हैवानियत की हदें पार, खून से लथपथ बच्ची पहुंची पड़ोसी के दरवाजे…

हैवानियत की हदें पार, खून से लथपथ बच्ची पहुंची पड़ोसी के दरवाजे…

 

दिल्ली के पश्चिम विहार वेस्ट के पीरागढ़ी इलाके में 13 साल की एक मासूम बच्ची के साथ हैवानियत

नई दिल्ली(अटल हिन्द ब्यूरो )

Beyond the limits of cruelty, the blood-soaked girl reached the neighbor’s door…

Reality with a 13-year-old innocent girl in Peeragadhi area of Paschim Vihar West, Delhi

खून से लथपथ बच्ची पड़ोसी के दरवाजे तक पहुंची।दरिंदगी का आलम कुछ इस प्रकार था कि दिल्ली के पश्चिम विहार वेस्ट के पीरागढ़ी

इलाके में 13 साल की एक मासूम बच्ची के साथ हैवानियत कुछ इस प्रकार की गई बच्ची जिस वक्त कमरे में अकेली थी इसी दौरान हवाओं

ने उसके साथ दरिंदगी की सारी हदें पार कर दी। जब बच्ची ने खुद को बचाने के लिए विरोध शुरू कर दिया तो कैची से उसके सिर और

शरीर को बुरी तरह से गोद डाला इतना ही नहीं अंदेशा इस बात का भी है कि उस मासूम के साथ निर्भया जैसी वारदात को अंजाम दिया गया

है। खून से नहाई हुई बच्ची को मरा हुआ समझकर आरोपी वहां से फरार हो गया।

बच्ची के साथ क्या कुछ गुजरा होगा, यह इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि काफी देर तक बेसुध हालत में कमरे में सिसकती रही।

उसके बाद जैसे-तैसे वह कमरे से घिसटते हुए बाहर आई और पड़ोसी के दरवाजे को खटखटाकर इशारे से खुद की हालत बयां करते हुए

फिर से बेहोश हो गई। उसके निजी अंगों से लगातार खून बह रहा था। बच्ची की हालत देखकर पड़ोसी भी डर गए। तुरंत ही मामले की

सूचना पुलिस को दी।

 

कैची से गोदा शरीर

साल की बच्ची के साथ में दर्द की करने वाले आरोपी ने बच्ची के शरीर को कैंची से गोदा और बच्चे के शरीर में कई जगह चोट के निशान भी

मिले हैं और इस बात का शक भी जताया जा रहा है कि बच्ची के साथ में जैसा कांड भी किया है लेकिन अभी इस बात की जानकारी नहीं

मिली है क्योंकि बच्ची अभी नाजुक हालत में अस्पताल में भर्ती है पश्चिम विहार में हुई यह घटना एक बार फिर से निर्भया कांड की याद दिला

देता है।

 

पास के अस्पताल में कराया गया भर्ती

12 साल की बच्ची का परिवार बिहार का रहने वाला है और यह परिवार बिल्डिंग के तीसरे माले पर रहते हैं बच्ची के साथ जब यह घटना हुई

तो बच्ची ने हिम्मत जुटाकर पड़ोसियों तक पहुंची जिसमें बच्चे पूरी तरह से खून से लथपथ थी। उसके प्राथमिक इलाज के लिए पास के

अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन हालत ज्यादा खराब होने की वजह से उसे एम्स में भर्ती कराया गया है।

 

सूचना मिलते ही  पश्चिम विहार वेस्ट थाने की पुलिस समेत सीनियर अफसर भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने बच्ची को फौरन संजय गांधी

अस्पताल में भर्ती कराया। उसके सिर और हिप्स में किसी धारदार हथियार से कई वार किए गए थे। बच्ची के इलाज के लिए डॉक्टरों की टीम

सरगर्मी से जुटी और सिर व कटे हुए हिस्सों में टांके लगाए, हाथों हाथ एम्स रेफर कर दिया। मौका ए वारदात का जायजा लेकर पुलिस ने

हत्या की कोशिश और पॉक्सो समेत कई धाराओं में केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश में संभावित ठिकानों पर छापेमारी शुरू कर दी।

लड़की ने जो बयान दिया है, उसके आधार पर वारदात में दो लड़के शामिल थे। पुलिस को अंदेशा है कि दोनों संदिग्ध आसपास के ही हैं।

सीनियर पुलिस अफसरों के मुताबिक, 13 साल की बच्ची परिवार के साथ पीरागढ़ी में किराए पर रहती है। परिवार मूल रूप से बिहार का

रहनेवाला है। जिस कमरे में परिवार रहता है, वह बिल्डिंग तीन मंजिल की है, जिसमें छोटे-छोटे करीब 25 कमरे बने हुए हैं। इनमें अधिकतर

आसपास की फैक्ट्रियों में लेबर का काम करते हैं। बच्ची के परिवार में माता-पिता और एक बड़ी बहन है। माता-पिता फैक्ट्री में लेबर हैं। बड़ी

बहन भी काम करती है। लगभग रोजाना वह बच्ची अपने कमरे में अकेली रहती है। वाकया मंगलवार शाम का है। पुलिस को तकरीब साढ़े

पांच बजे कॉल मिली थी। आशंका है कि बच्ची के साथ करीब 4 बजे वारदात हुई है। शुरुआती जांच में दो लड़के थे। उसके साथ सेक्सुअल

असॉल्ट की कोशिश हुई। बच्ची ने विरोध किया तो उसकी हत्या की कोशिश हुई। हिप्स व सिर में गंभीर चोटें हैं।

एम्स में बच्ची की हालत स्थिर बनी हुई है। सूत्रों के मुताबिक, डॉक्टरी जांच में निजी अंगों में चोट भी है। पड़ोसियों ने उसके माता-पिता को

हादसे की जानकारी दी। फिलहाल मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार है। पुलिस अफसर के मुताबिक, बिल्डिंग में रहने वाले सभी मौजूद और

गैरमौजूद लोगों की जांच पड़ताल की गई है। आसपास के सीसीटीवी कैमरों को भी कब्जे में लिया है। आरोपी जल्दी गिरफ्त में होंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Our COVID-19 India Official Data
Translate »
error: Content is protected !! Contact ATAL HIND for more Info.
%d bloggers like this: