Atal hind
चरखी दादरी टॉप न्यूज़ शिक्षा

41 स्कूलों को नोटिस जारी,चरखी दादरी के स्कूलों में उड़ाई जा रही थी कोरोना कानून की धज्जीयां 

41 स्कूलों को नोटिस जारी,चरखी दादरी के स्कूलों में उड़ाई जा रही थी कोरोना कानून की धज्जीयां
कोविड प्रोटोकॉल फोलो नहीं करने वाले स्कूलों पर जुर्माना नहीं लगाने पर डीईओ से भी उपायुक्त ने मांगा जवाब
Notice issued to 41 schools, Charkhi Dadri schools were being torn apart by Corona law
Deputy Commissioner also asked DEO for not imposing penalty on schools which failed to follow Kovid Protocol
charkhi dadri news (atal hind) जिला प्रशासन एक तरफ तो आम लोगों पर कोविड 19 नियमों का उल्लंघन पर चालान सहित धारा 188 के तहत कार्रवाई कर रहा है। दूसरी तरफ खुद सरकारी स्कूलों का स्टॉफ ही इन नियमों की धज्जियां उड़ा रहा है। जबकि स्कूलों में सैंकड़ों बच्चे हर रोज शिक्षा लेने के लिए आते हैं। जिन्हें भी कोरोना संक्रमित होने का डर सता रहा है। ऐसे में डीसी के निर्देश पर शिक्षा विभाग अधिकारी ने सभी सरकारी स्कूलों का निरक्षण किया था। जिसमें 41 ऐसे स्कूल सामने आए हैं जहां कोविड 19 की गाइडलाइनों का उल्लंघन किया जा रहा था। इन स्कूल मुखियाओं को कारण बताओं नोटिस जारी कर दिया है। जबकि इन नियमों का पालन करवाने के लिए विभाग सभी स्कूलों में अलग से बजट भी जारी करता है। बावजूद इसके कोरोना महामारी में बच्चों की जिंगदी से खिलवाड़ किया जा रहा है।

 निरीक्षण के दौरान यह मिली खामियां।
पिछले दो महीने से दौबारा कोरोना संक्रमण तेजी से फैलना शुरू हो गया है। जिस कारण कोरोना मुक्त जिला दादरी में एक बार फिर से 47 एक्टिव केस हो गए हैं। ऐसे में उपायुक्त के निर्देश पर डीईओ ने सभी सरकारी स्कूलों का निरीक्षण किया ताे काफी खामियां सामने आई हैं। जिले के 41 सरकारी स्कूलों में कमियां मिली हैं। इन स्कूलों में बच्चे ही नहीं बल्कि स्टॉफ सदस्य भी बिना फेस मास्क मिले थे। स्कूल के अंदर प्रवेश करते समय हाथ सैनिटाइज व थर्मल स्क्रीनिंग नहीं की जा रही थी। बच्चों के हाथ धोने के लिए साबुन तक नहीं मिला। कक्षाओं में भी सैनिटाइजर छिड़काव नहीं मिला था। सबसे बड़ी बात तो कक्षाओं में सोशल डिस्टेंस भी नहीं था।

स्कूलों पर कार्रवाई नहीं होने पर डीईओ को भी नोटिस।
स्कूलों का निरीक्षण करने के लिए उपायुक्त ने जिला शिक्षा अधिकारी जयप्रकाश सभ्रवाल को नियुक्त किया था। जिन्होंने 41 स्कूलों की लिस्ट थमाई जहां कोविड 19 नियमों का उल्लंघन हो रहा था। ऐसा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए उपायुक्त ने 500 रूपये जुर्माना या फिर धारा 188 के तहत केस दर्ज करवाने के भी निर्देश जारी किए हुए हैं। मगर डीईओ ने सिर्फ निरीक्षण के दौरान खामियां जांची लेकिन कोई चालान या जुर्माना नहीं लगाया। ऐसे में उपायुक्त ने डीईओ जेपी सभ्रवाल को भी नोटिस जारी करते हुए इन स्कूलों के स्टाफ के खिलाफ राजस्व आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्रवाई नहीं करने का कारण पूछा है।
स्कूलों की जांच के लिए बनाई तीन टीमे।
उपायुक्त के निर्देश पर सभी सरकारी स्कूलों का निरीक्षण कर लिया गया है। अब प्राइवेट स्कूलों में जाकर कोविड 19 नियमों को जांचा जाएगा। प्राइवेट स्कूलों का निरीक्षण करने के लिए उपायुक्त ने तीन टीमे बनाई हैं। इनमें जिला शिक्षा अधिकारी जयप्रकाश सभ्रवाल मंगलवार, शनिवार व रविवार को निरीक्षण करेंगे। वहीं आटीए सचिव दर्शना भारद्वाज और सोमवार व गुरुवार को और रोडवेज महाप्रबंधक रविश हुड्डा बुधवार और शुक्रवार को स्कूल परिसरों और बसों की जांच करेंगे। जो भी प्राइवेट स्कूल नियमों की उल्लंघना करता मिलता है तो उसके खिलाफ नोटिस जारी होगा बाद में उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
 कोरोना प्रोटोकॉल पूरा नहीं करने वाले इन स्कूलों को भेजे नोटिस।
राजकीय माध्यमिक विद्यालय डुडीवाला किशनपुरा, राजकीय कन्या उच्च विद्यालय मिसरी व समसपुर, राजकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय झिंझर, राजकीय कन्या प्राथमिक पाठशाला बौंद कलां व बेरला, राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बौंद कलां,चरखी दादरी, ढाणी फोगाट व सांवड़। राजकीय उच्च विद्यालय ढाणी फोगाट, महराणा, रासीवास, रावलधी, सौंफ कासनी व तिवाला। राजकीय माध्यमिक विद्यालय अटेला कलां, बधवाना, गोठड़ा, हंसावास कलां, लाम्बा, मालकोष, मिर्च व पातुवास, राजकीय प्राथमिक पाठशाला बौंद कलां, भागवी, कमोद, खेड़ी बुरा, मिर्च, पातुवास, रावलधी व सरूपगढ़, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बौंद कलां, चांदवास, छपार, डोहका मोजी, नरसिंहवास, सांवड़, भागेश्वरी, झिंझर और शहीद दलबीर सिंह राजकीय मॉडल संस्कृति विद्यालय चरखी दादरी को उपायुक्त ने डीईओ के माध्यम से नोटिस जारी करवाए हैं।
कोरोना बचाव के लिए प्रोटोकॉल को करे फोलो : उपायुक्त।
उपायुक्त राजेश जोगपाल ने कहा कि जिला के सभी स्कूलों में कोरोना से बचाव के प्रोटोकॉल को जरूर फोलो करें। स्कूल में सैनिटाइजर या हाथ धोने के लिए साबुन जरूर रखा हो। कक्षा में बच्चे उचित दूरी पर बैठे हों और स्टॉफ सहित बच्चों के मुंह पर मास्क जरूर लगा होना चाहिए। प्रतिदिन स्कूल बस व कक्षाएं भी सैनिटाइज की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि भविष्य में जिला का कोई भी सरकारी या निजी स्कूल कोविड प्रोटोकॉल को पूरा नहीं करता पाया जाता है तो उसके खिलाफ राजस्व आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी। ऐसे ही 41 स्कूलों को नोटिस जारी किए गए हैं।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

मनोहर  सरकार ने पूरी दिलचस्पी दिखाई महेंद्रगढ़ में एडीजे कोर्ट बैठाने में 

admin

अब अचानक ऐसा क्या हो गया की  हरियाणा सरकार   भवन व अन्य निर्माण कार्यों से जुड़ी पंजीकृत कंपनियों के लिए पैसा लुटाने को तैयार हो गई

Sarvekash Aggarwal

नायब सैनी को काले झंडे,सांसद की गाड़ी की चपेट में आने से  दीप बालू को लगी चोट 

admin

Leave a Comment

URL