Gurmeet राम रहीम को झटका पैरोल की अर्जी एक बार फिर खारिज

जेल में बंद गुरमीत राम रहीम को झटका पैरोल की अर्जी एक बार फिर खारिज मां की बीमारी का हवाला देकर मांगा पैरोल

 

 

Shocked to prisoner Gurmeet Ram Rahim, parole petition once again sought parole citing illness of rejected mother

HARYANA-अनिल विज को पावरफुल मंत्री बनाना भाजपा की रणनीति का हिस्सा

रोहतक(Atal Hind) डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम का जेल की सलाखों से बाहर आने का सपना एक बार फिर टूट गया है। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख की मां नसीब कौर ने बेटे की पैरोल के लिए आवेदन किया था,जिसमें उन्होंने अपनी बीमारी का हवाला देते हुए पैरोल देने की मांग की थी। सुनारिया जेल प्रशासन से होते हुए पैरोल की अर्जी सरकार तक पहुंची। सरकार ने शुक्रवार को जेल प्रशासन की ओर से आए राम रहीम की मां के आवेदन को खारिज कर दिया है। इससे पहले भी दो बार उसकी पैरोल की अर्जी खारिज की जा चुकी है।

Kaithal हुआ कोरोना फ्री, दोनों केस हुए नेगेटिव

 

इस बार उसने अपनी मां की बीमारी का हवाला देकर पैरोल मांगा था। उसने इस बार इमरजेंसी पैरोल मांगी थी। बता दें कि गुरमीत राम रहीम रोहतक की सुनारिया जेल में 25 अगस्त 2017 से बंद है । 28 अगस्त 2017 को जेल में ही सीबीआई की विशेष अदालत लगाकर राम रहीम को साध्वी दुष्कर्म मामले में 20 साल की सजा सुनाई थी । इसके बाद उसे पत्रकार हत्या के मामले में भी उम्रकैद की सजा सुनाइ्ईगई थी। गुरमीत राम रहीम ने मां की बीमारी का हवाला देकर इमरजेंसी पैरोल मांगी थी।

 

INDIA-शर्मनाक :..डॉक्‍टर ने अकेले आधी रात कब्र खोदकर साथी डाक्टर का शव दफनाया

बताया जाता है कि उसने पैराल की अर्जी में कहा था कि उसकी माता की अधिक तबीयत खराब है और इस कारण उसे इमरजेंसी पैरोल दी जाए। उसने यह अर्जी सुनारिया जेल प्रशासन को दी थी। प्रशासन और सुनारिया जेल प्रशासन ने उसकी पैरोल की अर्जी शुक्रवार को खारिज कर दी। प्रशासन ने कोरोना वायरस को लेकर लागू किए गए लॉक डाउन में भीड़ इक_ी होने का अंदेशा जताते हुए राम रहीम की अर्जी को अस्वीकार कर दिया। इस तरह डेरा सच्चा सौदा प्रमुख को फिर निराशा मिली है।

 

 

बता दें कि गुरमीत राम रहीम इससे पहले भी दो बार पैरोल की अर्जी लगा चुका है। दोनों बार उसे निराशा हाथ लगी और उन अर्जियों को खारिज कर दिया गया। गुरमीत ने एक बार मां की बीमारी का हवाला देकर पैरोल की मांग की थी। इसके खारिज होने के बाद उसने खेती-बाड़ी करने के लिए पैरोल मांगी थी।

 

 

इसे भी खारिज कर दिया गया था। बता दें कि राम रहीम तीन सप्ताह की पैरोल चाहता था। उसकी मां नसीब कौर ने अपनी बीमारी का हवाला देते हुए पैरोल के लिए एक सप्ताह पहले आवेदन किया था। लेकिन सरकार डेरा प्रमुख को पैरोल देकर कानून व्यवस्था के मद्देनजर कोई मुसीबत मोल नहीं लेना चाहती। वर्तमान में कोरोना संकट के चलते राम रहीम को पैरोल देना और भी बड़ी मुसीबत बन सकता है।
सरकार ने सुरक्षा एजेंसियों के इनपुट व अन्य सभी पहलुओं को देखते हुए उसकी पैरोल की अर्जी खारिज कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Our COVID-19 India Official Data
Translate »
error: Content is protected !! Contact ATAL HIND for more Info.
%d bloggers like this: