इसे पिया जा सकता है। खाया भी जा सकता है। यह रानी फ्‍लोट है, एक फ्रूट जूस

इसे पिया जा सकता है। खाया भी जा सकता है। यह रानी फ्‍लोट है, एक फ्रूट जूस (It can be drunk. Can also be eaten. This is queen flower, a fruit juice)
जिसमें हैं फलों के असली टुकड़े!

‘इसे पियें या खायें’, क्योंकि कोका-कोला लेकर आया है भारत में अपना स्वादिष्ट फ्रूट ड्रिंक
रानी के साथ भारतीय फलों को जोड़कर ‘‘फ्रूट सर्कुलर इकोनॉमी’’ मजबूत करने का प्रयास

आप घर पर नहीं हैं और जल्दी से कुछ खाना चाहते हैं? अपने फल को पीने के साथ उसे खाना भी चाहते हैं? आज के युवा लगातार गतिशील रहते हैं और उन्हें अपनी भूख मिटाने के लिये कुछ अलग चाहिये। उनके लिये आया है रानी फ्लोट, जो कोका-कोला के वैश्विक बास्केट की बिलकुल नई पेशकश है और अब इसे भारतीय युवाओं के लिए भारतीय फलों से भारत में बनाया गया है। इसी के साथ कंपनी ने एक स्वादिष्ट और पीने के लिये तैयार स्‍नैक की पेशकश करने का कदम उठाया है।

भारत के खेतों से मंगाये गये फलों से बना रानी फ्लोट वास्‍तव में फल के रस और फलों के असली टुकड़ों का अपनी तरह का अनूठा स्वादिष्ट मिश्रण है(The queen float made from fruits sourced from the fields of India is really a unique blend of its own kind of fruit juices and real pieces of fruit.)। फलों के टुकड़ों वाले इस स्वादिष्ट पेय का मूल्य 180 एमएल के लिए 35 रू./ है और यह दो लजीज फ्‍लेवर्स में उपलब्ध हैः पीच और स्ट्रॉबेरी-बनाना। यह खासतौर पर आज के युवाओं के लिये बनाया गया है, जिन्हें फल खाने का अलग अनुभव चाहिये। रानी फ्लोट की पेशकश कोका-कोला कंपनी के बेवरेजेज पोर्टफोलियो में एक उल्‍लेखनीय संकलन भी है और यह ‘फ्रूट सर्कुलर इकॉनोमी’ पर कंपनी के फोकस पर जोर देता है, जो फल से बने पेयों को लॉन्च करने के लिये फलों की सोर्सिंग के माध्यम से किसानों की पैदावार बढ़ाने में सक्षम करती है।

लॉन्च के बारे में कोका-कोला इंडिया एवं साउथ वेस्ट एशिया के प्रेसिडेन्ट टी. कृष्णकुमार ने कहा, ‘‘हम रानी फ्लोट को भारत में लाकर उत्‍साहित हैं, यह उपभोक्ताओं को अधिक विकल्प देने और बेवरेज की श्रेणियों में उनकी अलग-अलग पसंद और स्‍वाद के अनुसार चलने की कोका-कोला की रणनीति का नवीनतम उदाहरण है। रानी फ्लोट एक सुविधाजनक ऑन-द-गो स्‍नैक है, जोकि एक अलग प्रस्‍ताव के साथ आता है- फलों के असली टुकड़ों के साथ एक फ्रूट ‍ड्रिंक। हम इस बात से और ज्‍यादा खुश हैं कि हम रानी फ्लोट के लिये स्थानीय आधार पर फल लेते हैं, जोकि फ्रूट सर्कुलर इकोनॉमी की दिशा में हमारी प्रतिबद्धता के अनुसार है। हम फलों से बने अभिनव बेवरेजेज की सूची का विस्तार जारी रखेंगे।’’

रानी रिफ्रेशमेन्ट्स के चेयरमैन अब्दुल्ला औजान ने कहा, ‘‘कई महीनों की तैयारी के बाद, कोका-कोला इंडिया और उसके उत्पादन तथा वितरण भागीदारों ने रानी फ्लोट को लॉन्च किया है और अब हम भारत को रानी ब्राण्ड के लिये एक बड़ा वैश्विक बाजार बनाने के लिये तैयार हैं। बाजार के आकार और वृद्धि की बड़ी संभावना को देखते हुए, मुझे विश्वास है कि हमारी नई भागीदारी भारत में रानी को जूस की ‘‘रानी’’ के रूप में सार्थक करेगी।’’
वर्तमान में रानी फ्लोट भारत के मेट्रो शहरों में उपलब्ध है। कोका-कोला हैदराबाद, विजयवाड़ा, गुंटूर, बेंगलुरू, मुंबई, पुणे, दिल्ली एनसीआर, चेन्नई और सरहिंद में स्थित रिलायंस रिटेल स्टोर्स के जरिये रानी फ्लोट को व्यापक उपभोक्ता आधार के लिये उपलब्ध कराएगा।

ब्राण्ड जल्‍द ही उपभोक्ताओं से जुड़ने के लिये विभिन्‍न गतिविधियां, डिजिटल और सोशल मीडिया पहलों की एक श्रृंखला शुरू करेगा। आने वाले महीनों में रानी फ्लोट और फ्‍लेवर्स की पेशकश कर अपनी रेंज का विस्‍तार करेगा।

रानी फ्लोट को वर्ष 1982 में सउदी अरब में स्थित एक व्यवसाय औजान इंडस्ट्रीज द्वारा लॉन्च किया गया था(Queen Float was launched in the year 1982 by Aujan Industries, a business based in Saudi Arabia.)। वर्ष 2011 में इसने कोका-कोला के साथ एक संयुक्त उपक्रम बनाया और रानी रिफ्रेशमेन्ट्स का जन्म हुआ, जो रानी ब्राण्ड का मालिक है।

कोका-कोला इंडिया के विषय में
कोका-कोला इंडिया देश की अग्रणी पेय कंपनियों में से एक है, जो उपभोक्ताओं के लिये स्वास्थ्यवर्द्धक, सुरक्षित, उच्च गुणवत्ता के, तरोताजा करने वाले पेय विकल्पों की पेशकश करती है। वर्ष 1993 में अपने पुनःप्रवेश के बाद से कंपनी पेय उत्पादों से उपभोक्ताओं को तरोताजा कर रही है, जैसे कोका-कोला, कोका-कोला ज़ीरो, डाइट कोक, थम्स अप, थम्स अप चार्ज्ड, थम्स अप चार्ज्ड नो शुगर, फैन्टा, लिम्का, स्प्राइट, माज़ा, वियो “फ्लेवर्ड मिल्क”, मिनट मेड रेन्ज ऑफ ज्यूसेस, मिनट मेड स्मूथी और मिनट मेड विटिंगो, हॉट और कोल्ड चाय और कॉफी विकल्‍पों की जॉर्जिया श्रृंखला, एक्वैरियस और एक्वैरियस ग्लूकोचार्ज, श्वीप्‍स, स्मार्ट वाटर, किनले और बोनएक्वा पैकेज्ड ड्रिंकिंग वाटर और किनले क्लब सोडा। कंपनी अपने खुद के बॉटलिंग परिचालन और अन्य बॉटलिंग पार्टनर्स के साथ, करीब 2.6 मिलियन रिटेल दुकानों के मजबूत नेटवर्क के माध्यम से करोड़ों उपभोक्ताओं के जीवन का हिस्सा बन चुकी है, जिसकी प्रति सेकंड 500 सर्विंग्स की दर है। इसके ब्राण्ड देश में सबसे चहेते और सबसे अधिक बिकने वाले पेयों में शुमार हैं- थम्स अप और स्प्राइट, सबसे अधिक बिकने वाले दो स्पार्कलिंग पेय हैं।

कोका-कोला इंडिया का सिस्टम 25,000 लोगों को प्रत्यक्ष और 150,000 से अधिक लोगों को अप्रत्यक्ष रोजगार देता है। भारत में कोका-कोला सिस्टम सामुदायिक पहलों के माध्यम से स्थायी समुदाय निर्मित करने में छोटा-सा योगदान दे रहा है, जैसे सपोर्ट माय स्‍कूल, वीर, परिवर्तन, और उन्नति और कंपनी पर्यावरण पर अपने द्वारा होने वाले प्रभाव को स्वयं कम करती है।

भारत में कंपनी के परिचालन और उत्पादों के सम्बंध में अधिक जानकारी के लिये कृपया www.coca-colaindia.com  और www.hindustancoca-cola.com देखें। हमें ट्विटर पर twitter.com/CocaCola_Ind पर और फेसबुक पर फॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
%d bloggers like this: