Take a fresh look at your lifestyle.

हाफिज सईद जैसे पाकिस्तानी को नहीं दी जा सकती भारत की नागरिकता

PAKISTAN-पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अधिकारियों से की, लेकिन कोई राहत नहीं मिली।

हाफिज सईद जैसे पाकिस्तानी को नहीं दी जा सकती भारत की नागरिकता

 

==राजकुमार अग्रवाल ==
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के समर्थन में सोशल मीडिया पर अभियान चलाया है। पीएम मोदी ने देशवासियों से अपील की है कि वे नमो एप पर सीएए का समर्थन करे। पीएम के आह्वान के साथ ही लाखों लोगों ने अपना समर्थन जता दिया। पीएम ने एक बाद फिर स्पष्ट किया है कि इस कानून में किसी भी भारतीय की नागरिकता नहीं छीनी जाएगी। यह कानून तो प्रताडि़त लोगों को नागरिकता देने के लिए है। इस कानून को लेकर सरकार अपने स्तर पर कई बार स्थिति स्पष्ट कर चुकी है, लेकिन कुछ राजनीतिक दल अपने स्वार्थ के खातिर देश के मुसलमानों को गुमराह कर रहे हैं। इस कानून को पाकिस्तानी क्रिकेटर दिनेश (दानिश) कनेरिया के प्रकरण से भी समझा जा सकता है। पाकिस्तान के क्रिकेटर शोएब अख्तर ने भी स्वीकार किया है कि हिन्दू होने के कारण दिनेश कनेरिया के साथ क्रिकेट क्रिकेट टीम में भेदभाव होता है। दिनेश को टीम के मुस्लिम खिलाड़ी अपने साथ भोजन भी नहीं करवाते हैं। दिनेश ने अपने साथ हो रही प्रताडऩा की शिकायत कई बार पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अधिकारियों से की, लेकिन कोई राहत नहीं मिली। राष्ट्रीय टीम में चयन होने पर भी दिनेश के साथ ईष्र्या रखी जाती रही। अपने साथ धर्म के आधार पर हो रहे अत्याचार की पुष्टि स्वयं दिनेश कनेरिया ने भी की है। अंदाजा लगाया जा सकता है कि जब क्रिकेटर दिनेश के साथ पाकिस्तान में ऐसा सलूक हो रहा है तब थोड़ी संख्या में बचे हिन्दुओं के साथ कैसा व्यवहार हो रहा होगा। गैर मुस्लिम जातियों की लड़कियों के साथ जबरन निकाह की घटनाएं तो पाकिस्तान में आम है। धर्म के आधार पर प्रताडि़त होकर लाखों हिन्दू, सिख, ईसाई, बौद्ध, जैन व पारसी समुदाय के लोग शरणार्थी बनकर भारत में आ गए। नागरिकता कानून में संशोधन कर अब ऐसे शरणार्थियों को ही भारत की नागरिकता प्रदान की जा रही है। कांग्रेस और वामपंथी दलों का कहना है कि इसमें मुस्लिम शरणार्थियों का उल्लेख नहीं है, इसलिए यह कानून भारत के मुसलमानों के विरूद्व है। कुछ नेता तो यहां तक कह रहे हैं कि इस कानून से भारत में रह है मुसलमानों की नागरिकता छीन जाएगी। चूंकि दिनेश कनेरिया को हिन्दू होने के नाते प्रताडि़त किया जा रहा है, इसलिए दिनेश कनेरिया को तो भारत में नागरिकता मिलनी चाहिए? सब जानते हैं कि हाफिज सईद 26/11 के मुंबई बम धमाकों का मास्टर माइंड है और हमारे जम्मू कश्मीर में आंतक को बढ़ावा देने में भी हाफिज सईद की भूमिका है। ऐसे हाफिज सईद जैसे पाकिस्तानी को भारत की नागरिकता नहीं दी जा सकती। वैसे भी पाकिस्तान में किसी मुसलमान को धर्म के आधार पर प्रताडि़त नहीं किया जाता, क्योंकि पाकिस्तान तो मुस्लिम राष्ट्र है। समझ में नहीं आता कि विपक्षी दल हाफिज सईद जैसे पाकिस्तानी को भारत की नागरिकता क्यों दिलवाना चाहते हैं? जबकि 1947 में देश का विभाजन धर्म के आधार पर ही हुआ था। सवाल यह भी है कि पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से धर्म के आधार पर प्रताडि़त होकर आए हिन्दुओं को नागरिकता भारत में नहीं मिलेगी तो क्या चीन में मिलेगी? हिन्दू तो अपने हिन्दुस्तान में ही आएगा। क्या प्रताडि़त हिन्दुओं को नागरिकता देने से पहले पाकिस्तान से अनुमति लेनी होगी? इस पूरे प्रकरण में देश के मुसलमानों को भी समझदारी दिखानी चाहिए। मुसलमान भी अच्छी तरह समझते हैं कि भारत में धर्म के आधार पर कोई भेदभाव नहीं होता है। सरकार की योजनाओं का लाभ समान रूप से सबको मिलता है। दुनिया के किसी भी देश के मुकाबले भारत में मुसलमान सकून और तरक्की के साथ रह रहा है। सरकार किसी की भी हो, लेकिन मुसलमानों के हितों के विरूद्व कोई निर्णय नहीं ले सकती है। भारत के लोकतंत्र की ही यह खूबसूरती है कि हिन्दू और मुसलमान भाईचारे के साथ रह रहे हैं अन्यथा अनेक मुस्लिम देशों में तो रोजाना बम धमाके हो रहे हैं। पाकिस्तान, अफगानिस्तान, ईरान, इराक आदि मुस्लिम देशों के हालात देखे जा सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

एन एस एस शिविर में किया गया श्रमदान एवं विभिन्न क्षेत्रों का भ्रमण     |     हरियाणा के दो नेताओ की लड़ाई ,कुंडू से टकराना भारी पड़ेगा ग्रोवर को     |     तोशाम-नौवीं कक्षा के छात्र से दुष्कर्म करने का मामला     |     hariyana-क्या फायदा ऐसे कानून और आयुक्तों का जो जनता ने मांगी फैलसा देने में फ़िसड्डी है     |     e paper 27-01-2020     |     Chandigarh: मां की निर्ममता, ढाई साल के मासूम बच्चे को बेड के बॉक्स में किया बंद, हुई मौत     |     अब भोंक कर दिखाओ कुतो ,सीएम आने तक ,कुत्तों को पांव व मुंह बांध कर गड्ढे में डाला     |     e paper 26-01-2020     |     एन एस एस शिविर में मनाया गया राष्ट्रीय मतदाता दिवस     |     नेहरू युवा केन्द्र के बैनर तले किया गया मतदाता रैली का आयोजन     |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000