Taravadi-झगड़े में 29 दिन की बच्ची की मौत के बाद घर पर पुलिस की पी.सी.आर. तैनात

Taravadi-झगड़े में 29 दिन की बच्ची की मौत(29 day old girl dies) के बाद घर पर पुलिस की पी.सी.आर. तैनात
मामला :- एक कॉलोनी के कई लोगों और एक परिवार के बीच हुए हमले का
मृतक बच्ची के परिजनों ने तरावड़ी पुलिस पर लगाए कार्रवाई न करने के आरोप

तरावड़ी, 5 नवम्बर

बीती दो नवम्बर को कस्बा तरावड़ी के वार्ड नंबर-7 स्थित दयानगर बस्ती में एक परिवार और कॉलोनी के ही कुछ लोगों के बीच हुए झगड़े में 29 दिन की बच्ची की मौत हो जाने के बाद करनाल पुलिस प्रशासन ने मृतक बच्ची के परिजनों को पुलिस सुरक्षा मुहैया करवाई है। दो नवम्बर से लेकर अब तक भी उनके घर के सामने 24 घंटे पुलिस की पी.सी.आर. तैनात है। तरावड़ी पुलिस द्वारा करीब चार दिन बीत जाने के बाद भी कोई कार्रवाई न करने से एक तरफ जहां परिजनों को भय कर डर सता रहा हैं, वहीं परिजनों ने तरावड़ी पुलिस प्रशासन पर कार्रवाई न करने के आरोप में लगाए हैं। पुलिस की दी शिकायत में शिकायतकर्त्ता आरती सैणी ने बताया कि जब दो नवम्बर को वह एक निजी अस्पताल से अपने भाई पवन सैणी की बेटी को अस्पताल से दवाई दिलाकर वापिस आ रही थी तो कॉलोनी की ही कुछ महिलाओं ने उसे घेर लिया और उसके साथ लड़ाई-झगड़ा करने लगे। देखते  ही देखते वहां पर महिलाओं एवं अन्य शरारती युवाओं का हुजुम उमड़ गया। सभी ने मिलकर उसके साथ मारपीट की और जान से मारने की धमकी दी। इस हमले में उसकी गोद में से बच्ची नीचे सड़क पर गिर गई। कुछ देर बाद 29 दिन की बच्ची ने दम तोड़ दिया। हमले में बच्ची की मौत हो जाने के बाद जब मृतक बच्ची के परिजन बच्ची को दफनाकर वापिस घर आ गए थे तब भी कॉलोनी के लोगों  ने घर में तोड़फोड़ की और लाठी डंडों से हमला किया। इस पूरे हमले की वारदात घर पर लगे कैमरे में कैद हो गई। मृतक बच्ची के पिता पवन सैणी ने आरोप लगाया कि तीन नवम्बर को वह तरावड़ी पुलिस प्रशासन को शिकायत देकर आए थे, लेकिन आज तक भी पुलिस प्रशासन की तरफ से कोई कार्रवाई नही की गई हैं। इसके बाद जब करनाल पुलिस को सूचित किया गया तो उनके घर  के पास पुलिस की पी.सी.आर. की तो तैनाती कर दी गई, लेकिन हमलावरों के खिलाफ आज तक भी कोई कार्रवाई नही हुई।

बाक्स
बच्ची की मौत के बाद सहम गए परिजन :- लड़ाई-झगड़े की वारदात में 29 दिन की बच्ची की मौत हो जाने के बाद बच्ची के परिजन सहम गए। बच्ची के पिता पवन सैणी और माता अनुराधा का रो-रो कर बुरा हाल है। उन्होंने बताया कि उसकी एक ही इकलौती बेटी थी, हमलावरों की वजह से जो आज इस दुनिया में नही है। उन्होंने पुलिस प्रशासन से गुहार लगाई है कि हमलावरों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई  की जाए।

वर्जन
इस मामले की शिकायत मिली थी। जिसके बाद तरावड़ी पुलिस को मौके पर भी भेजा गया था। फिलहाल इस मामले की   जांच की जा रही है।
– इंस्पैक्टर जसमेर सिंह।
– थाना प्रभारी तरावड़ी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
%d bloggers like this: