Take a fresh look at your lifestyle.

पितृ पक्ष में श्राद्ध बहुत महत्वपूर्ण व आवश्यक कर्म हैं : रविदत्त शास्त्री

श्राद्ध करने वाले व्यक्ति को अच्छा स्वास्थ्य, सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है।

पितृ पक्ष में श्राद्ध बहुत महत्वपूर्ण व आवश्यक कर्म हैं : रविदत्त शास्त्री
कैथल, 27 सितंबर (कृष्ण प्रजापति): भारतीय संस्कृति में जहां उत्सव और पर्वों को महत्वपूर्ण माना गया है, वहीं श्राद्ध के रूप में पितरों को श्रद्धांजलि देने के लिए 15 दिन का समय निश्चित किया गया है। पितर अर्थात वह व्यक्ति जो देह त्याग कर इस संसार से जा चुके हैं, उनकी मुक्ति और आगे का मार्ग प्रशस्त हो, इसके लिए उनके परिवार के लोग श्राद्ध तर्पण करते हैं। पितरों की तृप्ति के लिए श्राद्ध किए जाते हैं, श्राद्ध करने से पितर तृप्त होते हैं। उनके प्रसन्न और तृप्त होने से घर में धन-संपदा आती है। श्राद्ध करने वाले व्यक्ति को अच्छा स्वास्थ्य, सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है। इस संबंध में जानकारी देते हुए पंडित रविदत्त शास्त्री ने बताया कि श्राद्ध करने के लिए दक्षिण दिशा उत्तम मानी गई है, यगोपवित को दाहिने कंधे पर रखकर तर्पण करना चाहिए। श्राद्ध के दिन श्राद्ध करने वाले धर्मज्ञ ब्राह्मणों को आमंत्रित किया जाता है। निमंत्रण दिए हुए ब्राह्मणों के शरीर में पितरों का आवेश हो जाता है, वह वायुरूप से उनके भीतर प्रवेश करते हैं और ब्राह्मणों के बैठने पर स्वयं पितर भी उनके साथ बैठे रहते हैं। ब्राह्मणों के आने पर उनके पैर धोए और प्रणाम करें, उसके बाद विधिवत पूर्वक आसन पर बैठ जाएं और विधि आरंभ करने की प्रार्थना करें। शास्त्री ने बताया कि इसके बाद पवित्र और उत्तम अन्न परोसकर ब्राह्मणों को भोजन करवाया जाता है। जब तक ब्राह्मण भोजन करते हैं तब तक श्री नारायण का सिमरन करना चाहिए। उन्होंने बताया कि ब्राह्मणों को तृप्त जानकर उन्हें हाथ मुंह धोने के लिए जल प्रदान करना चाहिए, फिर अपने नाम और गोत्र का उच्चारण करते हुए सामर्थ्य शक्ति के अनुसार दक्षिणा दी जाती है। इस कार्य में पितरों की प्रिय वस्तु दान करनी होती है। रवि दत्त ने बताया कि ब्राह्मणों से आशीर्वाद लेकर परिवार सहित भोजन किया जाता है, सभी श्राद्ध श्रद्धा से किए जाते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

कैथल ब्रेकिंग,देश का  भविष्य गाँव करोड़ा की तरह ऐसे सुधरेगा       |     खेल मंत्री संदीप सिंह ने मंत्रोच्चारण के बीच हवन यज्ञ में आहुति डाल कर किया अंतर्राष्टï्रीय सरस्वती महोत्सव का आगाज, अंतर्राष्टï्रीय सरस्वती महोत्सव हर वर्ष नए लुक में आएंगा नजर:संदीप सिंह     |     e paper 28-01-2020     |     एन एस एस शिविर में किया गया श्रमदान एवं विभिन्न क्षेत्रों का भ्रमण     |     हरियाणा के दो नेताओ की लड़ाई ,कुंडू से टकराना भारी पड़ेगा ग्रोवर को     |     तोशाम-नौवीं कक्षा के छात्र से दुष्कर्म करने का मामला     |     hariyana-क्या फायदा ऐसे कानून और आयुक्तों का जो जनता ने मांगी फैलसा देने में फ़िसड्डी है     |     e paper 27-01-2020     |     Chandigarh: मां की निर्ममता, ढाई साल के मासूम बच्चे को बेड के बॉक्स में किया बंद, हुई मौत     |     अब भोंक कर दिखाओ कुतो ,सीएम आने तक ,कुत्तों को पांव व मुंह बांध कर गड्ढे में डाला     |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000