Atal hind
Uncategorized

28 महीने बाद राम रहीम से सुनारिया जेल में मिली हनीप्रीत

28 महीने बाद राम रहीम से सुनारिया जेल में मिली हनीप्रीत

रोहतक(ATAL HIND) साध्वी यौन शोषण मामला व पत्रकार छत्रपति हत्याकांड में सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम से उनकी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत ने करीब 28 महीने बाद मुलाकात की है। हनीप्रीत सोमवार को सुनारिया जेल में मिलने पहुंची। यह मुलाकात सोमवार को दोपहर दो से तीन बजे के बीच हुई। बताया जा रहा है कि हनीप्रीत तीन वकीलों को साथ लेकर सुनारिया जेल पहुंची,राम रहीम से मिली और लौट गई। हनीप्रीत के साथ आने वाले वकीलों की पहचान संदीप कामरा,राजेंद्र सिंह सरां और हरीश छाबड़ा के रूप में हुई। गौरतलब है कि हनीप्रीत छह नवंबर को जेल से जमानत पर रिहा हुई थी। जेल से बाहर आने के बाद से वह सिरसा डेरे में रह रही है। वहीं, वह लगातार राम रहीम से मिलने के प्रयास कर रही थी,लेकिन अनुमति नहीं दी जा रही थी और सोमवार को अचानक मुलाकात हो जाने की खबर सामने आ गई। दरअसल,हनीप्रीत ने सुनारिया जेल प्रशासन को चि_ी भेजकर राम रहीम से मुलाकात की अनुमति मांगी थी। इसके बाद जेल प्रशासन ने सिरसा पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर पूछा था कि हनीप्रीत की राम रहीम से मुलाकात को लेकर सिरसा पुलिस को कोई आपत्ति तो नहीं है। सिरसा के कार्यवाहक एसपी विजय प्रताप सिंह ने रविवार को सुनारिया जेल अधीक्षक को बंद लिफाफे में अपना जवाब भेजा था। सूत्र के मुताबिक,केस की जांच और कानून व्यवस्था प्रभावित होने का अंदेशा जताते हुए जेल में इस मुलाकात पर सिरसा पुलिस ने आपत्ति जताई थी। इससे पहले दोनों 25 अगस्त 2017 को मिले थे,जब साध्वी यौन शोषण मामले में गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दिया गया था। हनीप्रीत और राम रहीम की मुलाकात को लेकर प्रशासन की काफी अड़चने आड़े आ रही थी लेकिन अनिल विज के गृह मंत्री बनते ही उन्होंने इस मुलाकात को लेकर सॉफ्ट कॉर्नर अपना लिया था। कयास लगाए जा रहे हैं कि इसके बाद ही पुलिस ने गुपचुप तरीके से मुलाकात को मंजूरी दी है। हनीप्रीत व गुरमीत राम रहीम की मुलाकात को लेकर सिरसा पुलिस ने अपनी रिपोर्ट सुनारिया जेल सुपरिंटेंडेंट में भेजी थी। पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में हनीप्रीत को डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की सबसे बड़ी राजदार माना है। ऐसे में दोनों की बीच मुलाकात होने से सिरसा में कानून व्यवस्था बिगडऩे और अशांति फैलने की आशंका जताई थी। इसके बाद मुलाकात का मामला खटाई में पड़ गया था। लेकिन जैसे ही अनिल विज ने गृह मंत्री के रूप में कमान संभाली तो उन्होंने सॉफ्ट कॉर्नर दिखाना शुरू कर दिया था। प्रेसवार्ता के दौरान अनिल विज ने कहा था कि हर कैदी को मुलाकात का हक है। वे पुलिस को आदेश देंगे कि दोबारा इसमें जांच करे। कयास लगाए जा रहे हैं कि पुलिस ने गुपचुप तरीके से हरी झंडी दे दी,जिसके बाद मुलाकात संभव हो पाई है।
जमानत मिलने के बाद सीधे डेरा सच्चा सौदा पहुंची थी हनीप्रीत
बता दें कि पंचकूला जिला अदालत से 7 नवंबर को जमानत मिलने के बाद हनीप्रीत अंबाला जेल से सिरसा डेरा सच्चा सौदा पहुंची। हनीप्रीत फिलहाल डेरा सच्चा सौदा में ही रह रही है 12 नवंबर को शाह मस्ताना के अवतार दिवस पर डेरा में आयोजित कार्यक्रम में हनीप्रीत पहली बार दिखी थी।
25 अगस्त 2017 को भड़की थी हिंसा
साध्वी यौन शोषण मामले में पंचकूला सीबीआई कोर्ट ने 25 अगस्त 2017 को फैसला सुनाना था। 17 अगस्त 2017 को डेरा मुखी की अगुवाई में डेरा प्रबंधन समिति की अहम पदाधिकारियों व करीबियों की बैठक हुई। 25 अगस्त को सीबीआई कोर्ट ने जैसे ही गुरमीत राम रहीम को साध्वी रेप केस में दोषी करार दिया तो सिरसा में हिंसा भड़क उठी और हजारों डेरा अनुयायियों ने वीटा मिल्क प्लांट व बेगू बिजली घर में पेट्रोल बम फेंककर आग लगा दी।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Leave a Comment

URL