Take a fresh look at your lifestyle.
corona

Coldbest-PC कफ सिरप में मिला जहर, 9 बच्‍चों की मौत… 8 राज्‍यों में बिक्री पर रोक

Coldbest-PC कफ सिरप में मिला जहर, 9 बच्‍चों की मौत… 8 राज्‍यों में बिक्री पर रोक
नई दिल्ली(एजेंसी ) Coldbest-PC नाम की एक कफ सिरप में ‘जहरीला पदार्थ’ पाया गया है. जम्‍मू के ऊधमपुर में इस कफ सिरप को पीने के बाद नौ बच्‍चों की मौत हो गई. इसके बाद कम से कम आठ राज्‍यों को कहा गया है कि वे इसकी सेल और डिस्‍ट्रीब्‍यूशन रोकें. यह कफ सिरप हिमाचल प्रदेश की फार्मास्‍यूटिकल्‍स कंपनी Digital Vision बनाती है.जम्‍मू-कश्‍मीर के ड्रग एंड फूड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन के असिस्‍टेंट ड्रग्‍स कंट्रोलर सुरिंदर मोहन ने द इंडियन एक्‍सप्रेस से कहा, “चंडीगढ़ के PGIMER के अधिकारियों ने हमें बताया है कि ऊधमपुर जिले में बच्‍चों की मौत प्रथमदृष्‍टया Coldbest-PC सिरप में मौजूद जहरीले कंपाउंड Diethylene Glycol की वजह से हुई.”हिमाचल बेस्ड फार्मास्यूटिकल कंपनी Digital Vision के कफ सीरप Coldbest-PC के प्रोडक्शन पर रोक लगा दी गई है। दरअसल कोल्डबेस्ट सीरप को पीने से जम्मू के ऊधमपुर में 9 बच्चों की मौत हो गई है । जांच में कोल्डबेस्ट सीरप में ‘जहरीले पदार्थ’ Dietylene Glycol की मौजूदगी मिली है।ड्रग्स एंड फूड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन के असिस्टेंट ड्रग्स कंट्रोल सुरिंदर मोहन ने कहा है कि “प्रथम दृष्टया, कोल्डबेस्ट-पीसी में जहरीले तत्व डाइएथीलीन ग्लाइकोल की मौजूदगी मिली है, जिसके चलते ऊधमपुर जिले में बच्चों की मौत हुई है।” उन्होंने बताया कि “PGIMER चंडीगढ़ के अधिकारियों ने उन्हें इस बात की जानकारी दी है।”अधिकारियों ने बताया कि सीरप के सैंपल जांच के लिए इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंटेरोगेटिव मेडिसिन, जम्मू और रीजनल ड्रग्स टेस्टिंग लेबोरेट्री चंडीगढ़ भेज दिए गए हैं।जम्मू कश्मीर की ड्रग कंट्रोलर लतिका खजूरिया ने बताया कि “PGIMER चंडीगढ़ की रिपोर्ट में कफ सीरप में डाइएथीलीन ग्लाइकोल की मौजूदगी की पुष्टि हुई है। रीजनल ड्रग्स टेस्टिंग लैब की अंतिम रिपोर्ट का अभी इंतजार किया जा रहा है। जैसे ही वह रिपोर्ट मिलेगी। हमें बच्चों की मौत की असल वजह पता चल जाएगी। सीरप की बिक्री पर पहले ही बैन लगा दिया गया है।”जम्मू के डायरेक्टर हेल्थ सर्विसेज के डॉ. रेनू शर्मा ने बताया कि दिसंबर से लेकर 17 जनवरी तक ऊधमपुर के रामनगर ब्लॉक में 9 बच्चों की मौत की खबर है। बच्चों को किडनी की समस्या के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सभी बच्चों की मौत में जो कॉमन बात थी कि सभी ने कोल्डबेस्ट पीसी सीरप का सेवन किया था। सीरप पीने के बाद 17 बच्चे बीमार हुए थे, जिनमें से 9 की मौत हो गई थी।जांच में पता चला है कि हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, त्रिचिरापल्ली, शिलॉन्ग और त्रिपुरा में कोल्डबेस्ट सीरप की बिक्री होती है। फिलहाल सभी राज्यों में इसकी बिक्री पर रोक लगा दी गई है। साथ ही सीरप का प्रोडक्शन भी रोक दिया गया है।वहीं डिजिटल विजन की एमडी कोनिक गोयल ने इस मसले पर कुछ भी कहने से इंकार कर दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

जेजेपी पर कोरोना का प्रभाव  नहीं चल रहा सब कुछ ठीक, , पार्टी नेताओं में नहीं एकजुटता     |     एक दवा लेने और दूसरा जा रहा था पूजा करने,,,,और फिर ,,,,     |     हरियाणा  में 22 पॉजिटिव मिले  , 12521 लोग विदेश से लौटे हैं     |     हरियाणा ने पंजाब-दिल्ली-राजस्थान और यूपी की सीमाएं सील     |     hariyana-कोरोना लड़ाई में सेफ जोन में नजर आने लगा हरियाणा     |     कैथल जिला में कोरोना वायरस का कोई भी मामला नही-हरदीप दून     |     पलायन कर रहे मजदूरों को बाबैन के सरकारी स्कूल में रोके स्थानीय प्रशासन : एडीजीपी अलोक राय     |     संकट की घड़ी मे भूखे को भोजन खिलाना सबसे बड़ा पुण्य : अशोक सिंघल     |     कानून की अवहेलना करने वालों के खिलाफ की जाएगी कार्रवाही : रमेश चन्द     |     दौलत राम एंड संस रोजाना कर रहा भोजन की 800 पैकिंग     |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000