी से हटाया गया. बुधवार को लोकसभा में नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहने पर उनके खिलाफ यह कदम उठाया गया.

Leave a Comment