Take a fresh look at your lifestyle.
corona

जीरकपुर नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी समेत दो ईओ निलंबित

बिल्डर द्वारा गलत नक्शे पास करने का मामला: जीरकपुर नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी समेत दो ईओ निलंबित
जीरकपुर। स्थानीय निकाय विभाग की ओर से मंगलवार को एक बड़ी कार्यवाही को अंजाम देते हुए जीरकपुर नगर परिषद के मौजूदा कार्यकारी अधिकारी सुखजिंद्र सिंह सिदधू और पूर्व कार्यकारी अधिकारी गिरीश वर्मा को निलंबित कर दिया गया है।

गिरीश वर्मा इस समय नगर पंचायत संगत में बतौर कार्यकारी अधिकारी के तौर पर तैनात थे। इसके अलावा स्थानीय विभाग ने डयूटी से लापपरवाही बरतने के आरोप में चार अन्य अधिकारियो को कारण बताओं नोटिस जारी कर जबाव मांगा है। चारों अधिकारी नगर परिषद जीकरपुर में ही तैनात है। जिनके नामों का अभी तक खुलासा नहीं हुआ है। दोनों कार्यकारी अधिकारियों पर जीरकपुर के ढकोली क्षेत्र में एक बिलडर के नियमों को छक्के में टांग कर गलत नकशे पास करने का आरोप है। जिसके तहत यह कार्यवाही की गई है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक स्थानीय निकाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजय कुमार आईएएस की ओर से जारी किए गए निलंबित पत्र में यह स्पष्ट किया गया है कि कार्यकारी अधिकारी गिरीश वर्मा की ओर से जीरकपुर में बतौर कार्यकारी अधिकारी की तैनाती के समय ढकोली क्षेत्र में पुरानी अंबाला कालका रोड पर वैटरन बिल्डर एवं प्रमोटर के प्रोजेक्ट को पास करते हुए नियमों की कथित तौर पर अनदेखी की गई है। जांच में सामने आया है कि बिल्डर की ओर से निर्माण के समय भारी गड़बड़ी की गई है।

जिनकी तत्तकालीन कार्यकारी अधिकारी गिरीश वर्मा ने अपनी डयूटी में लापरवाही बरती और बाद में कार्यकारी अधिकारी सुखजिंद्र सिद्धू की ओर से भी उनके तबादले के बाद लापरवाही बरती गई। पत्र में स्पष्ट किया गया है कि यह कार्यवाही पंजाब सिविल सेवाओ के नियम 8 के तहत अमल में लाई गई है और इस संबंधी चार्जशीट बाद में जारी की जायेगी इसके बाद अब दोनों निलंबित अधिकारी मुख्य कार्यालय में रिपोर्ट करेंगे।

इस बारे में बात करने पर स्थानीय निकाय विभाग निदेशक भूपेंद्रपाल सिंह ने दोनों कार्यकारी अधिकारियो को निलंबित करने की पुष्टि करते हुए कहा कि फिलहाल दोनों के खिलाफ कार्यवाही करने के अलावा चार अन्य अधिकारियो को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए है। उन्होंने बताया कि नोटिस जारी होने वाले अधिकारियो के नामोंं का खुलासा जांच पूरी होने के बाद किया जायेगा। इस संबंधी दोनों कार्यकारी अधिकारियों ने बार बार फोन करने पर भी उन्हेांने फोन नहीं उठाया।

गिरीश वर्मा के समय हुए थे नक्शे पास
स्थानीय निकाय विभाग के सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक तत्तकालीन कार्यकारी अधिकारी गिरीश वर्मा के समय ढकोली में बिल्डर की ओर से अपने प्रोजेक्ट के ग्राऊंड प्लस तीन मंजिला इमारतों के नक शे पास करवाए गए थे लेकिन निर्माण कार्य में भारी गडबड़ी थी। इसके साथ ही मौजूदा कार्यकारी अधिकारी की ओर से भी अपनी डयूटी में लापरवाही बरतते हुए जांच कर काम को बंद नहीं करवाया गया जिसके बाद विभाग ने कार्यवाही को अमल में लाया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

हरियाणा पुलिस ने “डीएसपी के रीडर“ को मोर बनाया     |     Coronavirus :india राज्यवार मरीजों की संख्या, अब तक आंकड़ा 850 से पार     |     अमेरिका में  1,00,000 से ज्यादा संक्रमित, 1500 से अधिक लोगों की मौत     |     दिल्ली से यूपी के लिए 200 बसों का इंतजाम     |     पानीपत ब्रेकिंग*पत्नी, पुत्री और पुत्र की गोली मारकर हत्या, फिर की खुदकुशी     |     e paper     |     हरियाणा  एक दिन में 800 कोरोनावायरस संदिग्ध मिले, 11671 पहुंचे आइसोलेशन में     |     बड़ी लापरवाही: 15 लाख लोग विदेशों से आए सबकी नहीं हुई जांच     |     फरीदाबाद के प्राईवेट स्कूल मॉडर्न विद्या निकेतन स्कूल की धींगा मस्ती कहा फीस जमा करवाओ      |     hisaar-भाई के निधन के बाद घर के बाहर लिखाशोक व्यक्त करने न आएं,  लॉकडाउन तोड़कर      |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000