हरियाणा सरकार में बड़े  बदलाव की तैयारी ,कुछ मंत्रियों को हटाकर नए विधायकों को दिया जाएगा  मौका

हरियाणा सरकार में बड़े  बदलाव की तैयारी ,कुछ मंत्रियों को हटाकर नए विधायकों को मौका दिया जाएगा

हरियाणा सरकार में बदलाव की सुगबुगाहट

Preparations for major changes in Haryana government, removing some ministers and giving new MLAs a chance
Fragrance of change in Haryana government

New Delhi(agency)

हरियाणा के सियासी गलियारों में सुगबुगाहट शुरू हो गई है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से भी मुलाकात कर सकते हैं। इस मुलाकात में राज्य मंत्रिमंडल विस्तार का अंतिम निर्णय हो जाएगा।

माना जा रहा है कि यदि अमित शाह ने मंत्रिमंडल विस्तार को हरी झंडी दे दी तो राज्य के बजट सत्र से पहले ही जननायक जनता पार्टी (JJP) के कोटे से एक विधायक को मंत्री बनाया जा सकता है और भाजपा कोटे से भी कुछ मंत्रियों को हटाकर नए विधायकों को मौका दिया जा सकता है।

ऐसी भी संभावना है कि राज्य में होने वाले दो उपचुनाव के बाद ही मंत्रिमंडल का विस्तार हो मगर यह सब शाह से मुलाकात में ही तय होगा।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल हरियाणा भाजपा सांसदों के साथ डिनर करेंगे। जिसमें प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ भी मौजूद रहेंगे। इसके लिए हरियाणा बीजेपी के सभी सांसद केंद्रीय राज्य मंत्री रतनलाल कटारिया के आवास पर होंगे। यहां हरियाणा के सांसदों से राज्य के बजट के लिए सुझाव लेंगे। इसके बाद गुरुग्राम ग्रीवेंस कमेटी की बैठक की अध्यक्षता करेंगे। शनिवार को भी मुख्यमंत्री गुरुग्राम में विभिन्न औद्योगिक संगठनों से बजट पर सुझाव लेंगे।
हरियाणा का बजट सत्र 5 मार्च से शुरू होगा। विधानसभा की बिजनेस एडवाइजरी कमेटी बजट सत्र के दौरान यह तय करेगी कि किस दिन बजट पेश होगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल को इससे पहले बजट तैयार करना है।
सीएम ने गत वर्ष बजट तैयार करने के लिए सांसदों-विधायकों से लेकर उद्योग,व्यापार व कुछ अन्य वर्गों के प्रमुख लोगों से सुझाव भी लिए थे। इस बार सीएम ने विधायकों से 20 फरवरी तक सुझाव मांगे हैं!  सांसदों से वह शुक्रवार सुबह गुरुग्राम पीडब्ल्यूडी विश्रामगृह में सुझाव लेंगे।
पिछला बजट पेश करते हुए सीएम ने उन विधायकों के नाम भी सदन में बोले थे जिनके सुझावों को बजट में समाहित किया गया था। इसके चलते इस बार विधायकों में बजट के लिए सुझाव देने को काफी उत्साह बना हुआ है। वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टीवीएन प्रसाद को विधायक अपने सुझाव लिखित में दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *