Atal hind
टॉप न्यूज़ शिक्षा हरियाणा

हरियाणा में सरकारी जर्जर स्कूलों में अंग्रेजी मीडियम से पढ़ाई का सपना या हक्कीत

हरियाणा में सरकारी जर्जर स्कूलों में अंग्रेजी मीडियम से पढ़ाई का सपना या हक्कीत

बंटी शर्मा सुनारिया

बहादुरगढ़ / सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई करवाने की कवायद के बीच बहादुरगढ़ खंड के चार प्राथमिक स्कूलों का चयन किया गया है। हालांकि इनमें से दो के तो भवन ही जर्जर हैं। शेष दो की हालत भी ठीक नहीं है। वहां पर सुविधाओं की कहीं ज्यादा दरकार है। इस सत्र से तो यह व्यवस्था ही बनती नजर नहीं आ रही है। ऐसे में अगले सत्र से इन स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई का संभावना बनेगी। मगर उससे पहले तो स्कूल भी चाहिए होंगे और तमाम बुनियादी व्यवस्थाएं भी। इन स्कूलों का किया गया चयन

वैसे तो बहादुरगढ़ खंड में 84 राजकीय प्राइमरी स्कूल हैं, मगर अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई के लिए शहर में स्थित चार स्कूलों का चयन किया गया है। इनमें लाइनपार के शंकर गार्डन, मेन बाजार, सेक्टर-6 और काठमंडी में स्थित प्राइमरी स्कूल शामिल हैं। इनमें से मेन बाजार के स्कूल के भवन का कुछ हिस्सा पिछले दिनों ढह गया था। तबसे यहां की कक्षाएं तबेला स्कूल में लगाई गई। अब तो मार्च से ही सब कुछ बंद है। ऐसी ही हालत शंकर गार्डन स्कूल की भी हो चुकी है। काठ मंडी और सेक्टर-6 के स्कूलों की भी हालत ठीक नहीं। यहां पर स्कूल भवन की छत से मलबा झड़ता है। फर्श में गड्ढे पड़ चुके हैं। बैठने के लिए बेंच भी पर्याप्त नहीं। कहने का अर्थ है कि तमाम बुनियादी सुविधाएं जो हिदी माध्यम के लिए भी जरूरी हैं, वे भी नहीं हैं। ऐसे में नौनिहाल अब यहां अंग्रेजी का अक्षर ज्ञान सीखने का ख्वाब संजोये हैं। 500 रुपये दाखिला फीस और 200 रुपये होगी महीना होगी फीस

इन स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई की एवज में प्रत्येक विद्यार्थी की 500 रुपये दाखिला फीस और 200 रुपये महीना फीस होगी। यह राशि स्कूल के रखरखाव पर खर्च की जाएगी। इन स्कूलों में चुनिदा शिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी। उन्हें बाकायदा अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई करवाने के लिए प्रशिक्षित भी किया जाएगा। हालांकि यह सत्र आधा तो बीत ही चुका है। अब तो इस बार की बजाय अगले सत्र से ही इन स्कूलों में यह व्यवस्था बनेगी।

क्या कहना है शिक्षा अधिकारी का
मैंने यहां पिछले सप्ताह ही ज्वाइन किया है। इस बारे में जानकारी नहीं ली है। स्कूलों की स्थिति के बारे में पता किया जाएगा। उसके बाद प्रक्रिया आगे बढ़ेगी।
निर्मल शर्मा, बीईओ बहादुरगढ़।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

लिंग जांच के बारे में मिलती है सूचना तो तुरंत छापामारी करें : डीसी सुजान सिंह

admin

ओवैसी जी ! राम का नाम तो लेगा ही भारतवासी

admin

किसानों के सामाजिक भाईचारे ने मोदी और मनोहर सरकार को  दिया मुंहतोड़ जवाब

admin

Leave a Comment

URL