Take a fresh look at your lifestyle.

कैथल-बेटियों को सुरक्षित घर पहुंचाने के लिए मुहिम चलाएंगे संदीप गढ़ी

कैथल-बेटियों को सुरक्षित घर पहुंचाने के लिए मुहिम चलाएंगे संदीप गढ़ी
बेटियों की सुरक्षा के लिए मुहिम चला रहे संदीप गढ़ी
कैथल के आसपास अंधेरा होने पर बहन-बेटियों को साधन उपलब्ध ना होने पर वाहन उपलब्ध करवा घर सुरक्षित पहुंचाएंगे
लोगों से की महिला सुरक्षा के लिए आगे आने की अपील

कैथल(ATAL HIND)
दिन प्रतिदिन महिलाओं से दुर्व्यवहार व दरिंदगी की बढ़ती घटनाओं से पूरे देश में महिला सुरक्षा के प्रति अविश्वास का ऐसा माहौल बना है कि महिलाएं एवं बेटियां घर से बाहर निकलने में भी डर महसूस करने लगी है। दिन के उजाले में तो फिर भी महिलाएं एवं बेटियां स्वयं को सुरक्षित महसूस करती है लेकिन जैसे ही दिन ढलना शुरू होता है तो उनमें असुरक्षा की भावना और उनके परिवार वालों के मन में भी असुरक्षा की भावना पनपने लगती है। इसी को देखते हुए जिले के युवा समाजसेवी संदीप गढ़ी ने महिला एवं बेटियों की सुरक्षा के लिए एक मुहिम चलाने का निर्णय लिया है। जिसके तहत कैथल के आसपास के 15 किलोमीटर के दायरे में अगर कोई महिला या बेटी अंधेरा होने पर कोई भी साधन ना मिलने पर उनकी गाड़ी उन्हें उनके घर सुरक्षित पहुंचाने का कार्य करेगी। कई बार साधन की उपलब्धता न होने पर महिलाएं एवं बेटियां घंटों साधन मिलने का इंतजार करती रहती हैं और ऐसे में असुरक्षा की भावना बढ़ जाती है। अब महिलाओं एवं बेटियों की समस्या से संदीप गढ़ी और उनकी पूरी टीम निजात दिलाने जा रही है। युवा समाजसेवी सन्दीप गढ़ी ने बताया कि सभी के घर महिलाएं, बहन एवं बेटियां हैं ऐसे में देश में प्रतिदिन हो रही महिलाओं से दुर्व्यवहार की घटनाएं समाज में असुरक्षा का माहौल बना रही हैं और उसे सिर्फ सरकार और कानून के भरोसे नहीं छोड़ा जा सकता। इसके लिए समाज को आगे आना होगा और अपने स्तर पर महिला सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए स्वयं प्रयास करने होंगे। उन्होंने कहा कि उन्होंने कैथल में यह अभियान चलाने का निर्णय लिया है और उन्हें उम्मीद है कि इस तरह के अभियान से प्रेरित हो न केवल कैथल और हरियाणा बल्कि पूरे देश में विभिन्न समाज सेवी संगठन इस तरह के अभियान चलाकर महिलाओं की सुरक्षा के प्रति अपनी जिम्मेदारी को निभाएंगे। उन्होंने यह भी कहा कि इसके अतिरिक्त भी महिला सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए सरकार और कानून को कठोर कानून बनाने की आवश्यकता है ताकि कोई भी इस तरह के अपराध में संलिप्त होने से पहले कठोर सजा के बारे में जरूर सोचे। तभी महिलाओं और बेटियों पर दिन-प्रतिदिन हो रहे दुर्व्यवहार की घटनाओं में कमी आ सकती है।

इस तरह से मिलेगी सुरक्षा
युवा समाजसेवी संदीप गढ़ी ने बताया कि वे एक व्हाट्सएप और कॉलिंग नंबर जारी करेंगे। जिसके माध्यम से कोई भी महिला, बहन या बेटी उस नंबर पर व्हाट्सएप और कॉलिंग के माध्यम से उन्हें अंधेरा होने पर सूचित कर सकती है। फोन पर सूचना के बाद गाड़ी तुरंत उस स्थान पर पहुंचेगी। महिला या बेटी के अभिभावकों को लाइव लोकेशन भेज दी जाएगी। ताकि उन्हें जानकारी मिलती रहे कि उनके घर से गाड़ी की दूरी कितनी है। अभिभावकों को महिला या बेटी के गाड़ी में बैठने से पहले गाड़ी के ड्राइवर की जानकारी एवं गाड़ी नंबर एवं फोटो भी भेज दी जाएगी। जिससे वे सुरक्षित महसूस करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

दिल्ली: भजनपुरा में कोचिंग सेंटर की इमारत गिरी, पांच छात्रों की मौत     |     भ्रम फैलाकर 2015 का विधानसभा चुनाव जीते केजरीवाल, : अमित शाह     |     मतदाता दिवस पर रैली एवं संगोष्ठी का किया गया आयोजन     |     मतदाता दिवस पर किया गया रैली एवं संगोष्ठी का आयोजन     |     हरियाणा में गौशालाएं और नंदी शालाएं घोर अवस्था की शिकार हैं?     |     शैमरॉक स्कूल के प्रांगण में सिमटा नजर आया लघु भारत, 28 राज्यों की वेशभूषा में नजर आए विद्यार्थी     |     22 साल के लड़के और 60 साल की महिला के बीच हुआ प्यार,शादी करने पर अड़े     |     रुखसाना को राष्ट्रीय प्रेरणा दूत पुरुस्कार 2020 से सम्मानित  किया जाएगा ।        |     डा.अशोक तंवर अब करेगें नई राजनीतिक पारी की शुरूआत     |     हरियाणा के सीएम ने लगाई गुहार प्राइवेट स्कूल मैनेजमेंट  सरकारी स्कूलों को अडाॅप्ट करे – मुख्यमंत्री     |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000