big breking मनोहर लाल के कार्यक्रम में एक शख्स ने अपने दोनों पैरों की नसें काटी

रोहतक में सीएम मनोहर लाल के कार्यक्रम

में एक शख्स ने अपने दोनों पैरों की नसें काटी

कार्यक्रम मे सुसाइड नोट भी साथ लेकर आया था,

पुराने मामले में कार्रवाई न होने पर किया ऐसा

In Manohar Lal’s program, a man cut the nerves of both his legs

रोहतक(अटल हिन्द ब्यूरो )l रोहतक में गुरुवार को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष की ताजपोशी के दौरान सीएम और अन्य मंत्रियों की मौजूदगी में एक

शख्स ने अपने दोनों पैरों की नसें काट ली। उसके पास सुसाइड नोट भी था। इस शख्स ने करीब एक साल पहले भी इसी तरह रोहतक

एसपी दफ्तर के बाहर दोनों पैरों की नसें काटकर सुसाइड करने का प्रयास किया था। दरअसल इसने पुलिसकर्मियों पर प्रताड़ित करने के

आरोप लगाए थे। उसी मामले में कोई कार्रवाई न होने पर अब फिर से सीएम के कार्यक्रम में ऐसा किया है। नसें काटकर सरेआम भ्रष्टाचार

के आरोप लगाए।

 

पिछले सुसाइड अटेंप्ट के पीछे ये था मामला

रोहतक के कंसाला के रहने वाले राजवीर पुत्र हवा सिंह का नशा मुक्ति केंद्र था। कुछ लोगों ने शिकायत की थी कि इस केंद्र में नशा करवाया

जाता है। पुलिस ने कुछ लोगों की शिकायत पर मामला दर्ज किया था। राजवीर का आरोप है था कि इस मामले को खारिज करवाने के लिए

उसने पुलिसकर्मी को पैसे दिए थे। इसके बाद भी मामला खारिज नहीं हुआ। इससे उसका काम चोपट हो गया। यह मामला चार-पांच साल

से चलता आ रहा था। इससे तंग आकर एक वर्ष पहले राजवीर ने रोहतक एसपी दफ्तर के बाहर अपने दोनों पैरों की नसें काट ली थी।

जिससे वह बुरी तरह से लहूलुहान हो गया था।

मामले में कार्रवाई न होने पर अब काटी नस

पुराने मामले में कार्रवाई न होने पर अब फिर से गुरुवार को राजवीर ने सीएम मनोहर लाल खट्टर व अन्य भाजपा नेताओं के कार्यक्रम में

अपने दोनों पैरों की नसें काट ली। उसका कहना था कि वह सुसाइड करना चाहता है। उसका कोई काम नहीं किया गया। उसकी शिकायत

पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। राजवीर ने दो डीएसपी और एसडीएम पर आरोप लगाए हैं।

 

चल रहा था भाषण,दूसरी तरफ सुसाइड अटेम्पट

एक तरफ तो नए प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ की ताजपोशी के दौरान भाजपा कार्यालय में कार्यक्रम चल रहा था और पूर्व प्रदेशाध्यक्ष

सुभाष बराला भाषण दे रहे थे। इसी दौरान राजवीर ने दोनों पैरों की नसें काट ली। वह आवाज लगा-लागकर लोगों को इकट्ठा करने लगा और

भ्रष्टाचार के आरोप लगाने लगा। तभी पुलिस ने उसे पकड़ लिया। काफी देर तक पुलिसकर्मी एंबुलेंस का इंतजार करते रहे लेकिन जब

एंबुलेंस नहीं दिखाई दी तो वे पुलिस पीसीआर में बैठाकर राजवीर को रोहतक पीजीआई ले गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Our COVID-19 India Official Data
Translate »
error: Content is protected !! Contact ATAL HIND for more Info.
%d bloggers like this: