हरियाणा में हड़कंप =कोविड 19 वायरस, कोरोना… कहीं पर कोई तो रोको ना ?

कोविड 19 वायरस, कोरोना… कहीं पर कोई तो रोको ना ?

बीती रात दिल्ली से गांव मौजाबाद पहुंच गए कई मुस्लिम.

दिल्ली में क्फर्यू और अनेक पुलिस के नाके, बड़ा सवाल.

शुक्रवार को सुबह मुस्लिमों को देख गांव में मचा हड़कंप

 

 

Stirring in Haryana = Kovid 19 virus, Corona… Is there a stop somewhere?

Many Muslims reached village Mojabad from Delhi last night.

Curfew in Delhi and many police blocks, big question.

There was a stir in the village on Friday morning after seeing the Muslims

 

पटौदी(Atal Hind) निजामुद्दीन मरकज़ घटना के बाद से तबलीगी जमातियों के फरार होना और इनकी पहचान अब सबसेे बड़ी चुनौती बनकर उभरी है। क्यों कि मरगज़ से फरार मुस्लिमों में कोविड 19 के लक्षण सामने आने से जहां भी जमाती पहुंचे वहां-वहां हड़कंप का माहौल है। दिल्ली में क्फर्यू और विभिन्न साथ लगती सीमा, पुलिस नाके पर सघन जांच साथ ही लाॅक डाउन के बीच सुरक्षा-चैकसी व्यवस्था को धता बताते अभी भी दिल्ली से मुस्लिमों को एनसीआर में आने का बेखौफ सिलसिला बना हुआ है।

ऐसे में यहीं कहा जा सकता है कि, कोविड 19, कोरोना… कहीं पर कोई तो रोको ना ?। ऐसी ही सनसनी खेज घटना पूर्व मंत्री स्व, सीताराम सिंगला के गुरूग्राम से एमएलए सुधीर सिंगला के पैतृक गांव पटौदी के मौजाबाद में सामने आई है। गांव के पंच मनोज सहित अन्य ग्रामींणों के मुताबिक शुक्रवार को सुबह के समय गांव में अनजान मुस्लिमों को देखकर हड़कंप मच गया। इनकी संख्या बच्चों सहित सात है। गांव में ही अपने स्तर पर की गई तहकीकात में भेद खुला कि, ये सभी मुस्लिम जिनमें महिला, पुरूष और बच्चे भी शामिल हैं, गुरूवार-शुक्रवार की मध्य रात्री में किसी वाहन से अपने गैर मुस्लिम रिश्तेदार के घर पहुंचें और इन सभी को गांव का ही रहने वाला एससी वर्ग का युवक लेकर आया। लेकिन युवक के द्वारा ऐसा किया जाने से पहले न तो पंचायत को बताया और न ही बाद में स्थानीय नागरिक और पुलिस प्रशासन को जानकारी देना जरूरी समझा है।

 

घटना क्रम से कई प्रकार के गंभीर सवाल

क्फर्यू सहित लाॅक डाउन को देखते हुए दिल्ली से गुरूग्राम या अन्य क्षेत्र से होते हुए पटौदी में इन मुस्लिम के आगमन के पूरे घटना क्रम से कई प्रकार के गंभीर संवाल भी खड़े हो गए हैं। कि आखिरकार दिल्ली से पटौदी के बीच में क्या कही भी किसी भी नाके और इससे पहले दिल्ली सीमा पार कर एनसीआर में प्रवेश करते समय पूछताछ के लिए क्यो नहीं रोका गया ? या फिर जिस भी वाहन से लाये गए, उसके आवागमन की प्रशासन से अनुमति ली गई। इन दिनों लाॅक डाउन व सीमाएं सील होने के कारण किसी भी परिजन की मृत्यु के बाद अस्थी विसर्जन को जाने-अपने के लिए प्रशासन की लिखित अनुमति के बिना भी किसी के लिए संभव नहीं है। और यह लो जिंदा सात प्राणी दिल्ली से चलकर पटौदी के गांव मौजाबाद भी पहुंच गए।

कोरोना संदिग्द्ध पर दी प्रशासन को सूचना

ग्रामींणों में इन मुस्लिमों के दिल्ली से पटौदी के गांव मौजाबाद पहुंचने के बाद कोराना फोबिया से आतंकित ग्रामींणों व पंच मनोज के द्वारा पटौदी एसडीएम नियंत्रण कक्ष में दी। इसके बाद में दिल्ली से पहुंचे इन सभी मुस्लिमों को पुलिस प्रशासन की निगरानी में स्वास्थ्य विभाग की एंबुलेंस से पटौदी के नागरिक अस्पताल लाया गया। एसएमओ डा. नीरू का कहना है कि, महिला, बच्चे और पुरूष सहित कुल सात लोग यहां कोराना प्रभावित के शक में लाये गए। सभी की जांच की गई और किसी में भी कोरोना संबंधित कोई भी लक्षण नहीं पाया गया। फिर भी एहतियात के तौर पर सभी को गांव में ही होम क्वारंटाइन कर दिया गया है। इसी कड़ी में शुक्रवार को ही गुरूग्राम से गांव गदाईपुर आये तीन युवक भी पटौदी के नागरिक अस्पताल पहुंच गए और कहा कि, उनकों कोरोना हो गया है। युुवकों की बात सुुन अस्पताल में भी खलबली मच गई। बाद में की गई जांच में युवकों को सामान्य पाया गया तथा घर वापिस भेजा।

 

इस प्रकार है मौजाबाद-दिल्ली कनेक्शन

ग्रामींणों के मुताबिक गांव के ही एससी वर्ग के युवक राहुल के द्वारा किसी मुस्लिम लड़की से लव मैरिज की हुई है और दोनों के बच्चे भी हैं। युुवक की मुस्लिम पत्नी गांव में कई दिनों से नहीं देखी गई। इसी बीच में दिल्ली मरकज़ वाला भंडा फूट गया। इस बात की आशंका से इंकार नहीं कि, लव मैरिज करने वाली युवति ने ही अपने परिचितों अथवा रिश्तेदारों को अपने पति की सहायता लेकर दिल्ली से निकालकर गांव मौजाबाद अपने घर पर लाने या रखने के लिए कथित दवाब बनाया हो। इसके बाद में लव मैरिज करने वाला दंपति अपनी योजना में कामयाब भी रहा है। बताया गया है कि दिल्ली से मौजाबाद पहुंचे मुस्लिमों में एक महिला गर्भवती है और शुक्रवार को अन्य मुस्लिमों को जांच के लिए ले जाने से पहले गर्भवती को प्रसव के लिए पटौदी से गुरूग्राम रैफर किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *