Take a fresh look at your lifestyle.
corona

कोरोना वायरस को लेकर लोगों को एक दूसरे से दूर रहने व ज्यादा से ज्यादा सावधानी बरतने की सख्त जरुरत : डा. पवन सैनी

कोरोना वायरस को लेकर लोगों को एक दूसरे से दूर रहने व ज्यादा से ज्यादा सावधानी बरतने की सख्त जरुरत : डा. पवन सैनी

बाबैन, 25 मार्च (सुरेश अरोड़ा): लाडवा के पूर्व विधायक डा. पवन सैनी ने कहा कि कोरोना वायरस से लोगों को डरने की कोई जरुरत नहीं है। उन्होंने कहाकि कोरोना वायरस को लेकर लोगों को एक दूसरे से दूर रहने व ज्यादा से ज्यादा सावधानी बरतने की स त जरुरत है क्योंकि बचाव में ही बचाव है। उन्होंने कहा कि देश में जारी लॉकडाउन के कारण आवश्यक सुविधाओं के लिए किसी भी नागरिक को कोई परेशानी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार और प्रशासन लोगों को प्रत्येक जरुरी सुविधाएं मुहैया करवाने के प्रयास मे जुटा हुआ है लेकिन लोगों को 21 दिनों तक किसी भी कीमत पर अपने घरों से बाहर नहीं निकलना होगा ताकि कोरोना वायरस की चैन को तोड़ा जा सके। उन्होंने लोगों से अपील की की वे सरकार का सहयोग करे और करोना वायरस के प्रकोप को रोकने में अपना रचनात्मक सहयोग करे।
डा. पवन सैनी आज बाबैन में देश को कोरोना वायरस से बचाव के लिए लगाए गए लॉकडाउन की सफलता के लिए अधिकारियों के साथ प्रबंधों का जायजा लेने के उपरांत पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। इस अवसर पर बाबैन के नायब तहसीलदार रुपिन्द्र ङ्क्षसह, बी.डी.पी.ओ. साहब ङ्क्षसह, थाना प्रभारी रमेश चन्द, बलबीर ङ्क्षसह, संदीप ङ्क्षसह के अलावा कई अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि सरकार कोरोना वायरस के संक्रमण की चैन को तोडऩे के लिए 21 दिन का लॉकडाउन जरुरी है। उन्होंने कहा कि लाडवा विधानसभा क्षेत्र के सभी नागरिकों को राज्य सरकार के आदेशों की कड़ाई से पालना करनी चाहिए क्योंकि यह लोगों की रक्षा करने के लिए ही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेश के नागरिकों की जरुरतों को देखते हुए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए है ताकि लोगों को हर स भव सहायता उपलब्ध करवाई जा सके। सभी बीपीएल परिवारों को अप्रैल माह का राशन मुफ्त में उपल्बध करवाया जाएगा।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्घि योजना के तहत 12 लाख 38 हजार से अधिक परिवारों के बैंक खातों में 4 हजार रुपए की दो किश्तें डाली जा चुकी या डाली जा रही है। कोरोना से ग्रसित मरीजों का इलाज सरकारी खर्चो पर होगा तथा सरकारी ही नहीं प्राईवेट अस्पतालों में उपचार का खर्च सरकार वहन करेगी। टैस्ट और मरीजों की सेवा में लगे हैल्थ वर्करों और दूसरे कर्मियों की मृत्यु होती है तो परिजनों को एक्सग्रेसिया के रूप में 10 लाख की सहायता प्रदान की जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

“कबूतर” हो या “कचौड़ी”, किसी को बख्शा नहीं जाएगा!-शिवराज सिंह     |     e paper     |     लड़का और लड़की करते थे इतना प्यार ,,,,,,,,,     |     कोरोना जागरूकता के लिए एन एस एस ने किया लघु फ़िल्म का इलेक्ट्रॉनिक विमोचन     |     लॉक डाउन की उल्टी गिनती से पसोपेश में लोग     |     7 अप्रैल 2020 का राशिफल:: आज इन राशियों पर बजरंगबली हो रहे है मेहरबान     |     क्यों सिखों को हमेशा उनकी पगड़ी और दाढ़ी के कारण निशाना बनाया जाता है     |     Corona Viras: इक्वाडोर में सड़कों पर सड़ रहे हैं शव     |     मानव बम’ साबित होंगे छिपे ‘जमाती’     |     हरियाणा में 447 अतिरक्त डाक्टरों को नियुक्त किया गया      |    

error: Don\'t Copy
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9802153000