AtalHind

Category : लेख

टॉप न्यूज़राजनीतिलेखविचार /लेख /साक्षात्कार

BJP NEWS-आरएसएस का  “अहंकारी नेताओं” के बारे में विलाप करना पाखंड और दोमुंहापन के अलावा और कुछ नहीं है. 

editor
बीजेपी और आरएसएस एक दूसरे से परस्पर लाभकारी रिश्ते से जुड़े हैं. भागवत की टिप्पणियां कमजोर मोदी से ज्यादा शक्ति प्राप्त करने की एक चाल...
टॉप न्यूज़धर्मराजनीतिराष्ट्रीयलेखविचार /लेख /साक्षात्कार

Ayodhya NEWS-अयोध्या में बीजेपी की हार ने हिंदुत्ववादियों के स्वार्थों को दी गहरी चोट से स्वयंभू हिंदुत्ववादी बौखलाए हुए क्यों हैं?

editor
फ़ैज़ाबाद लोकसभा सीट पर भाजपा की हार के बाद अयोध्यावासियों के आर्थिक बहिष्कार के आह्वान से लेकर वर्तमान सांसद की मृत्युकामना तक जिस तरह अभिव्यक्ति...
टॉप न्यूज़राजनीतिराष्ट्रीयलेखविचार /लेख /साक्षात्कार

INDIA NEWS-भारतीय चुनाव आयोग पूरी निर्लज्जता और कायरता से व्यवहार करने के बावजूद, सत्तारूढ़ दल(बीजेपी  )को बहुमत दिला पाने में विफल रहा.

editor
 इस चुनाव ने निश्चय ही लोकतंत्र को सशक्त-सक्रिय किया है पर उसकी परवाह न करने वालों को फिर सत्ता में बने रहने का अवसर देकर...
टॉप न्यूज़राजनीतिलेखविचार /लेख /साक्षात्कार

Narendra Modi-आरएसएस को और क्या चाहिए?  मोदी जिसे अत्यंत खुले और फूहड़ तरीके से कह रहे थे, वह क्या आरएसएस का ही विचार नहीं है?

editor
नरेंद्र मोदी आरएसएस के असली ‘सपूत’ हैं और संघ मोदी का सबसे बड़ा लाभार्थी मोहन भागवत ने अपने हालिया प्रवचन में कहा कि चुनाव में...
टॉप न्यूज़लेखविचार /लेख /साक्षात्कार

Ayodhya- अयोध्या में बीजेपी हारने के बाद अब हिंदुओं को कौन कलंकित कर रहा है?

editor
अयोध्या में ‘हार’: अब हिंदुओं को कौन कलंकित कर रहा है? मोदी चुनाव बड़ी मुश्किल से जीते। बड़े जोर-शोर से दावा किया गया था कि...
टॉप न्यूज़राजनीतिराष्ट्रीयलेखविचार /लेख /साक्षात्कार

BJP NEWS-अरविन्द केजरीवाल ने तोड़ दिया बीजेपी और योगी आदित्यनाथ का घमंड

editor
क्या UP में BJP को केजरीवाल ने हराया?     BY—-रमा लक्ष्मी एक राजनेता हैं, जिन्होंने इस चुनाव में उत्तर प्रदेश में नरेंद्र मोदी की...
अंतराष्ट्रीयराजनीतिलेखविचार /लेख /साक्षात्कार

Mexico NEWS-मैक्सिको के ऐतिहासिक चुनाव के बारे में आपको जो कुछ जानना चाहिए वह सब यहां है

editor
2 जून को मैक्सिको के लोग अपने अगले राष्ट्रपति और स्थानीय अधिकारियों का चुनाव करने के लिए मतदान किया जिनका कार्यकाल 2024-2030 तक होगा। BY–ज़ो...
टॉप न्यूज़राजनीतिलेखविचार /लेख /साक्षात्कार

चुनावी चंदे और धंधे के बीच कितना लेन-देन है. चंदा भी हज़ारों करोड़ों में दिया-लिया गया है

editor
BY–अशोक वाजपेयी पिछले कुछ दिनों से आम चुनाव की बड़ी गहमागहमी है और उसके चलते कई बातें सामने आती रही है जिन पर पहले ध्यान...
टॉप न्यूज़राष्ट्रीयलेखविचार /लेख /साक्षात्कार

Narendra Modi-कौन दुष्ट है जो उनकी मौन साधना में बार-बार व्यवधान डाल रहा है ये तो बहुत ज्यादती है, नाइंसाफी है।

editor
मोदी जी, ध्यान में बैठे हैं, लेकिन उनका ध्यान बार–बार टूट रहा है। कोई तो दुष्ट है जो उनकी मौन साधना में बार-बार व्यवधान डाल...
टॉप न्यूज़राष्ट्रीयलेखविचार /लेख /साक्षात्कार

INDIA NEWS-भारत में जब गरीबी कम हो गई है तो भुखमरी कैसे बढ़ सकती है ?’

editor
सरकारी पद्धति का मतलब यही है कि समय के साथ-साथ ग़रीबी रेखा को बार-बार कम करके आंका जाता है। अगर किसी परीक्षा में पास होने...
URL