Atal hind
क्राइम टॉप न्यूज़ महेंद्रगढ़ शिक्षा हरियाणा

हरियाणा सरकारी  स्कूलों के  कमरे हुए जर्जर, हरियाणा शिक्षा विभाग को हादसे का इंतजार

हरियाणा सरकारी  स्कूलों के  कमरे हुए जर्जर, हरियाणा शिक्षा विभाग को हादसे का इंतजार

पुनहाना(अटल हिन्द ब्यूरो )

सर्व शिक्षा अभियान को सफल बनाने को लेकर प्रदेश सरकार ने बच्चों के पढ़ने के लिए उपमंडल के स्कूलों में कमरे बनवाएं थे।

परंतु शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत के चलते अध्यापकों ने निर्माण कार्य में भारी अनियमितताएं बरतते हुए जमकर

भ्रष्टाचार मचाया था। लगभग 8-10 वर्ष पूर्व हुए इस भ्रष्टाचार की परतें अब स्वयं ही खुलने लगी हैं। अध्यापकों द्वारा बनवाए गए

कमरे जर्जर हो चुके हैं। कुछ कमरे गिर चुके हैं तो कुछ की दीवार व लेंटर फटने लगे हैं। ऐसे में कमरों में बैठने वाले बच्चों तथा

पढ़ाने वाले अध्यापकों के जीवन पर भी खुलेआम संकट मंडरा रहा है। ऐसा नहीं है कि स्कूली अध्यापकों व ग्रामीणों ने कमरों की

शिकायत शिक्षा विभाग के अधिकारियों को न की हो। परंतु बार-बार शिकायत के बावजूद भी शिक्षा विभाग के अधिकारी तथा सर्व

शिक्षा अभियान के निर्माण कार्य में लगे अधिकारी मोटी कमाई के चलते कुंभकरनी नींद में सोए हुए हैं।  बता दें कि पुन्हाना

उपमंडल के सुनेहडा, ठेक, खेडला-पुन्हाना, जैंवत, नहेदा, सिंगलेहडी व पटपडबास सहित  दर्जनों गांवों के सरकारी स्कूलों में

करीब 8 से 10 वर्ष पूर्व कमरों को निर्माण किया गया था। जिसमें निर्माण कराने वाले अध्यापक ने निर्माण कार्य में घटिया व कम

सामग्री का प्रयोग किया था। आलम यह है कि विभाग द्वारा जारी चौथी किस्त खर्च होने के बावजूद भी छत के लेंटर के उपर टाइलें

आज तक भी नहीं लग पाई है। परिणाम स्वरूप इन स्कूलों में बने कमरें कुछ वर्ष बाद ही जर्जर हो गए। वर्तमान में कमरें पूरी तरह

से जर्जर हैं और ये कभी भी गिर सकते हैं। इसके साथ ही इन कमरों के गिरने से कभी भी कोई बडा हादसा हो सकता है। हैरत की

बात यह है कि इन जर्जर कमरों को तत्कालीन शिक्षा विभाग की अधिकारियों तथा संबंधित जे ई व एस डी ओ द्वारा उस समय

क्लीन चिट दे दी गई थी।

मिलीभगत के चलते लगभग दर्जन बार कराया डेपुटेशन:-
सर्व शिक्षा अभियान के तहत बने कमरों में शिक्षा विभाग के कुछ अधिकारियों, सर्व शिक्षा अभियान में निर्माण कार्य देखने वाले जेई व एसडीओ तथा स्कूलों में निर्माण कार्य कराने वाले अध्यापकों द्वारा जमकर लूट मचाई गई। लूट का आलम यह था कि कुछ अध्यापकों ने तो कमरों का निर्माण कार्य कराने के लिए बार-बार उन्हीं स्कूलों में डेपुटेशन कराया, जिनमें प्रशासन द्वारा नए कमरे बनाए जाने थे। एक अध्यापक ने तो अधिकारियों से सांठ- गांठ कर अपना लगभग दर्जनभर से अधिक स्कूलों में अपना डेपुटेशन कराया और जमकर भ्रष्टाचार मचाया। ऐसे में शिक्षा विभाग में चली सरेआम इस लूट के खेल को विभाग के तत्कालीन अधिकारी मौन बनकर देखते रहे। परंतु खुले चले इस भ्रष्टाचार की परतें अब खुद जर्जर कमरे खोलने लगे हैं। विभिन्न स्कूलों में जर्जर होते कमरे खुली लूट की चर्चा अब खुद ही करने को मजबूर हैं। आगे अब देखना यह है कि देश व प्रदेश में ईमानदार कहीं जाने वाली भाजपा सरकार   व प्रशासन भ्रष्टाचार की इन परसों को खोल कर आरोपियों को सजा दिलाने का काम करेंगे या नहीं।

वर्जन 
स्कूलों में जर्जर पडे कमरों की रिर्पोट बनाकर उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया है। आगे की कार्रवाई उच्चाधिकारियों  द्वारा की जाएगी। एतिहात के तौर पर सभी स्कूलों के मुख्याध्यापकों को इन कमरों में काम-काज ना करने की सलाह भी दी गई है। सद्दीक अहमद, खंड शिक्षा अधिकारी पुन्हाना।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

Hindus seek Diwali holiday in New York’s NHP-GCP School District, starting 2021

admin

24 गांवों को भी शीघ्र मिलेगी  24 घंटे बिजली ,268 गांवों में पहले ही जारी है सुविधा -कैथल डीसी

admin

जयपुर के जेईई और नीट की परीक्षा रद्द करने का  सचिन पायलट ने समर्थन कर सबको चौंकाया

admin

Leave a Comment

URL