Atal hind

Category : कविताएं

उत्तर प्रदेश कविताएं हिमाचल प्रदेश

सत्या पांडेय जी लिखती है एक रचना वाराणसी से ‘जिन्दगी,

Dilaram Bhardwaj
जिन्दगी जिंदगी एक पहेली है सुख दुख की सहेली है ।। कभी सुख की भरी है कभी दुखों से भरी है।। कोई इंतजार में रोया...
कविताएं झारखंड मध्य प्रदेश हिमाचल प्रदेश

अनीता निधि लिखती है एक कविता झारखंड से

Dilaram Bhardwaj
—-  प्यास ———– ज्यों धरा है प्यासी ताके अंबर की ओर ओ बदरा बरसो झम झमा झम धरा का अकुलाये मन। त्यों ही मेरा भी...
EUROPE अंतराष्ट्रीय अमेरिका अम्बाला अरुणाचल प्रदेश असम आंध्र प्रदेश आस्ट्रेलिया इंग्लैंड उड़ीसा उत्तर प्रदेश उत्तराखंड एक्सक्लूसिव ओडिशा कनाडा करनाल कर्नाटक कविताएं किस्से कहानियां/कविताएं/चुटकलें कुरुक्षेत्र केरल कैथल क्राइम खेल गुजरात गुरुग्राम गोवा चण्डीगढ़  चरखी दादरी छत्तीसगढ़ जम्मू और कश्मीर जींद जॉब झज्जर झारखंड टॉप न्यूज़ तमिलनाडु तेलंगाना त्रिपुरा दिल्ली नागालैंड नेपाल पंचकुला पंजाब पलवल पश्चिम बंगाल पाकिस्तान पानीपत फतेहाबाद फरीदाबाद बिहार भिवानी मणिपुर मध्य प्रदेश मनोरंजन महाराष्ट्र महेंद्रगढ़ मिजोरम मेघालय मेवात यमुनानगर राजनीति राजस्थान राज्य राशिफल राष्ट्रीय रेवाड़ी रोहतक लाइफस्टाइल लेख वायरल फोटो वायरल विडियो विचार /लेख /साक्षात्कार व्यापार शिक्षा साहित्य/संस्कृति सिक्किम सिरसा सोनीपत हरियाणा हिमाचल प्रदेश हिसार हेल्थ

today news, news haryana , news live, news india , news in hindi , google news, brekingnews , latest news,

admin
today news news haryana news live news india news in hindi google news brekingnews latest news...
कविताएं राजस्थान हरियाणा हिमाचल प्रदेश

वरिष्ठ कवि व पत्रकार दिलाराम भारद्वाज ‘दिल’ लिखते है एक रचना हिमाचल प्रदेश से

Dilaram Bhardwaj
:         आरजू बिना आरजू का कोई इंसा नहीं होता । किसी को चाहना कोई गुनाह नहीं होता । मिलते है दो दिल...
उत्तराखंड कविताएं राष्ट्रीय हरियाणा हिमाचल प्रदेश

कवि एवं पत्रकार दिलाराम भारद्वाज ‘दिल लिखते है एक रचना हिमाचल प्रदेश से -प्लास्टिक

Dilaram Bhardwaj
प्लास्टिक प्लास्टिक मेरा नाम है , प्रदूषण मेरा काम है । जमीन बंजर करता हूँ , सड़ता न में गलता हूँ । पानी में बह...
अमेरिका कविताएं हिमाचल प्रदेश

वरिष्ट कवि एवं पत्रकार दिलाराम भारद्वाज ‘ दिल , लिखते है एक रचना हिमाचल प्रदेश से ‘ दूर रहना ,

Dilaram Bhardwaj
दूर रहना दूर रहना है मुनासिब शातिर और दगाबाज से । बेबसी मिलती रहेगीसदा  दिखावे के रिवाज से। भेद मन का न बताना शैतान व...
कविताएं राष्ट्रीय हिमाचल प्रदेश

साहित्यकार दिलाराम भारद्वाज ‘ दिल , की कलम से एक रचना

Dilaram Bhardwaj
जीत जाएंगे हम हर जंग जीत ही जाएंगे हम । मंजर में पीठ न दिखाएंगे हम। हो चाहे वतन का दुश्मन य़ा महामारी , आते...
कविताएं

आपके दिल के तारों को छेड़ देगी…छू जाएगी आपके अंतर्मन को…

Sarvekash Aggarwal
भ्रातृत्व दिवस श्याम के द्वारा लिखी गयी कविता…आपके दिल के तारों को छेड़ देगी…छू जाएगी आपके अंतर्मन को… Fraternity Day poem written by Shyam …...
URL