Take a fresh look at your lifestyle.
corona

HARYANA-अनिल विज को पावरफुल मंत्री बनाना भाजपा की रणनीति का हिस्सा

विज को पावरफुल मंत्री बनाना भाजपा की रणनीति का हिस्सा

-राजकुमार अग्रवाल –

चंडीगढ़ । हरियाणा के नवनियुक्त गृह मंत्री अनिल विज को ताकतवर मंत्री बनाने का आधार वरिष्ठता और अनुभव तो है ही, इससे अलग एक बड़ा कारण भी है। हरियाणा सरकार में बढ़े विज के रूतबे के कई राजनीतिक कारण हैं। भाजपा-जजपा गठबंधन की सरकार में अनिल विज को डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के मुकाबले एक रणनीति के तहत ताकतवर बनाया गया है। विज और दुष्यंत के बीच पुराना छत्तीस का आंकड़ा रहा है और मानहानि उनका एक मामला अदालत में चल रहा है। आम जनता खासकर अंबाला में विज को उनके तेवर के कारण गब्बर सिंह’ के नाम से भी जाना जाता है। फिल्म शोले में गब्बर सिंह का किरदार निगेटिव अंदाज में देखा जाता है, लेकिन विज ने अपनी सरकार के पिछले कार्यकाल में जिस तरह बोल्ड फैसले लिए, उन्हें देखकर लोग विज को सिर आंखों पर बैठाते नहीं थकते। प्रदेश के लोग अनिल विज के फैसलों की तुलना गब्बर सिंह के इस डायलाग से करते हैं कि जो डर गया समझो मर गया। विज वह मंत्री हैं, जिनके यहां हर व्यक्ति और कर्मचारी की सुनवाई होती रही है। कई अवसरों पर कैबिनेट की बैठकों में भी विज अपने साथी मंत्रियों से टकराने से नहीं चूके। स्पष्ट बात कहने के आदी विज पर इस बार रणनीतिक अंदाज में भरोसा जताया गया है। अंबाला छावनी से छठी बार विधायक बने विज सरकार में सबसे सीनियर हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व वाली भाजपा-जजपा गठबंधन की सरकार में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला और अनिल विज के बीच पुराना छत्तीस का आंकड़ा है। हालांकि गठबंधन के बाद दोनों एक दूसरे का सम्मान करते नजर आ रहे हैं और पुरानी कटुता पर मिट्टी डालने का दावा कर रहे हैं। लेकिन, राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि ऐसा नहीं कहा जा सकता कि आग पूरी तरह बुझ गई है। सबकुछ ठीकठाक रहा तो थोड़े समय बाद यह आग बुझ सकती है। 10 विधायकों के साथ जजपा इस बार भाजपा सरकार में गठबंधन की बड़ी सहयोगी पार्टी है। दुष्यंत चौटाला इस सरकार में सीएम के बाद दूसरे नंबर के मंत्री (डिप्टी सीएम) हैं। अनिल विज को यह किसी भी सूरत में स्वीकार नहीं था कि शाही रुतबे में वह दुष्यंत चौटाला से कमतर दिखें। विज ने हालांकि खुद आगे होकर सरकार से कभी कोई पद नहीं मांगा, लेकिन सरकार के लोग यह अच्छी तरह जानते थे कि यदि थोड़ी भी ऊंच-नीच हुई तो बवाल तय है। भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने इस मौके का राजनीतिक फायदा उठाने में जरा भी देरी नहीं लगाई। डिप्टी सीएम को भले ही 10 विभाग दिए गए, लेकिन अनिल विज को गृह, स्वास्थ्य, शहरी निकाय, मेडिकल एजुकेशन और तकनीकी शिक्षा सरीखे अहम विभाग देकर सरकार में दुष्यंत से ज्यादा पावरफुल बनाने का संदेश दिया गया है। राजनीति के जानकारों का कहना है कि विज को पावरफुल बनने से दुष्यंत का सिस्टम दूसरे की बजाय तीसरे नंबर पर रहेगा, जबकि तकनीकी तौर पर पद के लिहाज से दुष्यंत चौटाला सीएम के बाद दूसरे नंबर पर और अनिल विज तीसरे नंबर पर हैं। राजनीतिक तौर पर भी यदि दोनों पार्टियों के बीच भविष्य में किसी तरह के तालमेल को आगे बढ़ाने या फिर नई दिशा मिलने की बात आई तो अनिल विज को ढाल बनाया जा सकता है। वैसे फिलहाल दुष्यंत चौटाला और उनके थिंक टैंक की सोच अनिल विज को लेकर बेहद सकारात्मक है।

प्रदेश के इतिहास में पहली बार सीआईडी सीएम के पास नहीं
प्रदेश के इतिहास में पहली बार सीआईडी सीएम के पास नहीं रहेगी। इस बार गृहमंत्री अनिल विज को ही रिपोर्ट होगी। प्रदेश में जब भी गृहमंत्री बनाया तो मंत्री के नाम के सामने गृह विभाग बिना सीआईडी के लिखा या फिर सीएम के विभागों में सीआईडी लिखा जाता है। गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि सीआईडी उनके साथ गृह विभाग में रहेगा। प्रदेश में पहली बार 1977 में जनता पार्टी की सरकार में मंगल सैन को गृह मंत्री बनाया था। तब बाकायदा नोटिफिकेशन में मंगल सैन को दिए गृह विभाग के आगे ब्रेकिट में सीआईडी के बिना लिखा हुआ था। इसी प्रकार 1996 में जब चौधरी बंसीलाल की सरकार बनी तो मनीराम गोदारा गृहमंत्री बने। उस वक्त नोटिफिकेशन जारी हुआ, उसमें गोदारा के विभागों में गृह लिखा था, लेकिन चौधरी बंसीलाल ने जो अपने पास विभाग रखे, उनमें सीआईडी अलग से लिखा था। 53 वर्ष के इतिहास में बेशक कुछ बार तत्कालीन मुख्यमंत्रियों ने गृह विभाग किसी वरिष्ठ सहयोगी को दिया, लेकिन सीआईडी को कभी अलग नहीं होने दिया। 10 वर्ष पहले नवंबर 2009 में तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेंद्र ने सिरसा से निर्दलीय विधायक गोपाल कांडा को गृहराज्य मंत्री बनाया था, हालांकि अगस्त, 2012 में उन्हें पद से त्यागपत्र देना पड़ा था, लेकिन सीआईडी हुड्डा के पास रहा। सीएम मनोहर लाल ने भी पिछले कार्यकाल में अपने पास रखा था। इससे पहले 1998 से 2005 तक सीएम रहे ओपी चौटाला ने अपने पास रखा था।

महाराष्ट्र में सरकार के मोह में कुछ पार्टियां निर्वस्त्र हो गई
गृह मंत्री अनिल विज ने महाराष्ट्र में शिव सेना, कांग्रेस के गठबंधन पर तंज कसते हुए कहा कि महाराष्ट्र में सरकार के मोह में कुछ पार्टियां निर्वस्त्र हो गई हैं। कांग्रेस और शिव सेना ने हमेशा एक दूसरे के खिलाफ राजनीति की है। हमेशा एक-दूसरे की विचारधारा का विरोध किया है। राम मंदिर के बारे में शिव सेना कहती थी कि मंदिर हम बनाएंगे। वहीं राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया तो सोनिया गांधी ने कहा कि ऐसा लगता है कि पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट से फैसला आया हो। विचारधारा में इतनी भिन्नता होने के बावजूद, सत्ता के लालच में एक दूसरे के करीब आ रहे हैं। अपनी-अपनी विचारधारा का त्याग कर दिया है। विज ने कहा कि ये चार दिन की चांदनी है।

राहुल गांधी को बताया झूठ की फैक्ट्री
अनिल विज ने कहा कि राहुल गांधी लंबे समय से देश को गुमराह कर रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट से चेतावनी दिए जाने के बाद भी उन्हें समझ नहीं आ रहा। राहुल गांधी झूठ बोलने की फैक्ट्री है। अपनी फैक्ट्री में झूठ बनाकर लोगों के सामने रखते हैं। आज तक एक भी तथ्य कोर्ट में नहीं रख पाए। सरकार ने राफेल के मुदे को हर मंच पर साफ कर दिया लेकिन राहुल गांधी उलझा कर रखना चाहते हैं। खुद भी कन्फ्यूज हैं और दूसरों को भी कन्फ्यूज कर रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

हरियाणा: लॉकडाउन में 3500 परिवारों को , गांव नहीं जाने दिया, अब भूखा मार रहे     |     मुख्यमंत्री मनोहर लाल  को  नियम कानून का पालन करने की जरूरत नहीं थी  ?कोरोना वायरस के चलते 14 मार्च को करनाल में आयोजित कार्यक्रम में हुए थे शामिल      |     हरियाणा में मरीजों की संख्या हुई 25,पंचकूला में स्टाफ नर्स की रिपोर्ट पॉजिटिव     |     मानवता की सेवा के लिए कांग्रेस नेता मनदीप ने किया राशन वितरण,कहा भूखे व्यक्ति का पेट भरना है सच्ची सेवा     |     सरस्वती ड्रेन में युवक की लाश मिलने से फैली सनसनी, परिजनों ने जताई हत्या की आशंका     |     गुलाबी, पीले और खाकी राशन कार्ड धारकों को अप्रैल माह का राशन मुफ्त – CM     |     फेसबुक पर दोस्त बनाया और भाग गई उसके बाद,,,,,     |     Hariyana- शासन-प्रशासन में हड़कंप मचा डाला,हेलीमंडी में 40 मुस्लिमों के मौजूद होने की  मिली सूचना     |     सकंट की घड़ी में देश के साथ है नंबरदार : उपदेश     |     दुधारू पशुओं से नहीं फैलता है कोरोना वायरस : डा. राजन     |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000