Take a fresh look at your lifestyle.
corona

पत्रकारों को पसंद नहीं आया बीजेपी नेता कपिल मिश्रा का ‘पाकिस्तानी राग’, यूं की खिंचाई

पत्रकारों को पसंद नहीं आया बीजेपी नेता कपिल मिश्रा का ‘पाकिस्तानी राग’, यूं की खिंचाई
नई  दिल्ली (योगेश गर्ग )आम आदमी पार्टी छोड़कर भाजपा का दामन थामने वाले कपिल मिश्रा अपने ट्वीट को लेकर खबरनवीसों के निशाने पर आ गए हैं। कई पत्रकारों ने अपने-अपने अंदाज में मिश्रा की खिंचाई की है। दरअसल, भाजपा नेता ने दिल्ली विधानसभा चुनाव को भारत-पाकिस्तान के मैच से जोड़ते हुए ट्वीट किया था। उन्होंने लिखा है, ‘8 फरवरी को दिल्ली की सड़कों पर हिन्दुस्तान और पाकिस्तान का मुकाबला होगा’।दरअसल, कपिल अपनी पुरानी पार्टी और अरविंद केजरीवाल के खिलाफ कुछ न कुछ बोलते रहते हैं और कई लोगों को यह सब सुनने की आदत भी हो गई है, लेकिन कपिल मिश्रा का इस तरह से हिन्दुस्तान-पाकिस्तान करना पत्रकारों को बिल्कुल भी रास नहीं आया।स्वतंत्र पत्रकार स्मिता शर्मा ने कपिल पर तंज कसते हुए ट्वीट किया, ‘छुपाना भी नहीं आता, जताना भी नहीं आता…हमें तुमसे मुहब्बत है…बताना भी नहीं आता…पाकिस्तान ना होता तो पता नहीं कितनों के सियासी करियर का क्या होता।’स्मिता की तरह ही ‘एनडीटीवी इंडिया’ के रिपोर्टर सोहित मिश्रा ने भी भाजपा नेता को आड़े हाथ लिया। उन्होंने कपिल मिश्रा के ट्वीट के जवाब में कहा, ‘आखरी बार बिना पाकिस्तान का नाम लिए कब चुनाव लड़ा गया था? सही जवाब देने वाले को उचित इनाम दिया जाएगा।’एनडीटीवी’ के विदेश मामलों के संपादक उमाशंकर सिंह ने भी कपिल के बयान पर उन्हें निशाना बनाया है। उन्होंने लिखा है ‘इस नफ़रती नासूर को आईना दिखाया जाए’? इसके साथ ही सिंह ने कपिल मिश्रा का पुराना विडियो शेयर किया है जिसमें वह कहते नजर आ रहे हैं ‘क्या संघ की शाखाओं में आजकल ऐसा हिन्दू धर्म सिखाया जा रहा है कि उर्दू को देखते ही डर जाए, भड़क जाए? अगर कोई सोचता है कि दिल्ली की गंगा जमुनी संस्कृति को बर्बाद कर देगा तो वह ग़लतफ़हमी है। दिल्ली ने हमेशा ऐसी ताक़तों को उनकी सही जगह दिखाई है।” यह विडियो संभवतः तब का है जब मिश्रा आम आदमी पार्टी का हिस्सा थे।वहीं, CNN-न्यूज18 की पॉलिटिकल एडिटर माया शकील ने अपने ही अंदाज में कपिल मिश्रा को जवाब दिया है। उन्होंने ट्वीट में लिखा है, ‘दिल्ली की सड़कों पर क्यों? यह फ़िरोज शाह कोटला स्टेडियम में खेला जा सकता है। भारत और पाकिस्तान में शांति के लिए क्रिकेट कूटनीति सबसे बेहतर तरीका है।’ साथ ही उन्होंने चुनाव आयोग को टैग करते हुए मिश्रा के बयान पर गौर करने को कहा है।उधर पत्रकारों के विरोध के बीच, चुनाव आयोग ने भी कपिल मिश्रा के बयानों को गंभीरता से लिया है। आयोग ने भाजपा नेता को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। उमाशंकर सिंह ने अपने ट्विटर हैंडल पर इसकी जानकारी देते हुए कहा है ‘कपिल मिश्रा को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। मिश्रा अपने नफरती बयानों का किसी भी तरह बचाव नहीं कर सकता। आचारसंहिता के इस अतिगंभीर उल्लंघन के कारण मिश्रा की उम्मीदवारी रद्द होनी चाहिए। #ECI कठोर कार्रवाई कर ऐसे तत्वों को कड़ा संदेश देगा ये महज खानापूर्ति है’?

Leave A Reply

Your email address will not be published.

जेजेपी पर कोरोना का प्रभाव  नहीं चल रहा सब कुछ ठीक, , पार्टी नेताओं में नहीं एकजुटता     |     एक दवा लेने और दूसरा जा रहा था पूजा करने,,,,और फिर ,,,,     |     हरियाणा  में 22 पॉजिटिव मिले  , 12521 लोग विदेश से लौटे हैं     |     हरियाणा ने पंजाब-दिल्ली-राजस्थान और यूपी की सीमाएं सील     |     hariyana-कोरोना लड़ाई में सेफ जोन में नजर आने लगा हरियाणा     |     कैथल जिला में कोरोना वायरस का कोई भी मामला नही-हरदीप दून     |     पलायन कर रहे मजदूरों को बाबैन के सरकारी स्कूल में रोके स्थानीय प्रशासन : एडीजीपी अलोक राय     |     संकट की घड़ी मे भूखे को भोजन खिलाना सबसे बड़ा पुण्य : अशोक सिंघल     |     कानून की अवहेलना करने वालों के खिलाफ की जाएगी कार्रवाही : रमेश चन्द     |     दौलत राम एंड संस रोजाना कर रहा भोजन की 800 पैकिंग     |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000