Take a fresh look at your lifestyle.
corona

केजरीवाल का दिल्ली में किसी दल  के पास विकल्प नहीं मिलने के चलते उलटफेर के आसार खत्म

केजरीवाल का दिल्ली में किसी दल  के पास विकल्प नहीं मिलने के चलते उलटफेर के आसार खत्म

=राजकुमार अग्रवाल =
नई दिल्ली। क्या यह सही है कि दिल्ली विधानसभा उपचुनाव में भाजपा और कांग्रेस की साख दांव पर लगी हुई है?क्योंकि  आम आदमी पार्टी को सत्ता से बेदखल करना भाजपा और कांग्रेस के लिए बहुत बड़ी चुनौती साबित हो रही है?दिल्ली विधानसभा चुनाव का बिगुल बजने के साथ ही एक तरफ आम आदमी पार्टी सत्ता की हैट्रिक लगाने के लिए पुरजोर कोशिश कर रही है, वहीं दूसरी तरफ भाजपा और कांग्रेस सत्ता का उलटफेर करने के दावे कर रहे हैं।तीनों ही पार्टियां अपनी-अपनी सत्ता आने का दावा कर रही हैं लेकिन हकीकत यह है कि आम आदमी पार्टी को सत्ता से बेदखल करने के लिए भाजपा और कांग्रेस सफल होते हुए नजर नहीं आ रहे हैं।आम आदमी पार्टी के पास जहां सत्ता के “दुल्हे” रूप में सीएम अरविंद केजरीवाल सबसे अलग चमक रहे हैं वहीं दूसरी तरफ भाजपा और कांग्रेस को अपनी सियासी बारातों की घोड़ी पर बैठने के लिए कोई “दूल्हा” नहीं मिल रहा है।सीएम पद के दावेदार नहीं होने के कारण ही भाजपा और कांग्रेस की सत्ता की दावेदारी कमजोर नजर आ रही है।

केजरीवाल निर्णायक फैक्टर

दिल्ली विधानसभा के चुनाव में अरविंद केजरीवाल ही सबसे बड़ा फैक्टर साबित हो रहे हैं। आम आदमी पार्टी की पूरी चुनावी मुहिम अरविंद केजरीवाल के इर्द-गिर्द ही घूम रही है।अरविंद केजरीवाल ने 5 साल के शासनकाल में खुद को मध्यम और गरीब तबके के वोटरों के हितैषी के रूप में स्थापित कर लिया है। अरविंद केजरीवाल अपने कामकाज के बलबूते पर ही जनता से वोट मांग रहे हैं।5 साल के दौरान आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में कई जनहितैषी कार्यों को अंजाम दिया है जिसके चलते केजरीवाल जनता की पहली पसंद बने हुए हैं।केजरीवाल के बलबूते पर ही आम आदमी पार्टी लगातार तीसरी बार सत्ता की सबसे प्रबल दावेदार नजर आ रही है।

भाजपा और कांग्रेस के पास नहीं विकल्प

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा और कांग्रेस के पास सीएम पद का कोई भी मजबूत चेहरा नहीं है। दोनों ही पार्टियां सीएम पद के प्रत्याशी के रूप में 5 साल बाद भी किसी नेता को प्रोजेक्ट करने में नाकाम साबित हुई हैं।आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल के मुकाबले दिल्ली के वोटरों को लुभाने के लिए भाजपा और कांग्रेस के पास सीएम पद के दावेदार के रूप में मजबूत सियासी चेहरा होना भी जरूरी था लेकिन दोनों ही पार्टियां केजरीवाल के विकल्प के रूप में मजबूत नेता खड़ा करने में विफल रही।इसीलिए दोनों पार्टियों के लिए आम आदमी पार्टी को पछाड़ना नामुमकिन नजर आ रहा है।

दिल्ली विधानसभा के चुनाव में आम आदमी पार्टी बेहद सधी हुई रणनीति के साथ चुनाव प्रचार कर रही है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अगुवाई में आम आदमी पार्टी अपने शिक्षा नीति, स्वास्थ्य नीति और बिजली-पानी के मुद्दों को लेकर भाजपा और कांग्रेस को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।चारों की मुद्दों पर आम आदमी पार्टी ने दिल्ली के वोटरों के बड़े तबके को अपने साथ कर लिया है। भाजपा और कांग्रेस आम आदमी पार्टी को घेरने में सफल नहीं हो रहे हैं।दोनों ही पार्टियों की स्थानीय इकाई सियासी रूप से इतनी मजबूत नहीं है कि आम आदमी पार्टी को पटखनी दे सके। भाजपा और कांग्रेस दोनों ही आम आदमी पार्टी की चुनावी रणनीति को भेदने में विफल साबित हो रही है।

 

दोनों ही पार्टियों के पास सीएम पद का चेहरा नहीं होना चुनाव का डिसाइडिंग फैक्टर साबित हो रहा है।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल हर जगह जनता के बीच में जाकर अपनी सरकार की उपलब्धियों का बखान कर रहे हैं और उन्हीं कामों के आधार पर अपनी सरकार के लिए वोट मांग रहे हैं।भाजपा और कांग्रेस के पास आम आदमी पार्टी सरकार की आलोचना करने के अलावा कोई मुद्दा नहीं है। उनके पास एक भी ऐसा चेहरा नहीं है जिसे दिल्ली की जनता का व्यापक जनसमर्थन हासिल हो।अरविंद केजरीवाल की लोकप्रियता के कारण ही आम आदमी पार्टी एक बार फिर सत्ता की सरताज बनती भी नजर आ रही है।अरविंद केजरीवाल रूपी दूल्हे के बलबूते पर आम आदमी पार्टी की बारात धूम-धड़ाके से सत्ता का “हार” हासिल करती हुई नजर आ रही है, वहीं दूसरी तरफ भाजपा और कांग्रेस के पास सीएम पद का दुल्हा नहीं होने के कारण उन्हें एक बार फिर सत्ता की दुल्हन के बगैर बैरंग वापस लौटने पर मजबूर होना पड़ेगा।

=================================================================

login करें—WWW.ATALHIND.COM
28 E Block  Vishnu Market Kaithal 136027 Haryana
M0-  9416111503

Leave A Reply

Your email address will not be published.

हरियाणा पुलिस ने “डीएसपी के रीडर“ को मोर बनाया     |     Coronavirus :india राज्यवार मरीजों की संख्या, अब तक आंकड़ा 850 से पार     |     अमेरिका में  1,00,000 से ज्यादा संक्रमित, 1500 से अधिक लोगों की मौत     |     दिल्ली से यूपी के लिए 200 बसों का इंतजाम     |     पानीपत ब्रेकिंग*पत्नी, पुत्री और पुत्र की गोली मारकर हत्या, फिर की खुदकुशी     |     e paper     |     हरियाणा  एक दिन में 800 कोरोनावायरस संदिग्ध मिले, 11671 पहुंचे आइसोलेशन में     |     बड़ी लापरवाही: 15 लाख लोग विदेशों से आए सबकी नहीं हुई जांच     |     फरीदाबाद के प्राईवेट स्कूल मॉडर्न विद्या निकेतन स्कूल की धींगा मस्ती कहा फीस जमा करवाओ      |     hisaar-भाई के निधन के बाद घर के बाहर लिखाशोक व्यक्त करने न आएं,  लॉकडाउन तोड़कर      |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000