Take a fresh look at your lifestyle.

कानून व्यवस्था पर ध्यान देने की बजाए आपसी खींचतान में जुटे हैं मुख्यमंत्री और गृहमंत्री : हुड्डा

कानून व्यवस्था पर ध्यान देने की बजाए आपसी खींचतान में जुटे हैं मुख्यमंत्री और गृहमंत्री : हुड्डा

———–
भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आंकड़ों के ज़रिए दिखाया खट्टर सरकार को आईना
बाबैन, 23 जनवरी (सुरेश अरोड़ा) : पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र ङ्क्षसह हुड्डा ने कहा कि प्रदेश सरकार असली मुद्दों पर ध्यान देने की बजाए मंत्रालयों के बंटवारे में खींचतान और अधिकारियों के तबादलों में व्यस्त होकर रह गई है और प्रदेश में अर्थव्यवस्था, रोजगार, कानून व्यवस्था, भ्रष्टाचार और कृ षि के मोर्चे पर गठबंधन सरकार विफ ल रही है। भूपेंद्र ङ्क्षसह हुड्डा गांव महुवाखेडी में कांग्रेस नेता शमशेर ङ्क्षसह मलिक के निवास पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि मुख्यमंत्री और गृहमंत्री को अपने महकमों को लेकर झगडऩे की बजाए प्रदेश की क़ानून व्यवस्था पर ध्यान देना चाहिए। इस खींचतान पर पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि बिना सीआईडी के गृह मंत्रालय बिना आंख, कान और नाक के इंसान की तरह है। इसलिए सरकार को तमाम विवादों का निपटारा कर असली मुद्दों पर ध्यान देना चाहिए।
उन्होंने आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि जो प्रदेश पहले विकास के मामले में नंबर वन था, वो प्रदेश आज अपराध के मामले में पहले नंबर पर है। अब प्रदेश में रोजाना 3 हत्याएं, 4 रेप और 14 अपहरण के मामले सामने आते हैं और रोज महिलाओं के साथ किसी ना किसी तरह की 39 वारदातें होती हैं। इसके साथ ही रोज 50 वाहन चोरी होते हैं व 54 चोरी, लूट, डकैती और ज़बरन वसूली की वारदातें होती हैं। वहीं बच्चों के अपहरण के मामले में भी हरियाणा देश में सबसे आगे है। उन्होंने कहा कि दंगों के मामले में भी हरियाणा देश में तीसरे नंबर पर है। मौजूदा सरकार ने यूपी और बिहार को भी पीछे छोड़ दिया है। भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि आज हरियाणा का युवा नशे की तरफ बढ़ रहा है व नशे से मौत के मामले में हरियाणा ने पंजाब को भी पीछे छोड़ दिया है। साल 2018 में पंजाब में नशे से 78 मौत हुईं थी, जबकि हरियाणा में इससे ज्यादा 86 मौतें हुईं।
इस मौके पर पूर्व स्पीकर कुलदीप शर्मा, विधायक मेवा ङ्क्षसह, विकास मलिक, पूर्व ब्लॉक प्रधान जयपाल पांचाल, राम पाल सैनी, माम चंद, धर्मबीर मलिक, जसविंद्र बुहावी, प्रिंस धिसरपडी, मुकेश दुहन, भक्त सोम नाथ, नरेश शर्मा मंगौली, जंगशेर बुढा, नसीब सहजादपुर, जयप्रकाश शर्मा लाडवा, संत राम व अन्य कांग्रेस कार्यकत्र्ता मौजूद रहे।
भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस सरकार के दौरान हमने युवाओं का रुझान खेलों के प्रति करने के लिए गांव-गांव में स्टेडियम बनवाए थे। लेकिन बीजेपी सरकार ने उनका रखरखाव तक नहीं किया। सरकार को चाहिए कि वो प्रदेश में बढ़ते नशे के कारोबार पर रोक लगाए और युवाओं को नशे के चंगूल से छुड़वाए। श्री हुड्डा ने कहा कि बिना कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के चल रही गठबंधन सरकार दिशा और दशाहीन है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

ग्रामीण दंगलों में लगने वाली कुश्ती हमारी प्राचीन सभ्यता व संस्कृति की प्रतीक : नायब सैनी     |     नसबंदी कराओ, वरना नौकरी से होगी छुट्टी…,सैलरी पर भी तलवार     |     कोरा आश्वासन, सालों से लटकी मांगें-मुद्दे, अब नौकरी छोड़ रहा आरोही स्कूलों का स्टाफ     |     पाकिस्तान के नहीं ये बच्चें”,प्राइवेट स्कूल के बच्चों का परीक्षा केंद्र दूर होने पर फूटा गुस्सा, संचालक बोले     |     enjoy-गुरुग्राम, फरीदाबाद और पंचकुला में शराब बार खोलने की टाइमिंग बदली ,प्राइवेट पार्टी में शराब परोसना हुआ  महंगा     |     सिरसा में रेस्टोरेंट पर कब्जा करने के मामले में 9 लोगों पर मामला दर्ज     |     स्‍त्री और पुरूष के बीच कोई भी सुंदर संबंध     |     e paper     |     भारत में 15 सरकारी दस्वाजे भी नहीं आए काम ट्रिब्यूनल से लेकर हाईकोर्ट ने खारिज की जुबैदा बेगम की नागरिकता     |     दोस्त दे रहे थे पहरा, घर में घुसकर नाबालिग ने किशोरी से की हैवानियत     |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000