Take a fresh look at your lifestyle.
corona

‘लेडी बॉय’ किसे कहते हैं? थाईलैंड में इनके इतने ज्यादा होने के पीछे क्या कारण हैं?

‘लेडी बॉय’ किसे कहते हैं? थाईलैंड में इनके इतने ज्यादा होने के पीछे क्या कारण हैं?

THAILAND-तीन साल पहले एक मित्र ने मुझे ‘लेडी बॉय’ के बारे में बताया तथा एक तस्वीर दिखाई किसी बेहद सुंदर स्त्री की।देखकर मै हैरान रह गई।

उसके बाद मैंने इसपर काफी कुछ पढ़ा तथा डॉक्यूमेंट्री भी देखी।

 

जहां से मुझे पता चला कि दरअसल लडी बॉय किन्नर यां समलैंगिक युवक नहीं होते।

 

वियतनाम युद्ध के दौरान कई अमरीकी सैनिक अपने शारीरिक संबंधों को लेकर काफी उतावले थे[1] । उनके शारीरिक मनोरंजन का पूरा खर्चा अमेरिकन सरकार वहां कर रही थी।ऐसे में कई स्थानीय लड़के इस दौरान किन्ही समलैंगिक सैनिकों का मनोरंजन करने लगे। शुरू में केवल नवीनता की वजह से किया गया कार्य, बाद में उनकी अतिरिक्त आय का स्रोत बन गया[2] । मनोरंजन करने से बढ़कर यह शारीरिक संबंधों तक पहुंच गया। [3]

 

थाईलैंड एक बुद्धिस्ट देश है, जहां पर औरत मर्द के अलावा किन्नरों तथा समलैंगिकों के लिए उन्मुक्त वातावरण है। साथ ही थाईलैंड पूरी तरह सेवा उद्योग पर निर्भर है, यहां कई दशकों से लोग हर प्रकार की सेवाएं देकर विदेशी पर्यटकों को लुभा रहे है तथा आकर्षण का केंद्र बने हुए है।

 

ऐसे में यहां किसी और काम के लिए युवा गरीब लड़कों को इतने पैसे नहीं मिलते जितने लड़कियों को। उनके पास दूसरा विकल्प है मजदूरी।जो कठिन है।

 

साथ ही यहां इतनी ज्यादा तादाद में शल्य चिकित्सक हो चुके है, लिंग बदलने हेतु, कि अब विदेशी भी उनकी सेवाएं ले रहे है। जिस क्रिया के हजारों डॉलर लगते है अमेरिका में वही लिंग बदलने कि शल्य क्रिया थाईलैंड में उससे पांच गुना कम में हो जाती है।

ऊपर के चित्र में देखिए एक युवक को लड़की में बदलते।

 

इसलिए समलैंगिक यां किन्नर ना होते हुए भी यह लड़के हार्मोन्स तथा शल्य क्रिया द्वारा खूबसूरत लडकियां बनकर पैसे कमा रहे है। कई केवल मनोरंजन क्षेत्र से जुड़े है मसलन नाचना गाना किसी क्लब में, बाकी कई शारीरिक संबंधों द्वारा अच्छा कमा रहे है।

 

आज लेडी बॉय इस कदर समाज में मान्यता प्राप्त कर चुके हैं, की कई सरकारी पदों,राजनैतिक दलों में ये बड़े स्थान पर विद्यमान है। कई सौंदर्य प्रतियोगिताओं में भाग लेकर लड़कियों तक को पछाड़ चुके हैं। इनमें से कुछ नामी गिरामी हस्तियां बन चुके हैं। विदेशों में बतौर मॉडल अपना नाम बना चुके हैं।

 

अब विदेशी भी ज्यादातर यहां इन ‘ लेडी बॉय’ की तरफ खिंचे चले आते हैं। शारीरिक संबंधों में नवीनता,कुछ अलग की चाह, तथा लड़कियों से कई गुना सुंदर ये लडी ब्वॉयज, विदेशियों के लिए उत्साह का कारण बन रहे है और लडी ब्वॉयज के लिए आय का स्त्रोत।

 

थाईलैंड सरकार सब जानते हुए भी उदार रवैया अपनाए बैठी है। जहां पूरे विश्व में पर्यटन उद्योग से आमदनी पूरी आमदनी के ९% पर अटकी है वहीं थाईलैंड की पर्यटन से आमदनी १७.७%है, [4] उसकी पूरी आमदनी में से। ऐसे में इस उद्योग पर अंकुश लगाना सरासर बेवकूफी होगी उनके लिए।

इन्हे कथोय[5] भी कहा जाता है, स्थानीय भाषा में।

चित्रों के अधिकार उनके मालिकों के पास सुरक्षित हैं।

 

फुटनोट

 

[1] Why are there so many transgender women in Thailand?

[2] Response to “Why so many ladyboys in Thailand?”

[3] Zemg Adnrew’s answer to Why does Thailand have so many ladyboys?

[4] Tourism in Thailand – Wikipedia

[5] Kathoey – Wikipedia

Leave A Reply

Your email address will not be published.

हरियाणा के 22 में से 14 जिलों तक पहुंचा कोरोना,26 नए मामले,21 जमाती,अब कुल 70 संक्रमित     |     करनाल के युवक की अमेरिका में सड़क हादसे में मौत     |     कैथल ब्रेकिंग —कैथल में कोरोना वायरस का पॉजिटिव मरीज मिला,     |     एक तो कोरोना का संकट ऊपर के चाँद के उल्टा होने की खबर     |     दादी, नानी के पुराने नुस्खे रोग भगाने में सार्थक. युवा पीढ़ी पुराने रीति रिवाजों से किनारा कर गई     |     दंबंगों ने वृद्ध के नाजुक अंगों के साथ किया….     |     कैथल जिले में वितरित की जाने वाली गेहूं  मत खाना ,वरना ,,,     |     E PAPER     |     कैथल जिले में बिना मास्क कोरोना से लड़ेंगी आशा वर्कर ?     |     4 अप्रैल 2020 का राशिफल:: शनिदेव की विशेष कृपा से इन राशियों के लिए आज का दिन होने वाला हैं बेहतरीन..!!!     |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000