Take a fresh look at your lifestyle.

HARIYANA-अध्यापकों पर शिकंजा,अध्यापक नहीं सेक सकेंगे स्कूलों में धूप

अध्यापक नहीं सेक सकेंगे स्कूलों में धूप

भिवानी :दिल्ली चुनाव में बने सरकारी स्कूलों का मुद्दा अब हरियाणा में भी असर दिखाने लगा है। सरकार के नए आदेशों के बाद अब सरकारी स्कूलों में कार्य करने वाले अध्यापकों पर शिकंजा कसा जाएगा। गौरतलब है कि हरियाणा मेें स्कूलों की दशा को लेकर सवाल उठते रहे हैं और खासतौर पर स्कूलों में अनुशासनहीनता के आरोप भी लगते रहे हैं। शिक्षा विभाग ने अब सख्ती करते हुए आदेश दिए हैं कि किसी भी सरकारी स्कूल में सर्दी हो या गर्मी छात्र-छात्राओं की कक्षाएं खुले मैदान में नहीं लगाई जाऐंगी। विभागीय आदेशों में कहा गया कि इससे छात्र-छात्राओं का ध्यान विचलित होता है। आदेशों में यह भी कहा गया कि सभी छात्र-छात्राओं की कमरों में ही कक्षाएं लगाई जाए।

यह भी कहा गया कि छात्रों की मूल्याकंन परीक्षाएं नियमित तौर पर ली जाएं और इसके लिए विशेष सीटिंग प्लान बनाया जाए। कक्षा 6 से 8वीं एवं 9वीं से बारहवीं की सीटिंग पहले से ही बना ली जाए। सभी छात्र-छात्राओं को इकट्ठे परीक्षा में बैठाया जाए। पहला छात्र छठी, दूसरा छात्रा सातवीं तीसरा छात्र आठवीं का होगा। इसी प्रकार नौवीं से बारहवीं की सीटिंग प्लान भी पहले से ही तय की जाएं। परीक्षा के दौरान कमरे में पहला छात्र नौवीं दूसरा छात्र दसवीं तीसरा छात्र 11वीं व चौथा छात्र 12वीं का होना चाहिए। विभाग का मानना है कि इससे परीक्षाएं नकल मुक्त हो सकेंगी और छात्रों का सही मूल्याकंन भी हो जाएगा।

कमजोर बच्चों के लिये अतिरिक्त कक्षाएं लगाने पर बल

नए आदेशों में कक्षा तीन से आठ तक के विद्यार्थियों की सक्षम 2.0 की लिखित तैयारी करवाने बारे, कक्षा दस का परीक्षा परिणाम 70 प्रतिशत से अधिक होने व 12वीं का परीक्षा परिणाम 85 प्रतिशत से अधिक होना सुनिश्चित किये जाने व अतिरिक्त कक्षाएं लगाकर कमजोर बच्चों को मुख्यधारा से जोड़कर परिणाम में गुणात्मक सुधार लाने जैसी बातें शामिल हैं। यही नहीं विभाग के अधिकारियों द्वारा स्कूलों में बोर्ड परीक्षा के पैटर्न के मुताबिक विगत तीन वर्षों के सभी कोड्स के प्रश्नपत्रों की दोहराई करवाने व उन्हीं के अनुरूप तैयारी करवाने के भी निर्देश अध्यापकों को दिए गए जिन पर अब काम शुरू भी हो गया है।

क्या कहते हैं जिला शिक्षा अधिकारी
जिला शिक्षा अधिकारी अजीत सिंह श्योराण का कहना है कि सरकारी स्कूलों में शिक्षा के स्तर में गुणात्मक सुधार के लिए विभाग द्वारा कई कदम उठाए जा रहे हैं ताकि सरकारी स्कूलों में छात्र-छात्राओं का परिणाम सुधारने के साथ-साथ उन्हें अच्छी शिक्षा मिल सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

“मजबूरियों का रोना” दिल्ली के चुनाव परिणाम ने हरियाणा में भाजपा के लिए खतरे की घंटी     |     कैथल एसपी ने कहा  मामला दर्जटाल-मटौल न करें कैथल जिला के पुलिस कर्मी , देरी नहीं की जाएगी सहन     |     अभी तो है अनुरोध, फिर कार्रवाई होगी तो मत करना विरोध- भारत भूषण गोगिया     |     Haryana DGP congratulates best woman rider     |     अश्लील फोटो डालने का मामला प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट तक पहुंचा।     |     अविनाश पांडे ने सोनिया गांधी से मुलाकात की।     |     विश्व में बज रहा तरावड़ी के मशहूर बासमती चावल का डंका : चुनीत बंसल     |     लो और सुनो इस कथित स्वामी ने क्या कहा  पीरियड में महिला खाना बनाएगी तो अगला जन्म कुत्ते की योनि में होगा- स्वामी कृष्णस्वरूप     |     BIG BREKING-कलायत के मटौर में एटीएम उखाड़ा व कैश बाक्स ले गए बदमाश     |     In today’s busy world, every individual needs to have a perfect balance of physical and mental health     |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000