Atal hind
टॉप न्यूज़ मेवात हरियाणा

हरियाणा के पिनगवां के पास जमीन में गढे धन को लेकर  करीब 500 साल पुरानी कब्र खोदी।

हरियाणा के पिनगवां के पास जमीन में गढे धन को लेकर  करीब 500 साल पुरानी कब्र खोदी।

पुन्हाना, अटल हिन्द /कृष्ण आर्य

पिन गवां  कस्बे के पास बने प्राचीन मकबरे के पास कुछ असमाजिक तत्वों द्वारा धन गडा होने की लालसा में वर्षो पुरानी कब्र खोदने का मामला प्रकाश में  आया है। पिनगवां के आसपास मकबरों में बनी ऐसी कब्रों को पहले भी लोग धन के लालच में खोद चुके हैं लेकिन ऐसे आरोपियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई न होने की वजह से इनके होंसले बुलंद हैं।

 पिनगवां कस्बे के लोगों ने बताया कि  पिनगवां के अकबरपुर रोड पर करीब 500 साल पुराना मकबरा है, इसके अंदर और बाहर करीब एक दर्जन पुरानी पक्की कब्रें बनी हुई है। दो दिन पहले कुछ असामाजिक तत्वों ने धन के लालच में रात के समय एक कब्र को काफी गहरा खोद डाला।

कब्र के आस पास पडी एक दर्जन पानी की बोतलें और अन्य खाने पीने के सामान को देखकर लगता है कि कब्र को खोदने वालों की संख्या करीब एक दर्जन रही होगी। उन्होने जिला प्रशासन से मांग की है कि जिले में बने ऐसे मकबरों और कब्रों को देखभाल और मरम्मत की जाऐ। तथा ऐसे असामाजिक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाऐ।

पिनगवां कस्बें में आबाद एक दर्जन कब्रिस्तान और मकबरों की देखभाल करने वाले जमील अहमद का कहना है कि यह पहला मामला नहीं है बल्कि लाहबास, अकबरपुर और पुन्हाना रोड पर बने मकबरों में बनी कब्रों को असामाजिक तत्व पहले भी काफी नुकसान पहुंचा सके है। भले ही वे इसकी देखभाल करते है लेकिन इनकी असल जिम्मेदारी हरियाणा वक्फ बोर्ड की है। वक्फ बोर्ड के अधिकारी इन कब्रों और मकबरों की सुध लेने कभी नहीं आते है। उन्होने बताया कि वह कब्र खोदेने वालों के खिलाफ मामला दर्ज कराने की जल्द थाने में शिकायत देगा।

 

 पुलिस प्रवक्ता का कहना है कि अभी तक उनके पास ऐसी कोई शिकायत नहीं मिली है। शिकायत आने पर मामला दर्ज कर ऐसे असामाजिक तत्वों की पहचान कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाऐगी।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

कैथल उपायुक्त ने किया रक्तदान शिविर का शुभारंभ,

admin

ब्रेन एन्यूरिज्म(Brain aneurism) एक साइलेंट किलर(killer) भी

Sarvekash Aggarwal

तो क्या प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi)किराए पर बसों को लेकर योगी सरकार को सौंपती?

Sarvekash Aggarwal

Leave a Comment

URL