Take a fresh look at your lifestyle.
corona

कोरोना अब नही रहा लाईलाज

कोरोना अब नही रहा लाईलाज
न्यूयॉर्क (अटल हिन्द ब्यूरो )। इस वक्त पूरी दुनिया कोरोना वायरस की वजह से सहमी हुई है । लेकिन आज नवरात्रि के पहले दिन एक अच्छी खबर आ रही है । अमेरिका में कोरोना वायरस का टीका तैयार हो चुका है । वैज्ञानिकों ने इस टीके से कोरोना वायरस को खत्म करने में सफलता हासिल की है । चार देशों में इसके क्लिनिकल ट्रायल के शानदार नतीजे आए हैं. अमेरिकी सरकार जल्द इसके टीके तैयार करने की मंजूरी दे सकती है।

चीन, दक्षिण कोरिया, फ्रांस और अमेरिका में सफल परीक्षण
सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेशन के अनुसार अमेरिकी सांइटिस्टों ने क्लोरोक्वीन और हाड्रोक्सिक्लोरोक्वीन के जोड़ से एक टीका तैयार किया है. अमेरिका की फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने इस टीके के क्लीनिकल ट्रायल को मंजूरी दे दी है. पिछले एक महीने से इस टीके के ट्रायल चीन, दक्षिण कोरिया, फ्रांस और अमेरिका में सफल रहा है। जिन मरीजों का इलाज इस टीके से किया गया है उनमें काफी प्रभावी नतीजे मिले हैं।

अमेरिकी सरकार जल्द शुरू कर सकती है इलाज
अमेरिकी वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोना वायरस को खत्म करने में इस नए टीके ने सफलता हासिल की है।हालांकि FDA किसी भी टीके को मंजूरी देने में काफी लंबा समय लगाता है. लेकिन वैश्विक चुनौती और हालात देखते हुए अगले कुछ दिनों में इसे इलाज के लिए हरी झंड़ी मिलने की उम्मीद है। वैज्ञानिको का कहना है कि सार्स को खत्म करने में इस दवा ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इस बार इस टीके में कोरोना वायरस के जेनेटिकल कोड के हिसाब से बदलाव किए गए हैं। कोरोना वायरस से लड़ने में इस टीके के नतीजे काफी आशाजनक हैं. बताते चलें कि कोरोना वायरस, सार्स का ही बिगड़ा रूप है।

भारत बिना देरी इस्तेमाल कर सकता है टीका
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि अगर किसी टीके को अमेरिका के FDA  से मंजूरी मिल जाती है तो हम बिना देरी किए तुरंत भारत में भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। अमूमन भारत में किसी नई दवा को इलाज में लाने से पहले लंबे प्रोसेस से गुजरना होता है । सामान्य प्रोसेस में मंजूरी मिलने में 2-3 महीने भी लग जाते हैं। लेकिन कोरोना वायरस के टीके को बिना देरी मंजूरी मिलेगी। बताते चलें कि मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में अगले 21 दिनों के लिए लॉकडाउन का फैसला किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

“कबूतर” हो या “कचौड़ी”, किसी को बख्शा नहीं जाएगा!-शिवराज सिंह     |     e paper     |     लड़का और लड़की करते थे इतना प्यार ,,,,,,,,,     |     कोरोना जागरूकता के लिए एन एस एस ने किया लघु फ़िल्म का इलेक्ट्रॉनिक विमोचन     |     लॉक डाउन की उल्टी गिनती से पसोपेश में लोग     |     7 अप्रैल 2020 का राशिफल:: आज इन राशियों पर बजरंगबली हो रहे है मेहरबान     |     क्यों सिखों को हमेशा उनकी पगड़ी और दाढ़ी के कारण निशाना बनाया जाता है     |     Corona Viras: इक्वाडोर में सड़कों पर सड़ रहे हैं शव     |     मानव बम’ साबित होंगे छिपे ‘जमाती’     |     हरियाणा में 447 अतिरक्त डाक्टरों को नियुक्त किया गया      |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000