Atal hind
Uncategorized

हिसार निजी अस्पताल में युवक की मौत को लेकर लोगों ने किया रोष प्रदर्शन

हिसार निजी अस्पताल में युवक की मौत को लेकर लोगों ने किया रोष प्रदर्शन
आरोपियों की गिरफ्तारी तक शव लेने से परिजनों ने किया साफ इंकार
इलाज के दौरान लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन
अटल हिंद/ तरसेम सिंह
KALAYAT-हिसार स्थित एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान कलायत निवासी 22 वर्षीय जोनी धीमान की मौत पर कलायत नगर के लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। शुक्रवार को सुबह करीब 10 बजे धीमान धर्मशाला में नगरपालिका चेयरपर्सन प्रतिनिधि सलिंद्र राणा की अगुवाई में महांपचायत का बुलाई गई। उपरांत नगर के सैंकड़ों लोगों ने निजी अस्पताल प्रबंधन और चिकित्सक टीम पर उपचार में कोताही करने पर आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने को लेकर नेशनल हाइवे से रोष प्रदर्शन करते हुए एसडीएम कार्यालय में प्रदेश मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। इसके साथ ही आरोपियों की गिरफ्तारी न होने तक मृतक का शव लेने से इंकार कर दिया है। इस दौरान आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए शनिवार को शहर बंद का ऐलान भी किया गया है। प्रदर्शन में धार्मिक, राजनैतिक और सामाजिक संगठनों के साथ 36 बिरादरी के प्रतिनिधि शामिल रहेंगे। सलिंद्र प्रताप राणा, पूर्व पार्षद राजू कौशिक, भाई कुलदीप सिंह, सुनील कुमार ने कहा कि जोनी धीमान निजी क्षेत्र में ड्राईवरी करते हुए परिवार का गुजर बसर कर रहा था। 21 नवंबर 2019 को जोनी नरवाना के पास सडक़ हादसे में जख्मी हो गया था। उपचार के लिए उसे हिसार निजी अस्पताल में रेफर किया गया। यहां आयुष्मान योजना के तहत परिवार ने उपचार के लिए दाखिल करवाया। अचानक अस्पताल प्रबंधन ने 1 लाख 50 हजार रुपए की मांग की। जब उन्होंने सरकार की महत्वाकांक्षी आयुष्मान योजना का लाभ देने की मांग की तो अस्पताल प्रबंधन ने जख्मी की देखरेख बंद कर दी। न तो उसे दवा दी जा रही थी और न ही खुराक। बार-बार आग्रह पर भी उन्हें छुट्टी नहीं दी गई। उलटा रोगी और परिवार को प्रताडि़त करने का सिलसिला शुरू कर दिया। इस पर 1 दिसंबर 2019 को हिसार कोर्ट परिसर स्थित पुलिस चौंकी में शिकायत दी। इसमें परिवार के लोगों ने उपचार में कोताही और बुरा बर्ताव करने की शिकायत दी। शिकायत में रोगी को जान से मारने की धमकी के आरोप भी लगे।
अस्पताल प्रबंधन पर कोताही के गंभीर आरोप:
परिजनों के अनुसार पांच दिसंबर 2019 को उन्होंने कई मर्तबा रोगी से मिलने का आग्रह किया। लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने उनकी एक न सुनी। बाद पुलिस की मदद से रोगी की स्थिति जानने के लिए जब वे उपचार कक्ष में गए तो जोनी की मौत हो चुकी थी। युवक की मौत की सूचना मिलते ही बड़ी तादाद में लोग हिसार पहुंचे और पुलिस से कार्रवाई की मांग की।
शनिवार को कलायत बंद का किया ऐलान:
22 वर्षीय जोनी की मौत को लेकर बृहस्पतिवार रात्रि से ही नगर में बैठकों का दौर जारी है। महिलाओं, युवाओं और बड़े-बुजुर्गों ने विधवा मां मूर्ति देवी को न्याय दिलाने की ठानी है। इसके तहत शुक्रवार को जहां सांकेतिक प्रदर्शन किया गया वहीं 7 दिसंबर को शहर बंद करने का ऐलान किया गया है। हालातों बारे जिला प्रशासन को अवगत करवाया गया है।
शिकायत के अनुसार जांच जारी: डीएसपी
डीएसपी अशोक कुमार ने बताया कि मृतक जोनी के परिवार की शिकायत के अनुसार मामले की जांच जारी है। पुलिस त्वरित कार्रवाई करते हुए अस्पताल पहुंची और दोनों पक्षों से बातचीत की। किसी के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। उधर अस्पताल प्रबंधन ने दूसरे पक्ष द्वारा लगाए गए आरोपों को सिरे से नकार दिया है।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Leave a Comment

URL