सोशल मीडिया पर नरेन्द्र मोदी पर फूलों के साथ पत्थर भी बरसाएं जाएंगे।

सोशल मीडिया पर नरेन्द्र मोदी पर फूलों के साथ पत्थर भी बरसाएं जाएंगे।
-राजकुमार अग्रवाल —
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट किया कि वे सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेट फार्म छोडऩे पर विचार कर रहे हैं। मोदी सोशल मीडिया से क्यों हटना चाहते हैं, यह अभी पता नहीं चला है। हो सकता है कि 8 मार्च रविवार को अपने मन की बात कार्यक्रम में मोदी इसका खुलासा करें। लेकिन माना जा रहा है कि सोशल मीडिया के दुरुपयोग से प्रधानमंत्री भी आहात हैं। हो सकता है कि प्रधानमंत्री को लेकर जो अर्मायादित पोस्ट डाली जाती है, उससे भी मोदी आहत हों। मोदी को लगता है कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाकर कश्मीरियों को अधिकार देने, अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की बाधाओं को दूर करने जैसे फैसलों से देश की एकता और अखंडता मजबूत हुई है। लेकिन देश में ऐसे तत्व भी मौजूद है जो ऐसे फैसलों से खफा है। स्वभाविक है कि ऐसे तत्व नरेन्द्र मोदी के विरुद्ध सोशल मीडिया पर अमर्यादित पोस्ट डालेंगे ही। ऐसे तत्व अपने मकसद को लेकर सोशल मीडिया का दुरुपयोग कर रहे हैं। लेकिन नरेन्द्र मोदी को यह भी समझना चाहिए कि करोड़ों पोस्ट उनके समर्थन में भी सोशल मीडिया पर डाली जाती है। चूंकि सोशल मीडिया पर कोई प्रभावी नियंत्रण नहीं है, इसलिए कई बार देश का माहौल भी खराब होता। सोशल मीडिया पर जब करोड़ो लोग फूल बरसाते हैं तो कुछ लोग पत्थर भी बरसाएंगे। मोदी ने पूर्व में कहा भी है कि उन पर बरसाए जाने वाले पत्थरों की सीढिय़ा और पुल बना कर वे मंजिल तक पहुंच रहे हैं। मोदी को सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेट फार्मों पर मजबूती के साथ डटे रहना चाहिए, क्योंकि संचार क्रांति के दौर में सोशल मीडिया एक सशक्त माध्यम है, जिसके जरिए आप अपनी बात करोड़ों लोगों तक आसानी से पहुंचना सकते हैं। नरेन्द्र मोदी विपरीत हालातों में देश के प्रधानमंत्री का दायित्व निभा रहे हैं। यदि मोदी सोशल मीडिया को छोड़ते हैं, तो बेवजह देश में गलत संदेश जाएगा। उन तत्वों को ही फायदा होगा, जो पत्थर बरसाते हैं।
8 मार्च को महिलाओं के लिए समर्पित रहेगा अकाउंट:
3 मार्च को पीएम मोदी ने एक नया ट्वीट किया है कि 8 मार्च को महिला दिवस पर उनका अकाउंट सिर्फ महिलाओं को समर्पित रहेगा। यानि महिलाओं की प्रेरणादायक पोस्ट सोशल मीडिया पर डाली जा सकेगी। इसके लिए पीएम ने महिलाओं से आव्हान भी किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *