AtalHind
टॉप न्यूज़

ज़मानत देने के लिए कठिन शर्तें लगाना ज़मानत से इनकार करने के समान: सुप्रीम कोर्ट

bel

ज़मानत देने के लिए कठिन शर्तें लगाना ज़मानत से इनकार करने के समान: सुप्रीम कोर्ट

belनई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि जमानत देने के लिए ‘कठिन शर्तें’ लगाना जमानत से इनकार करने के समान है.

Advertisement

शीर्ष अदालत ने यह टिप्पणी उड़ीसा उच्च न्यायालय के उस आदेश को खारिज करते हुए की जिसमें धोखाधड़ी के मामले में जमानत की मांग करने वाले एक व्यक्ति के आवेदन को अनुमति देते हुए 20 लाख रुपये की नकद जमानत राशि और 20 लाख रुपये की अचल संपत्ति की शर्त लगाई गई थी.

जस्टिस एल. नागेश्वर राव और जस्टिस बीआर गवई की पीठ ने 12 नवंबर के अपने आदेश में कहा, ‘हमारा विचार है कि जमानत देने के लिए कठिन शर्तें लगाना जमानत से इनकार करने के समान है.’शीर्ष अदालत ने आरोपी की याचिका का निपटारा करते हुए आदेश पारित किया, जिसने अपनी जमानत अर्जी को स्वीकार करने के लिए उच्च न्यायालय द्वारा लगाई गई शर्त को चुनौती दी थी.

इसने 20 लाख रुपये की नकद जमानत राशि और 20 लाख रुपये की अचल संपत्ति की शर्त लगाने के उच्च न्यायालय के आदेश को दरकिनार कर दिया.

Advertisement

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, पीठ ने कहा, ‘हम उच्च न्यायालय द्वारा याचिकाकर्ता को 20 लाख रुपये की नकद सुरक्षा प्रदान करने और 20 लाख रुपये की अचल संपत्ति की सुरक्षा प्रस्तुत करने के लिए उच्च न्यायालय द्वारा लगाई गई शर्त से संबंधित उच्च न्यायालय के आदेश को रद्द करते हैं.’

पीठ ने कहा कि याचिकाकर्ता 420 (धोखाधड़ी) सहित भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की विभिन्न धाराओं और प्राइज चिट और धन संचलन योजना (प्रतिबंध) अधिनियम के प्रावधानों के तहत दंडनीय कथित अपराधों के मामले में एक आरोपी है.

याचिकाकर्ता ने शीर्ष अदालत को बताया कि उसके द्वारा जमानत के लिए दायर एक आवेदन को मार्च में उच्च न्यायालय ने स्वीकार कर लिया था, जो 20 लाख रुपये नकद जमा करने और इतनी ही राशि की अचल संपत्ति की सुरक्षा प्रदान करने के अधीन था.

Advertisement

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Share this story

Advertisement
Advertisement

Related posts

शहीद सुखबीर सिंह यादव के नाम पर हीरो होंडा से बसई चौक तक का मार्ग

atalhind

मीडिया की ओर से की गई सरकार की आलोचना नहीं हो सकती राजद्रोह

admin

महिलाओं की दो टूक प्लाट का जल्द मिले कब्जा नहीं तो बीडीपीओ ऑफिस में ही बसेरा

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL