AtalHind
क्राइमगुरुग्रामटॉप न्यूज़

1 करोड़ 97 लाख रुपए की ठगी

1 करोड़ 97 लाख रुपए की ठगी

पीड़ित से ठगी गयी राशि को 15 बैंक खातों में ट्रांसफर किया गया

इंन्शुरेन्स पॉलिसी के नाम पर पर फ्रॉड करने वाले 04 आरोपी गिरफ्तार

Advertisement

60 लोगों के साथ इन्शुरन्स/लोन देने के नाम पर 06 करोड रुपयों की ठगी

आरोपियों की पहचान परविंद्र उर्फ भूरा, मोहित कौशिक, आकाश सक्सेना व विजय सिंह के रूप मे हुई

Advertisement

अटल हिन्द ब्यूरो /फतह सिंह उजाला
गुरुग्राम 18 दिसम्बर ।बीती 06.मई.2023 को एक व्यक्ति ने पुलिस थाना साईबर अपराध पूर्व, गुरुग्राम में एक लिखित शिकायत इंन्शुरेन्स पॉलिसी की समस्या का समाधान करने के नाम पर इसके बैंक खाता से लगभग 1 करोड़ 97 लाख रुपए की ठगी करने के संबध मे दी गई। प्राप्त शिकायत की पुष्टि करने उपरान्त पुलिस थाना साईबर अपराध पूर्व, गुरुग्राम में संबंधित धाराओं के तहत अभियोग अंकित किया गया।

विपिन अहलावत, सहायक पुलिस आयुक्त साईबर अपराध, गुरुग्राम के नेतृत्व मे निरीक्षक जसवीर, प्रबन्धक पुलिस थाना साईबर अपराध पूर्व, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने कार्यवाही करते हुए पुलिस तकनीकी की सहायता से उपरोक्त अभियोग में 04 आरोपियों को दिनांक 16. दिसंबर.2023 को काबू करने में सफलता हासिल की। आरोपियों की पहचान परविंद्र उर्फ भूरा निवासी माधुपूरा विजयनगर जिला गाजियाबाद, मोहित कौशिक लोनी रोड भोपरा डिफेन्स कॉलोनी जिला गाजियाबाद, आकाश सक्सेना निवासी प्रताप विहार विजय नगर जिला गाजियाबाद व विजय सिंह निवासी बरोला सैक्टर-49, नोएडा जिला गौतमबुधनगर के रूप मे हुई है। पुलिस टीम द्वारा आरोपी परविंद्र उर्फ भूरा को डिस्ट्रिक्ट पार्क न्यू दिल्ली से, आरोपी मोहित कौशिक को भोपरा चौक उत्तर-प्रदेश से, आरोपी आकाश सक्सेना को प्रताप नगर विजयनगर, गाजियाबाद से व आरोपी विजय सिंह को सैक्टर-49, नोएडा (उत्तर-प्रदेश) से गिरफ्तार किया गया।

आरोपियों से पुलिस पूछताछ में ज्ञात हुआ कि उपरोक्त अभियोग में पीड़ित ने इंश्योरेंस कंपनी में अपनी शिकायत का समाधान करने के लिए शिकायत की हुई थी। आरोपियों ने पीड़ित से इंश्योरेंस पॉलिसी ऑफिसर बनकर इसकी समस्या का समाधान करने के नाम पर पीड़ित से ठगी की वारदात को अंजाम दिया था। उपरोक्त आरोपियों में आरोपी आकाश सक्सेना ने पीड़ित को कॉल के माध्यम से संपर्क किया व अपने आपको इंश्योरेंस कंपनी का शिकायत अधिकारी बताया व पीड़ित को उसकी शिकायत दूर करने का प्रलोभन देकर फाईल चार्ज, टी.डी.एस. चार्ज, ऑफिस फाईल चार्ज व अन्य प्रकार की बातों में फंसाकर पीड़ित के बैंक खाता से 01 करोड़ 97 लाख की ठगी की वारदात को अंजाम दिया।

Advertisement

पुलिस जांच मे यह सामने आया है कि पीड़ित से ठगी गयी राशि को 15 बैंक खातों में ट्रांसफर किया गया था जिसे आरोपी परविंद्र उर्फ भूरा व मोहित निकाल लेते थे जिसके लिए उन्हें 8℅ कमीशन मिलता था, व आरोपी विजय उन रुपयों को किसी अन्य व्यक्ति को अपना कमिशन काट कर देता था। उपरोक्त चारों आरोपी अब तक लगभग 60 लोगों के साथ इन्शुरन्स/लोन देने के नाम पर 06 करोड रुपयों की ठगी की वारदातों को अंजाम दे चुके है। पूछताछ व बरामदगी के लिए आरोपियों को अदालत में पेश करके 05 दिन के पुलिस हिरासत रिमांड पर लिया गया है।

Advertisement

Related posts

मुफ्त वेबसाइट कैसे बना सकते हैं,

atalhind

आख़िर कब तक गृहणियां पारिवार या शादी से जुड़े मसलों को लेकर आत्महत्या से जूझती रहेंगी?

editor

2020 में सबसे ज़्यादा दिहाड़ी मज़दूरों ने आत्महत्या की: एनसीआरबी

admin

Leave a Comment

URL