Take a fresh look at your lifestyle.

दुष्यंत चौटाला ने हरियाणा के दिग्गजों को पछाड़ा ,चाबी लेकर पहुंचे सत्ता के गलियारे में 

दुष्यंत चौटाला ने हरियाणा के दिग्गजों को पछाड़ा ,चाबी लेकर पहुंचे सत्ता के गलियारे में
–राजकुमार अग्रवाल –
चंडीगढ़। जननायक जनता पार्टी मुखिया दुष्यंत चौटाला 31 साल की उम्र में अपनी पार्टी को मान्यता प्राप्त दल का दर्जा दिवाकर दिग्गज नेताओं से आगे निकल चुके हैं गए हैं। उनकी पार्टी के चुनाव निशान “चाबी” ने सत्ता में हिस्सेदारी हासिल करते हुए सफलता का नया इतिहास रच दिया है। दुष्यंत चौटाला ने जेजेपी के गठन के 10 महीनों के अंदर ही उसे मान्यता का पार्टी का दर्जा दिलवाकर सबसे कम उम्र में खास उपलब्धि हासिल करने का कारनामा कर दिखाया है.दुष्यंत चौटाला से पहले प्रदेश में कई दिग्गज नेताओं ने कांग्रेस से नाराज होकर क्षेत्रीय पार्टियों का गठन किया था। राव बीरेंद्र सिंह, चौधरी देवीलाल, चौधरी बंसीलाल और चौधरी भजनलाल ने बड़े राजनीतिक रुतबे को हासिल करने के बाद अपनी पार्टियों का गठन किया था।

दिग्गजों से आगे निकले दुष्यंत

दुष्यंत चौटाला ने बेहद कम उम्र में बेहद बड़ी चुनौती के साथ जननायक जनता पार्टी का गठन किया। सभी दिग्गज नेताओं के मुकाबले उनका अनुभव बेशक कम था लेकिन सफलता के मुकाम पर वे सभी बड़े नेताओं से आधी उम्र में पहुंचे हैं।
25 साल की उम्र में देश के सबसे युवा सांसद का रिकॉर्ड अपने नाम कराने के बाद दुष्यंत ने 30 साल की उम्र में अपनी पार्टी बनाते हुए 31 साल की आयु में न केवल सत्ता में हिस्सेदारी भी हासिल की बल्कि उसके साथ-साथ अपने 10 महीने पुरानी पार्टी को मान्यता प्राप्त दल का दर्जा दिलवाकर नया इतिहास रच दिया‌।
इतनी कम उम्र में दूसरा कोई भी दिग्गज नेता अपनी पार्टी का गठन नहीं कर पाया था।

राव बीरेंद्र सिंह ने बनाई पहली क्षेत्रीय पार्टी

अहीरवाल के दिग्गज नेता बीरेंद्र सिंह ने 31 साल की उम्र में 1952 में किसान मजदूर पार्टी के नाम से पहली क्षेत्रीय पार्टी बनाई। इस पार्टी को सियासी सफलता हासिल नहीं हो पाई। इसके बाद उन्होंने 1967 में विशाल हरियाणा पार्टी का गठन किया और 7 महीने तक प्रदेश के दूसरे सीएम बनने का गौरव हासिल किया। पहली क्षेत्रीय पार्टी का मुख्यमंत्री बनते समय बीरेंद्र सिंह की उम्र 46 साल थी। 1978 में इंदिरा गांधी के कहने पर अपनी पार्टी का विलय कांग्रेस में कर दिया था।

चौधरी देवीलाल ने कायम की सफलता की सबसे बड़ी मिसाल

कांग्रेस से सियासी कैरियर आरंभ करने वाले जननायक चौधरी देवी लाल ने 1971 में उसे अलविदा कह दिया। 1977 में जनता पार्टी के बैनर के नीचे चुनाव लड़ते हुए बंपर जीत दर्ज करते हुए वे पहली बार सीएम बने। उसके बाद 1987 में लोकदल के निशान पर चुनाव लड़कर उन्होंने 85 सीटें जीतकर ऐतिहासिक सफलता हासिल की। 1989 में वे जनता दल में शामिल हो गए और प्रधानमंत्री पद वीपी सिंह को सौंपकर त्याग की सबसे बड़ी मिसाल कायम की। 1996 में चौधरी देवीलाल ने इंडियन नेशनल लोकदल की स्थापना की। 2000 में उनकी पार्टी सत्ता की सरताज बनी लेकिन उस समय बुजुर्ग हो जाने के कारण वे सरकार के मुखिया नहीं बने। चौधरी देवीलाल ने 82 साल की उम्र में इंडियन नेशनल लोकदल की स्थापना की।

13 साल पार्टी चलाई बंसीलाल ने

प्रदेश के चार बार सीएम बनने वाले विकास पुरुष चौधरी बंसीलाल ने कांग्रेस से निकाले जाने के बाद 1991 में हरियाणा विकास पार्टी का गठन किया। हविपा ने 1996 में भाजपा के साथ गठबंधन करते हुए सत्ता हासिल की। चौधरी बंसीलाल ने 64 साल की उम्र में हरियाणा विकास पार्टी बनाई थी और 69 साल की उम्र में अपनी पार्टी की सरकार बनने पर सीएम बने थे। 2004 में उन्होंने अपनी पार्टी का विलय कांग्रेस में कर दिया।

भजनलाल ने 70 साल की उम्र में बनाई हरियाणा जनहित कांग्रेस

तीन बार प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने वाले चौधरी भजनलाल ने 2004 के चुनाव में कांग्रेस को हरियाणा में जोरदार सफलता दिलाई लेकिन पार्टी हाईकमान ने उनकी मेहनत को अनदेखा करते हुए भूपेंद्र सिंह हुड्डा को मुख्यमंत्री बना दिया। अपनी अनदेखी से नाराज चौधरी भजन लाल ने 2007 में हरियाणा जनहित कांग्रेस (बीएल) के नाम से क्षेत्रीय पार्टी का गठन किया। पार्टी के गठन के बाद कुछ समय बाद उनका स्वास्थ्य खराब हो गया। उनके सियासी वारिस कुलदीप बिश्नोई ने पार्टी को जमाने के लिए भरपूर प्रयास किए। 2016 में उन्होंने हरियाणा जनहित कांग्रेस का कांग्रेस में विलय कर दिया। ‌ 2007 में हरियाणा जनहित कांग्रेस बनाते समय चौधरी भजनलाल की उम्र 77 साल थी।

बात यह है कि हरियाणा के गठन से पहले ही क्षेत्रीय पार्टियों ने सत्ता निर्धारण में अहम भूमिका निभानी आरंभ कर दी थी और 2019 के विधानसभा चुनाव तक क्षेत्रीय पार्टियां चुनावी समीकरणों को निर्धारित करती आई हैं। 1952 में राव बीरेंद्र सिंह ने किसान मजदूर पार्टी का गठन करके क्षेत्रीय पार्टियों के गठन का बिगुल बजाया था।उसके बाद प्रदेश में सैकड़ों क्षेत्रीय दलों का गठन हुआ लेकिन गिनी चुनी पार्टियां ही सियासी सफलता हासिल कर पाई।
राव बीरेद्र सिंह की विशाल हरियाणा पार्टी, चौधरी देवी लाल की इंडियन नेशनल लोकदल, चौधरी बंसीलाल की हरियाणा विकास पार्टी और चौधरी भजनलाल की हरियाणा जनहित कांग्रेस के बाद दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी मान्यता प्राप्त दल का दर्जा हासिल करने वाली पांचवीं पार्टी है।
पहली चारों पार्टियां प्रदेश के दिग्गज नेताओं ने बनाई थी उनके पास बड़ा रुतबा और जनाधार होने के कारण क्षेत्रीय पार्टी बनाने में उन्हें कोई परेशानी नहीं हुई थी लेकिन 30 साल की उम्र में घर की पार्टी से बेदखल किए जाने के बाद दुष्यंत चौटाला ने 10 महीनों में न केवल सत्ता में हिस्सेदारी हासिल की बल्कि उसके साथ-साथ जेजेपी को मान्यता प्राप्त दल का दर्जा दिलाकर सफलता की नई मिसाल कायम की है।
31 साल की उम्र में प्रदेश का उप मुख्यमंत्री बनने के साथ दुष्यंत चौटाला ने खुद को गुदड़ी का लाल साबित कर दिया है। बहुत ही कम समय में दुष्यंत चौटाला प्रदेश के बड़े वोट बैंक के नेता नेता बन गए हैं। अब देखना यह है कि सरकार में हिस्सेदारी हासिल करने के बाद वे अपनी काबिलियत को किस तरह से साबित करते हैं और जनता की कसौट्टी पर खुद को खरा उतारते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

E PAPER     |     ऐसे में लड़कियो को क्या करना चाहिए? jab बस, ट्रेन में भीड़ भाड़ का फायदा उठा कर,     |     आम चुनाव से पहले ही क्यों जली दिल्ली,     |     जल उठी दिल्ली , 3 बसों में लगाई आग,दिल्ली पोलिस पर लगे गंभीर आरोप      |     कलायत में भगवान कपिल मुनि धाम सरोवर की विभिन्न स्थानों से परिक्रमा धंसी     |     भारत में किसी नेता(जो दुनिया में है  ही नहीं ) के खिलाफ बोले तो गिरफ्तार कर सकती है पोलिस ,इस  अभिनेत्री को किया गिरफ्तार !!!     |     मैं दूंगी निर्भया के दोषियों को फांसी’ !!!-शूटर वर्तिका सिंह     |     वीर सावरकर के पोते रणजीत ने कहा- हाईकोर्ट में करेंगे मानहानि का मुकदमा     |     नागरिकता संशोधन कानून पर बीजेपी को बड़ा झटका     |     कैथल के 42 स्कूलों में होगी एचबीटीएसई की परीक्षा चार हजार विद्यार्थियों को सम्मानित करेगा राह ग्रुप     |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000