Take a fresh look at your lifestyle.

कंजकों को अपने अपने घर बुलाने की मची होड़—- अष्टमी पर्व के दिन कंजकों की खली कमी-

लड़कियों की कमी के कारण अष्टमी पर्व के दिन भर लोगो को भटकना पड़ा।

कंजकों को अपने अपने घर बुलाने की मची होड़—-
अष्टमी पर्व के दिन कंजकों की खली कमी——
कैथल
दुर्गा अष्टमी के दिन छोटी छोटी कंजकों को अपने घर पर पूरी श्रद्धा के साथ भोजन कराने की परंपरा है कंजकों से आश्रीवाद प्राप्त करना माता रानी का अश्रीवाद माना जाता है लेकिन गांव से लेकर शहर में लड़कियों की कमी के कारण अष्टमी पर्व के दिन भर लोगो को भटकना पड़ा। रविवार का दिन होने के बाबजूद लोगो को कंजकों के इन्जार कई घरों के बाहर भी करते देखा गया माना जाता है कि कंजकों को भोजन करा कर ही श्रदालु व्रत खोलते हैं। अष्टमी के दिन हलवा, पूरी ओर काले चने का पकवान तकरीबन हर घर मे बनता है। लेकिन इनको अपने घर पर बुला कर भोजन करना लोगो को सुबह से ही कंजकों को बुलाने की तैयारी में जुट गए। कंजक न मिलने पर कई लोगों ने मंदिरों के बाहर बैठी कन्याओं को घर बुलाकर भोजन कराया, तो कुछ ने झुग्गी बस्ती में जाकर कन्याओं को भोजन कराया और रुपये, कपड़े, टॉफी, चाकलेट, फल आदि भेंट किए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

जरूरतमंद लोगों की सहायता के लिए आगे आए समाजिक संगठन : अशोक सिंघल     |     लाडवा हल्के के विकास कार्यों के लिए नहीं आने दी जाएगी धन की कमी : कैलाशो     |     सोमवार आधी रात को बदल गया  भारत , और मंगलवार को डिब्रूगढ़ में  हुई आगजनी     |     E PAPER     |     SALT-चुटकी भर नमक की कीमत तुम क्या जानो जनाब ?     |     होमवर्क न करने पर मुह काला कर घुमाया स्कूल में     |     मामा ने अपनी भानजी की शादी में भात में पांच क्विंटल प्याज दिये     |     कैथल में तीसरी बार फिर औंधे मुंह गिरा जिला परिषद का विपक्ष,सुखविंदर कौर आंधली की सरदारी बरकरार     |     kalayat-कुर्सी बचाने के लिए 17 दिसंबर को बीडीपीओ कार्यालय में प्रधान को करना होगा पूर्ण बहुमत साबित     |     बगावत करने वालों को पार्टी दिखाएगी बाहर का रास्ता,जननायक जनता पार्टी का एक साल का सफर     |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000